• shareIcon

बालों की समस्याओं में फायदेमंद हैं तुलसी की पत्तियां, झड़ते, सफेद और रूखे बालों को करेंगी 3 वॉश में ठीक

बालों की देखभाल By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 09, 2019
बालों की समस्याओं में फायदेमंद हैं तुलसी की पत्तियां, झड़ते, सफेद और रूखे बालों को करेंगी 3 वॉश में ठीक

झड़ते-टूटते बालों, सफेद बालों, डैंड्रफ और रूखे बालों की समस्या से परेशान हैं, तो तुलसी की पत्तियां आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकती हैं। तुलसी की पत्तियां आयुर्वेदिक औषधि मानी जाती हैं। जानें बालों की समस्याओं में तुलसी की पत्तियों का प्रयोग आप कैसे

तुलसी के पौधे को भारत में पवित्र पौधों में गिना जाता है। आयुर्वेद में तुलसी की पत्तियों के ढेर सारे फायदे बताए गए हैं। एक अनुमान के मुताबिक इंसान तुलसी के पौधों का प्रयोग जड़ी-बूटी के रूप में 5000 लगभग 5000 साल से कर रहा है। तुलसी की पत्तियों में कई एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स होते हैं, जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं और कई रोगों से शरीर की रक्षा करते हैं। इसके अलावा तुलसी की पत्तियां बालों और त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद मानी जाती हैं।

अगर आप टूटते-झड़ते और सफेद बालों की समस्या से परेशान हैं, तो तुलसी की पत्तियां आपके बहुत काम आ सकती हैं। तुलसी की पत्तियों के प्रयोग से आपके बालों का झड़ना बंद हो जाएगा और बाल काले और मजबूत भी बनेंगे। आइए आपको बताते हैं कैसे करना है तुलसी की पत्तियों का प्रयोग।

डैंड्रफ की समस्या में तुलसी की पत्तियां (Tulsi Leaves for Dandruff)

अक्सर सिर की त्वचा में नमी की कमी हो जाने पर डैंड्रफ (रूसी) की समस्या हो जाती है। डैंड्रफ से निजात पाने के लिए आप तुलसी की पत्तियों का प्रयोग आसानी से कर सकते हैं। तुलसी में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, इसलिए इसके प्रयोग से स्कैल्प स्वस्थ रहता है। 15-20 तुलसी की पत्तियां लें और इन्हें अच्छी तरह धोकर थोड़े से पानी के साथ पीस लें। अब इस पेस्ट को अपने स्कैल्प पर लगाकर 30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर सिर को ठंडे पानी से धो लें। सप्ताह में 2 बार के प्रयोग से आपका डैंड्रफ खत्म हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें:- 3 स्टेप्स में जानें बालों की देखभाल का सही तरीका, टूटते-झड़ते बालों से मिलेगा छुटकारा

रूखे बालों को ठीक करेंगी तुलसी की पत्तियां (Tulsi Leaves for Frizzy Hair)

रूखापन बालों की एक आम समस्या है। आजकल बाहर की धूल-मिट्टी और प्रदूषण के कारण बाल थोड़ी देर में ही रूखे और बेजान दिखने लगते हैं। रूखापन दूर करने के लिए तुलसी की पत्तियों को पीसकर इसका 1 चम्मच रस निकाल लें। अब रात में सोने से पहले 1 चम्मच नारियल के तेल में 1 चम्मच तुलसी की पत्तियों का रस मिलाएं और रात में सोने से पहले सिर पर अच्छी तरह लगाकर मसाज करें। इससे सिर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा। सुबह बालों को माइल्ड शैंपू से धो लें। आपके बाल सिल्की हो जाएंगे और बालों की चमक बढ़ जाएगी।

टूटते और झड़ते बालों की समस्या (Tulsi Leaves for Hair Fall and Hair Breakage)

गलत खानपान और प्रदूषण के कारण आजकल बालों के झड़ने और टूटने की समस्या बहुत अधिक बढ़ गई है। कई बार अनुवांशिक कारणों से भी बाल कम उम्र में ही झड़ने लगते हैं। तुलसी की पत्तियां इस समस्या को दूर करने में भी आपकी मदद करती हैं। इसके लिए आप ऊपर बताए गए तरीके से तुलसी की पत्तियों का रस निकालें। विटामिन ई का कैप्सूल तोड़कर इस रस में मिलाएं और रात में सोने से पहले इसे सिर पर लगाएं। सुबह उठने के बाद आयुर्वेदिक शैंपू से बालों को अच्छी तरह धो लें। सप्ताह में 3 दिन ऐसा करें। आपको पहले सप्ताह से ही फर्क दिखने लगेगा।

इसे भी पढ़ें:- बालों को बनाना है घने और स्वस्थ, तो अपनाएं स्टाइलिस्ट के बताए ये 5 टिप्स

सफेद बालों की समस्या (Tulsi Leaves for Grey Hair)

अगर बाल या दाढ़ी जल्दी सफेद होने लगे उम्र से पहले ही सफेद हो जाएं, तो आप जवानी में ही बूढ़े लगने लगते हैं। इसलिए सफेद बालों को काला और घना बनाने के लिए आप तुलसी का प्रयोग कर सकते हैं। सफेद बालों को काला करने के लिए आप सूखे आंवले और तुलसी की पत्तियां लें। सूखे आंवलों को रात में 1/4 कप पानी में भिगोकर रख दें। सुबह इन भीगे आंवलों को निकाल लें और 12-15 तुलसी की ताजी पत्तियों को इनके साथ मिलाकर अच्छी तरह पीस लें। अब इस पेस्ट को सफेदा बालों पर लगाएं और 30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर बालों को धो लें। 3-4 बार के प्रयोग से आपको बेहतर परिणाम दिखने लगेंगे। इसके साथ ही अपने आहार में खट्टे प्राकृतिक आहार जैसे- मौसमी, आंवला, संतरा, अंगूर, स्ट्रॉबेरीज आदि शामिल करें। खट्टे फलों में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो बालों को स्वस्थ और काले रखते हैं।

Read more articles on Hair Care in Hindi


 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।