• shareIcon

प्रियंका चोपड़ा ने अस्थमा के बाद भी पी सिगरेट तो मचा बवाल, अस्थमा रोगी के लिए क्यों खतरनाक है सिगरेट?

अन्य़ बीमारियां By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 22, 2019
प्रियंका चोपड़ा ने अस्थमा के बाद भी पी सिगरेट तो मचा बवाल, अस्थमा रोगी के लिए क्यों खतरनाक है सिगरेट?

प्रियंका चोपड़ा की सिगरेट पीती हुई तस्वीर पर बवाल मचा हुआ है क्योंकि पिछले साल उन्होंने दिवाली के समय खुद को अस्थमा का मरीज बताया था। जानें अस्थमा में सिगरेट पीना (धूम्रपान) कितना खतरनाक हो सकता है अस्थमा अटैक के क्या लक्षण हैं।

ग्लोबल स्टार प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) इन दिनों इंटरनेट पर काफी ट्रोल की जा रही हैं। इसका कारण उनकी एक वायरल तस्वीर है, जिसमें वो अपने पति निक जोनस और मां मधु चोपड़ा के साथ मयामी में एक जहाज पर सिगरेट पीती नजर आ रही हैं। इस तस्वीर पर बवाल मचने का कारण यह है कि पिछले साल दिवाली के आसपास प्रियंका चोपड़ा ने सार्वजनिक रूप से ये बताया था कि उन्हें अस्थमा (Asthma) है।

इसके अलावा उन्होंने एक बड़ी दवा कंपनी के लिए एक विज्ञापन भी शूट किया था, जिसमें वो इंहेलर का प्रचार कर रही थीं। इस विज्ञापन में उन्होंने कहा कि उन्हें 5 साल की उम्र से अस्थमा है और वो इन्हेलर का प्रयोग करती हैं। इसी बात पर लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया, क्योंकि अस्थमा के मरीज के लिए सिगरेट बेहद खतरनाक होती है। आइए आपको बताते हैं कि अस्थमा रोगी के लिए धूम्रपान (Smoking) कितना खतरनाक हो सकता है।

अस्थमा में क्यों खतरनाक है सिगरेट पीना? (Asthma And Smoking)

सिगरेट पीना (धूम्रपान) हर किसी के लिए नुकसानदायक है, मगर अस्थमा रोगियों के लिए ये जानलेवा हो सकता है। दरअसल कोई व्यक्ति जब सिगरेट पीता है, तो उसके धुंए में मौजूद केमिकल्स वायुनली में जमा होने के कारण वायुनली में सूजन आ जाती है। इससे वायुनली संकरी हो जाती है और व्यक्ति को अस्थमा का अटैक पड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें:- अस्थमा को बढ़ाते हैं ये 5 कारक, जानिए कैसे करें बचाव

दूसरा कारण यह है कि वायुनली में मौजूद छोटे-छोटे बाल जैसी आकृति जिन्हें सिलिया (Cilia) कहते हैं। ये सिलिया बाहर से आने वाली धूल-मिट्टी, प्रदूषण के कण और अंदर बनने वाले म्यूकस को रोकते हैं। सिगरेट पीने के कारण ये सिलिया नष्ट हो जाते हैं, जबकि म्यूकस का निर्माण ज्यादा होने लगता है। यही कारण है कि म्यूकस बढ़ जाने के कारण भी अस्थमा रोगी को अटैक पड़ सकता है।

अस्थमा अटैक के लक्षण (Symptoms of Asthma Attack)

वायुनली में अचानक बढ़े दबाव के कारण जब अस्थमा के लक्षण अचानक बहुत ज्यादा हावी हो जाते हैं, तो उसे अस्थमा का अटैक कहते हैं। अस्थमा का अटैक पड़ने पर निम्न लक्षण दिखाई देते हैं-

  • सांस अंदर-बाहर करते समय हिस्स-हिस्स की आवाज आने लगना
  • लगातार खांसी आना, जो बंद न हो
  • बहुत जल्दी-जल्दी सांसें लेने लगना
  • फेफड़ों में तेज दबाव महसूस करना
  • गले के आसपास और शरीर की मांसपेशियों में दबाव महसूस करना, ऐसे में आमतौर पर व्यक्ति की शरीर अकड़ने लगती है।
  • बोलने में परेशानी होना
  • चेहरे का रंग पीला पड़ जाना और ढेर सारा पसीना आने लगना
  • होंठों या नाखूनों का नीला पड़ने लगना

कितना खतरनाक हो सकता है अस्थमा का अटैक? (Risks of Asthma Attack)

अस्थमा का अटैक जानलेवा हो सकता है। दरअसल अस्थमा का अटैक पड़ने पर आमतौर पर व्यक्ति को सांस लेने में परेशानी होने लगती है, जिससे फेफड़ों में ऑक्सीजनयुक्त हवा की कमी हो जाती है। अगर अस्थमा रोगी में अटैक के लक्षण दिखें, तो जितनी जल्दी हो सके उसे पंप या दवा के द्वारा नियंत्रित करना चाहिए और जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। दरअसल गंभीर अस्थमा अटैक पड़ने पर व्यक्ति को रेस्पिरेटरी अरेस्ट (Respiratory Arrest) हो सकता है और उसकी तुरंत मौत हो सकती है।

Read more articles on Other Diseases in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK