• shareIcon

एंटी कैंसर डाइट

लेटेस्ट By सम्‍पादकीय विभाग , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Dec 13, 2011
एंटी कैंसर डाइट

कैंसर से बचाव के लिए शाकाहार और संतुलित आहार लेना चाहिए।

anti cancer diet

कैंसर के होने का खतरा हम सभी को रहता है--लेकिन क्या आप जानते है कि आप जो कुछ खाते हैं उनमें कैंसर से लड़ने की क्षमता होती है? जो कुछ आप खाते है उससे इस बात पर बहुत फर्क पड़ता है कि आपको कैंसर होने का जोखिम है अथवा नहीं। जहाँ कुछ खाद्य पदार्थों में कैंसर विकसित करने का दुर्गुण होता है वही कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे भी होते हैं जो कैंसर से आपका बचाव करते हैं क्योंकि ऐसे खाद्य पदार्थ में एंटी कैंसर गुण होते हैं। आप अपने आहार में ऐसे खाद्य पदार्थों को अवश्य शामिल करने का प्रयास करें जिनमें कैंसर से लड़ने की क्षमता होती है।

 

आपको कैंसर और उसके आहार के बारे में क्या-क्या जानने की जरूरत है

 

यह कोई जरूरी नहीं है कि सही आहार का सेवन करने से आपको कोई भी शारीरिक तकलीफ नहीं होगी , लेकिन इतना तय है कि उचित आहार का सेवन करने से आपके शरीर की काफी परेशानियां कम हो जाएँगी और आपका शरीर स्वस्थ रहेगा।  अध्ययनों से पता चलता है कि कैंसर के विभिन्न प्रकार, गलत जीवन शैली जीने की वजह से होते हैं जैसे धूम्रपान करने से, शराब पीने से, बिना व्यायाम किये रहने से, अस्वास्थ्यवर्धक खाना खाने से इत्यादि। आप अपने शरीर की कैंसर से लड़ने की क्षमता को, अपनी जीवन शैली में कुछ बदलाव लाकर, बढ़ा सकते हैं; इसके लिए आपको स्वास्थ्यवर्धक खाना खाना होगा, धूम्रपान छोड़ना होगा, शराब का सेवन बहुत हीं कम करना होगा तथा नियमित रूप से व्यायाम करना होगा।


कैंसर की रोकथाम के लिए आहार: पौधों से बने आहार को शामिल करें

कैंसर से बचाव के लिए हरी सब्जियाँ,  फल, नट, सेम और साबुत अनाज इत्यादि सर्वोत्तम आहार होते हैं क्योंकि ये पौधों से लिए गए होते हैं।

 

अपने आहार में रोजाना ढेर सारे फल, साबुत अनाज एवं हरी सब्जियाँ शामिल करें।

 

बाग़-बगीचे से मिले कुछ आहार, जिनमें कैंसर से लड़ने की शक्ति होती है वे हैं: लहसुन , बेरीज (जैसे ब्लूबेरी , ब्लैकबेरीज ,  स्ट्रॉबेरी) , टमाटर, क्रूसीफेरस  सब्जियाँ (जैसे ब्रोकोली, गोभी और फूलगोभी), हरी चाय, हल्दी, हरी पत्तेदार सब्जियों, अंगूर, सेम इत्यादि। इनमें भरपूर मात्रा में एंटीओक्सीडेनट्स होते हैं जो कैंसर से लड़ते हैं।

 

जब आप खाना खाने बैठते हैं तो इस बात का ख्याल रखें कि आपकी थाली का दो तिहाई भाग साबुत अनाज, हरी सब्जियों, सेम एवं फल से भरा हो। और अन्य खाद्य पदार्थ, जैसे डेयरी उत्पाद, मछली, मीट इत्यादि थाली के एक तिहाई भाग से भी कम में हों।  कोशिश करें कि आपके खाने में कम से कम प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ हो बल्कि आपको तले हुए एवं प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ को नाममात्र को खाना  चाहिए।

 

कैंसर से बचाव का आहार: ज्यादा से ज्यादा फाइबरयुक्त आहार लें।

 

अनुसंधान के मुताबिक, जो आहार फाइबर से परिपूर्ण होते हैं उन्हें रफेज  या  बल्क  भी कहा जाता है, और जो कैंसर से लड़ने में काफी मदद करता है।  जो खाद्य पदार्थ पौधों से प्राप्त होते हैं, जैसे फल, सब्जियाँ, साबुत अनाज इत्यादि वे फाइबर से परिपूर्ण होते हैं।  फाइबर आपके पाचन प्रणाली में पचता नहीं है जिसकी वजह से वह आपके पेट एवं आँतों में अनावश्यक पदार्थ को टिकने नहीं देता और आपके शरीर के बाहर निकाल देता है जिसमें ऐसे और भी  कारक  होते है जो कैंसर का कारण बन सकते हैं; इस तरह फाइबर आपके पाचन तंत्र को साफ और स्वस्थ रखता है ।

 

फाइबर आपके पाचन तंत्र से पच चुके आहार के साथ साथ ऐसे योगिको को भी आपके सिस्टम के बहार निष्काषित करता है जो भविष्य में कैंसर के लिए जिम्मेदार बन सकते हैं। मांस, डेयरी उत्पाद,  चीनी, या सफेद रोटी या  सफेद चावल और पेस्ट्री जैसे खाद्य पदार्थ में फाइबर शामिल नहीं रहते हैं जिसकी वजह से आपको पेट की समस्या जैसे कब्ज इत्यादि रहने लगता है।

 

आपके आहार को फाइबर से समृद्ध बनाने के कुछ तरीके निम्न हैं:

  • सफेद चावल खाने के बजाय भूरे चावल का सेवन करें
  • बिना चोकर वाली सफ़ेद रोटी खाने की बजाये चोकर से बने हुए आंटे की रोटी खाएं
  • तले हुए आलू के चिप्स जैसे खाद्य पदार्थ खाने की बजाये फल, पॉपकॉर्न, दही जैसे खाद्य पदार्थ खाएं
  • फलों के रस पीने की बजाये या डिब्बा बंद फलों के ज्यूस पीने की जगह नाशपाती, सेब, केला जैसे फल दांतों से चबाकर खाएं।
  • चिप्स या मलाई खाने की बजाये गाजर, टमाटर, प्याज, अजवाइन, ककड़ी, पत्तागोभी इत्यादि का कच्च...

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK