• shareIcon

#EatRightIndia: सर्दियों में शकरकंद खाने 5 फायदे, जानें आलू के मुकाबले क्यों पौष्टिक माना जाता है शकरकंद

Updated at: Dec 05, 2019
स्वस्थ आहार
Written by: अनुराग अनुभवPublished at: Dec 05, 2019
#EatRightIndia: सर्दियों में शकरकंद खाने 5 फायदे, जानें आलू के मुकाबले क्यों पौष्टिक माना जाता है शकरकंद

सर्दियों में मौसम में आने वाले शकरकंद (Sweet Potatoes) बहुत पौष्टिक होते हैं, जो आपको कई गंभीर बीमारियों से बचाते हैं।

भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की तरफ से पिछले दिनों एक खास मुहिम शुरू की गई जिसे 'ईट राइट इंडिया' (Eat Right India) का नाम दिया गया है। इस मुहिम के तहत लोगों को सही आहार और पोषण से संबंधित जरूरी जानकारियां देने का काम किया जा रहा है, ताकि वो अपना खानपान सही रख सकें। भारत सरकार के इस स्पेशल प्रोग्राम के तहत केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने गुरूवार को डाइट में शकरकंद (Sweet Potato) खाने के फायदे बताए। इसे कुछ लोग शकरकंदी, मीठे आलू, स्वीट पोटैटो आदि अलग-अलग नामों से भी जानते हैं।

शकरकंद हमारे यहां सर्दियों के मौसम में आने वाली एक तरह की सब्जी है, जो दिखने में आलू जैसा होता है मगर इसका स्वाद मीठा होता है। शकरकंद कई रंगों में आते हैं, जैसे- सफेद, बैंगनी और नारंगी आदि। आमतौर पर सभी तरह के शकरकंद मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं। मगर दुनियाभर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल नारंगी स्वीट पोटैटो (Orange Sweet Potato) का किया जाता है, क्योंकि इसमें कुछ खास एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो आपको कई तरह की बीमारियों से बचाते हैं। शकरकंद खाने के ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ हैं, जिनके बारे में हम आपको विस्तार से बताएंगे।

क्यों फायदेमंद है शकरकंद खाना?

केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने ट्वीट कर लिखा, "नारंगी रंग वाले कुछ स्वीट पोटैटोज (शकरकंद) लें, उन्हें उबालें और स्वादिष्ट चाट बनाएं। शकरकंदी में विटामिन ए (Vitamin A) और विटामिन सी (Vitamin C) की मात्रा अच्छी होती है, इसलिए ये साधारण आलू की अपेक्षा बहुत ज्यादा पौष्टिक होते हैं। चूंकि शकरकंदी का ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी बहुत कम होता है, इसलिए डायबिटीज के मरीज भी इसे खा सकते हैं।"
हालांकि यहां यह साफ कर देना जरूरी है कि सामान्यत: डायबिटीज के मरीजों के लिए शकरकंद को सुरक्षित माना जाता है, मगर कुछ मामलों में शकरकंद का सेवन नुकसानदायक भी हो सकता है, इसलिए इसे खाने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह जरूर ले लें।

शकरकंद में मौजूद पोषक तत्व

200 ग्राम उबले हुए शकरकंद खाने से आपको निम्न मात्रा में पोषक तत्व मिलते हैं-

  • कैलोरीज- 180
  • प्रोटीन- लगभग 4 ग्राम
  • फाइबर- लगभग 6 ग्राम
  • कार्ब्स- लगभग 41 ग्राम
  • फैट- सिर्फ 0.3 ग्राम
  • विटामिन ए- आपकी दैनिक जरूरत का 769%
  • विटामिन सी- आपकी दैनिक जरूरत का 65%
  • मैंग्नीज- आपकी दैनिक जरूरत का 50%
  • विटामिन बी6- आपकी दैनिक जरूरत का 29%

इसके अलावा शकरकंद में कॉपर, नियासिन और पैंटोथेनिक एसिड की मात्रा भी बहुत अच्छी होती है। इसलिए इसका सेवन आपके पूरे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इन सभी तत्वों के अलावा रंगीन शकरकंद (नारंगी और बैंगनी) कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स से भी भरपूर होते हैं, जो शरीर को फ्री रेडिकल्स और कई तरह के रोगों से बचाते हैं। फ्री रेडिकल्स हमारे शरीर में कई तरह के रोगों और परेशानियों का कारण बनते हैं।

पेट के लिए हल्का और सुपाच्य भोजन है शकरकंद

शकरकंद में फाइबर की मात्रा अच्छी होती है। इसलिए शकरकंद खाने से आपके पाचनतंत्र पर अतिरिक्त बोझ नहीं पड़ता है। शकरकंद में दोनों तरह के फाइबर पाए जाते हैं, घुलनशील और अघुलनशील। अघुलनशील फाइबर आपकी आंतों में चिपकी गंदगियों और टॉक्सिन्स को अपने साथ ही मल के साथ बाहर निकाल देते हैं। जबकि घुलनशील फाइबर आपके मल को मुलायम बनाते हैं इसलिए कब्ज के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है।

कैंसर से बचा सकते हैं शकरकंद

आपको मुश्किल से ही यकीन आएगा मगर रिसर्च बताती हैं कि शकरकंद में ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो आपके शरीर को कैंसर के संभावित खतरे से बचाते हैं। इसका कारण यह है कि शकरकंद में बहुत अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो कैंसर सेल्स को पनपने और बढ़ने से रोकते हैं।

इसे भी पढ़ें: कैंसर से बचना है तो सही रखें अपना खानपान, जानें कैंसर से बचाने वाले आहार

आंखों को स्वस्थ रखने के लिए शकरकंद से बेहतर कुछ नहीं

अगर आप अपनी आंखों को लंबी उम्र तक स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो आपको आज से ही अपनी डाइट में शकरकंद को शामिल कर लेना चाहिए। शकरकंद में विटामिन ए की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। सिर्फ 200 ग्राम शकरकंद खाने से ही आपको अपनी दैनिक जरूरत का 7 गुने से भी ज्यादा बीटा कैरोटीन मिल जाता है। यही बीटा कैरोटीन शरीर में जाकर विटामिन ए में बदल जाता है और आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करता है।

दिल की बीमारियों से बचाएगा शकरकंद

शकरकंद में मौजूद फाइबर आपके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम करता है, जिसके कारण कार्डियोवस्कुलर बीमारियों से बचाव रहता है। इसके अलावा शकरकंद में पोटैशियम की मात्रा भी अच्छी होती है। इसलिए ये आपको हाई ब्लड प्रेशर से बचाता है। कॉपर की मात्रा अच्छी होने के कारण शकरकंद खाने से आपके खून में रेड ब्लड सेल्स की मात्रा बढ़ती है। इन्हीं कारणों से शकरकंद को दिल की सेहत के लिए अच्छा माना जाता है।

दिमागी तनाव और चिंता को भगाएगा शकरकंद

आजकल भागती-दौड़ती जिंदगी में फुर्सत किसी के पास नहीं है, जबकि तनाव और चिंता हर इंसान के पास है। ऐसे में अगर आप अपनी डाइट में शकरकंद को शामिल करते हैं, तो आपको तनाव और चिंता से छुटकारा मिलेगा। अगर आपको मूड स्विंग्स, मूड डिस्टर्बेंस, सिरदर्द या फालतू सोचने जैसी समस्याएं हैं, तो आपको राहत दिलाने में शकरकंद बहुत फायदेमंद हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: टेंशन और तनाव को 5 मिनट में दूर करेंगे ये 5 फूड्स, दिमाग को मिलेगा आराम

शकरकंद को कैसे खा सकते हैं आप?

आमतौर पर शकरकंद का स्वाद इतना मीठा होता है कि आप इन्हें उबालकर यूं ही सादा भी खा सकते हैं। कुछ लोग इसे आग में भूनकर (रोस्टेड) भी खाते हैं। इसके अलावा शकरकंद से आप कई तरह की स्वादिष्ट डिशेज भी बना सकते हैं, जैसे-

  • शकरकंद को उबालकर इसका पराठा या चाट बनाएं।
  • शकरकंद को रोस्ट करके इसे अपने सलाद में मिलाएं और ऊपर से चाट मसाला और काली मिर्च पाउडर छिड़कें।
  • आप चाहें तो शकरकंद की बेहतरीन स्वीट डिशेज जैसे- खीर, बर्फी और हलवा भी बना सकते हैं।
  • शकरकंद से आप मीठी पूड़ियां भी बना सकते हैं।
Read more articles on Healthy Diet in Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK