• shareIcon

    अस्‍थमा का फिटनेस पर असर

    अस्‍थमा By रीता चौधरी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Feb 26, 2013
    अस्‍थमा का फिटनेस पर असर

    अस्‍थमा का फिटनेस पर असर : जाने, अस्थमा होने पर आप अपने फिटनेस को बनाए रखने के लिए नियमित शारीरिक गतिविधियां और व्यायाम कैसे करें।

    यदि आपको दमा है तो आपको वायुमार्ग में दर्द, सूजन, वायुमार्ग के संकुचन और एलर्जी की परेशानी रहेगी। ऐसे में फेफड़ों में हवा के प्रवाह में बाधा उत्पन्न होती है।

    asthma ka fitness par asar

     

    अस्थमा के दौरे के दौरान छाती में जकड़न, खाँसी, घरघराहट और सांस लेने में कठिनाई का अनुभव होता है। अस्थमा होने पर आप अपने फिटनेस को बनाए रखने के लिए नियमित शारीरिक गतिविधियां और व्यायाम कर सकते है।

    [इसे भी पढ़े- अस्‍थमा का निदान]


    अस्थमा के लक्षण वायु प्रदूषण, धूम्रपान, संक्रमण, धूल, धूल के कण के कारण देखे जा सकते है। व्यायाम के कारण अस्थमा तब होता है जब जोरदार शारीरिक गतिविधि के कारण शरीर में ऐंठन और वायुमार्ग में संकुचन होता है। व्यायाम प्रेरित अस्थमा में व्यायाम के दौरान या बाद में ऐसे लक्षण दिखाई देते है। इसका निदान लंबी अवधि के नियंत्रण दवाओं और इनहेलर के द्वारा किया जा सकता है। ऐसे लक्षणों को रोकने के लिए और जल्दी से राहत के लिए डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

    स्वास्थ्य

    अगर आपका अस्थमा नियंत्रण में है, आपको व्यायाम से नहीं बचना चाहिए। व्यायाम अस्थमा में लाभ प्रदान करता है, फेफड़ों और सांस लेने के वाली मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। व्यायाम प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ाता है और साथ ही स्वस्थ वजन को बनाए रखने में मदद करता है। एरोबिक फिटनेस, शरीर रचना, लचीलापन और मांसपेशियों की ताकत का आकलन एवं शारीरिक गतिविधियों के लिए आप अपने डॉक्‍टर की सलाह ले सकते है।

    [इसे भी पढ़े- अस्थमा के लिए आहार]

    सावधानियां

    अस्थमा की जटिलताओं के जोखिम को कम करने और अपनी फिटनेस के लिए कुछ सावधानीयां जरूर रखनी चाहिए। जैसे वायुमार्ग में कफ को रोकने के लिए पानी पीना। अभ्यास के दौरान आप अपने डॉक्‍टर की चेतावनियों का जरूर ध्‍यान रखे।

    जलवायु और स्थान

    अस्थमा के मरीजों के लिए जलवायु और स्थान भी महत्वपूर्ण हैं। व्यायाम के साथ‍-साथ एक स्वस्थ जलवायु भी जरूरी होती है। जिसमें गर्म नम हवा की सिफारिश की गई है। ऐसे क्षेत्रों से जहां रसायन या वाहन का धुआं है से बचे।    

    [इसे भी पढ़े- दमा रोगियों के लिए व्यायाम]

    व्यायाम गतिविधियां

    कम से कम 15 मिनट के वार्म अप से वायुमार्ग की सूजन को रोकने में मदद मिलती है और अस्थमा के दौरे के खतरे को कम कर सकते हैं।

    चेतावनी

    कुछ अस्थमा के उपचार के अभ्यास के दौरान आपके दिल की दर को प्रभावित कर सकते हैं। अपने डॉक्टर से जाँच करवाएं।

     

     

    Read more Aritcle On- Asthma in hindi

    Disclaimer

    इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK