• shareIcon

स्लिम और फिट दिखना है, तो रोज करें 'बैटल रोप' वर्कआउट, ये हैं फायदे

एक्सरसाइज और फिटनेस By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 21, 2018
स्लिम और फिट दिखना है, तो रोज करें 'बैटल रोप' वर्कआउट, ये हैं फायदे

पिछले कुछ समय में बैटल रोप एक्सरसाइज तेजी से पॉपुलर हुआ है क्योंकि इसे तमाम बॉलीवुड और हॉलीवुड सेलेब्स भी फिट रहने के लिए करते हैं। आइए आपको बताते हैं बैटल रोप एक्सरसाइज के बारे में।

आजकल हर कोई स्लिम और फिट दिखना चाहता है। इसके लिए लोग जिम जाते हैं, एक्सरसाइज करते हैं, खेल खेलते हैं और कई बार डाइटिंग, पिल्स आदि का भी सहारा लेते हैं। लेकिन कुछ ऐसी एक्सरसाइज भी हैं, जिनको करने से आप फिट भी रहते हैं और आपको मजा भी खूब आता है। पिछले कुछ समय में बैटल रोप एक्सरसाइज तेजी से पॉपुलर हुआ है क्योंकि इसे तमाम बॉलीवुड और हॉलीवुड सेलेब्स भी फिट रहने के लिए करते हैं। आइए आपको बताते हैं बैटल रोप एक्सरसाइज के बारे में।

क्यों फायदेमंद है बैटल रोप एक्सरसाइज

बैटल रोप वर्कआउट आपकी बॉडी और मसल्स को स्ट्रॉन्ग बनाता है और बॉडी को टोन करता है। इस एक्सरसाइज की मदद से कम समय में ज्यादा कैलोरी बर्न की जा सकती है। इसके अलावा ये एक्सरसाइज हड्डियों को भी मजबूत बनाती है और कई तरह के हड्डी रोगों के खतरे को कम करती है।

इसे भी पढ़ें:- क्या है जिम जाने की सही उम्र? जानें एक्सरपर्ट की राय

कैसे करते हैं बैटल रोप एक्सरसाइज

बैटल रोप एक्सरसाइज की खास बात ये है कि इसे जिम में या घर पर कहीं भी किया जा सकता है। इसके अलावा ये बैठकर की जाने वाली आसान एक्सरसाइज है। इस एक्सरसाइज में रस्सियों की मदद से लचीली वेव्स बनाई जाती हैं। इस दौरान घुटनों को इस तरह मोड़ा जाता है कि शरीर का भार एड़ियों पर आए। यदि खड़े होकर इस एक्सरसाइज को कर रहे हैं तो ध्यान रखें कि शरीर आगे की ओर थोड़ा झुका कर रखें। भूलकर भी पीछे की ओर ना झुकें, नहीं तो चोट लगने के साथ बैक में झटका आ सकता है और पीठदर्द की शिकायत हो सकती है।

1 मिनट में बर्न करें 10 कैलोरी

रस्सियों के सहारे किया जाने वाला यह वर्कआउट एरोबिक ऐक्टिविटी की श्रेणी में आता है। इससे जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है। इसे हाई इंटेंसिटी ट्रेनिंग की श्रेणी में रखा जाता है, क्योंकि इसमें प्रति मिनट के हिसाब से 10 कैलरीज बर्न की जा सकती है। इस व्यायाम में मांसपेशियों को अलग-अलग तरीकों से ट्रेन किया जाता है। 50-100 फीट लंबी व 2.5 इंच चौड़ी ये रस्सियां व्यक्ति के हृदय की कार्य क्षमता को भी बढ़ाती हैं।

इसे भी पढ़ें:- कहीं भी कर सकते हैं पुश अप्स, बस जान लें ये सही तरीका

घर पर भी आसानी से कर सकते हैं ये वर्कआउट

वेट लिफ्टिंग व ट्रेडमिल के लिए व्यक्ति का जिम जाना या घर में ही एक्सरसाइज़ करना ज़रूरी होता है। कहीं बाहर जाना हो तो उतने दिनों की प्रैक्टिस छूट भी जाती है, जबकि इसमें ऐसा नहीं है। इसे जिम में प्रोफेशनल तरीके से करने के अलावा रस्सी को आप अपने साथ कहीं भी आसानी से लेकर जा सकते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Sports & Fitness in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।