महंगी डाइट और भारी भरकम एक्सरसाइज को कहें 'ना', वेट लॉस के लिए अब ट्राई करें ये सस्ता आयुर्वेदिक नुस्खा

Updated at: Aug 13, 2020
महंगी डाइट और भारी भरकम एक्सरसाइज को कहें 'ना', वेट लॉस के लिए अब ट्राई करें ये सस्ता आयुर्वेदिक नुस्खा

गुग्गुल एक जड़ी बूटी है, जिसका उपयोग लंबे समय से विभिन्न आयुर्वेदिक दवाओं में किया जाता है। पर आइए वजन घटाने को लेकर इसके बड़े फायदों को जानते हैं।

Pallavi Kumari
वज़न प्रबंधनWritten by: Pallavi KumariPublished at: Aug 13, 2020

बैली फैट घटाने को लेकर अक्सर लोग बहुत परेशान रहते हैं। ऐसा इसलिए नहीं है क्योंकि मोटा पेट देखने में गंदा लगता है, बल्कि ये स्वास्थ्य जुड़ी अन्य परेशानियों को धीमे-धीमे बढ़ाता जाता है। जैसे कि मोटापा के कारण गतिहीन जीवन जीने वालों में आसानी से डायबिटीज और ब्लड प्रेशर से जुड़ी परेशानियां बढ़ने लगती हैं। साथ ही ये बढ़ते हुए कोलेस्ट्रॉल और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी बढ़ाने लगता है। तो कुल मिलाकर समझा जाए, तो मोटापा कई बीमारियों को अकेला घर है। ऐसे में अगर आप महंगी डाइट और भारी भरकम एक्सरसाइज को अपना चुकें हैं और इससे उब गए हैं, तो आपको एक बार आयुर्वेद (Ayurvedic remedies to reduce belly fat) की मदद लेनी चाहिए।  

insideweightmanagement

चिकित्सा के प्राचीन विज्ञान, आयुर्वेद में कुछ अद्भुत हर्बल उपचारों का सुझाव दिया गया है, जो सिर्फ फैट बर्न करने में नहीं मदद करते बल्कि उनके साथ ही इससे जुड़ी तमाम बीमारियों के खतरे को भी कम करते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, मोटापा वसा ऊतक (Fat tissues) और चयापचय का विकार है। इस स्थिति में, फैट टिशू संख्या में वृद्धि करते हैं और पाचन तंत्र के सभी चैनलों को बॉल्क करते हैं, जिससे आगे वजन बढ़ता ही जाता है। आयुर्वेद कुछ हर्बल पेय का सुझाव देता है जो पेट की चर्बी को काटने में मदद करते हैं और गुग्गुल (health benefits of Indian bdellium) एक ऐसा ही औषधी है।

इसे भी पढ़ें : वॉटर फास्टिंग बनी वजन घटाने का नया ट्रेंड! पढ़ें वजन घटाने में कैसे फायदेमंद है ये फास्टिंग, ध्यान रखें 5 बात

वेट लॉस के लिए गुग्गुल (guggul for weight loss)

गुग्गुल वृक्ष के किसी भी हिस्से को तोड़ने से उसमें से एक प्रकार की सुगन्ध निकलता है। इस वृक्ष से प्राप्त गोंद को ही गुग्गुलु कहते हैं। गुग्गुल गर्म तासिर का और कड़वा होता है। साथ ही इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं। प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि गुग्गुल इन्हीं गुणों के कारण मुंहासे, एक्जिमा, सोरायसिस और गठिया के इलाज में मदद कर सकता है। साथ ही इसका उपयोग वजन घटाने को बढ़ावा देने, हाइपोथायरायडिज्म का इलाज करने और कोलेस्ट्रॉल और ब्लड के स्तर का प्रबंधन करने के लिए भी किया जाता है। बात अगर सिर्फ वेट लॉस के लिए गुग्गुल के इस्तेमाल की करें, तो ये कई मायनों में फैट बर्न करने में हमारी मदद कर सकता है। साल 2008 में, जॉर्जिया विश्वविद्यालय में किए गए अध्ययन के मुताबिक, गुग्गुलस्टेरोन कुछ प्रकार की फैट सेल्स में लिपोलिसिस (Lipolysis) (फैट सेल्स का टूटना) और एपोप्टोसिस (Apoptosis) को ट्रिगर करने में सक्षम पाया गया। वहीं वेट लॉस से जुड़े इसके अन्य फायदे भी हैं। जैसे कि

insidegugul

1. मेटाबॉलिज्म को ठीक करता है गुग्गुल

खान-पान में असंतुलन होने पर एसिडिटी हो जाता है और फिर खट्टी डकार आने लगती है। फिर कब्ज के कारण मेटाबॉलिज्म भी खराब हो जाता है, जिससे वजन घटाने में परेशानी आती है। ऐसे में  गुग्गुल आपकी मदद कर सकता है। इसके लिए नीम, परवल का पत्ता, त्रिफला तथा गुग्गुल को पीस कर रख लें और गर्म पानी के साथ नियमित रूप से इसका सेवन करें। ये अम्लपित्त रोग या खट्टी डकार से राहत दिलाएगी और साथ में पेट में कब्ज बनने की परेशानी को दूर करेगी।

2. फैट बर्न करने के लिए एक साथ लें गुग्गुल और शहद

गुग्गुलु को सुबह शाम 15 दिनों तक शहद के साथ सेवन कराने से मोटापा तेजी से घटता है। ऐसा इसलिए क्योंकि गुग्गल गर्म तासीर वाला होता है और इसका नियमित सेवन से करने से इसकी गर्माहट से फैट पिघलने लगता है। इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना बस गुग्गुल को पीस कर रखें और सुबह और शाम खाली पेट शहद के साथ मिला कर एक चमच ले लें।

insideguggal

इसे भी पढ़ें : बैली फैट कंट्रोल करने में नाकाम हो रही है आपकी सारी ट्रिक? ट्राई करें अंडे से जुड़ा ये जबरदस्त वेट लॉस डाइट

3. भूख नियंत्रित करने वाले हार्मोंस के लिए फायदेमंद

गुग्गुल की मदद से वजन घटाने को लेकर चूहे पर किए गए अध्ययन में पाया गया कि गुग्गुल का भूख नियंत्रित करने वाले हार्मोंस घ्रेलिन (ghrelin) और लेप्टिन (leptin) पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि ये प्रभाव मनुष्यों पर लागू होंगे या नहीं। पर मोटापे से ग्रस्त 58 लोगों में इसे लेकर अध्ययन किया गया जिसमें बताया गया किया कि गुग्गुल के इस्तेमाल से औसतन 5 पाउंड (2.25 किलोग्राम) अतिरिक्त वजन घटाने में मदद मिली। इसी तरह से कुछ अध्ययनों से पता चला है कि गुग्गुल के अर्क वाले हर्बल सप्लीमेंट वजन घटाने को बढ़ावा देकर और त्वचा की मोटाई और शरीर की परिधि दोनों को कम करके मोटापे के इलाज में मदद कर सकते हैं।

गौरतलब है कि गुग्गुल का पौधे में स्टेरोल होता है, जिसे गुग्गुलस्टेरोन के रूप में जाना जाता है। इससे शरीर के चयापचय को उत्तेजित करके वजन घटाने को बढ़ावा देने की इस्तेमाल किया जाता रहा है। पर इसके अलावा, यह एक प्राकृतिक कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाली जड़ी बूटी के रूप में भी जाना जाता है। इसलिए अगर आप वजन घटाने के साथ अपने कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखना चाहते हैं, तो रोज सुबह गुग्गुल चाय जरूर पिएं।

Read more articles on Weight-Loss in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK