• shareIcon

एरोबिक्स के होते हैं इतने फायदे

एक्सरसाइज और फिटनेस By Rahul Sharma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Dec 10, 2012
एरोबिक्स के होते हैं इतने फायदे

एरोबिक्स की एक्टिविटी से कार्डीओवैस्क्यलर (ह्रदय और रक्त धमनियां) और रेस्पिरेटरी (फेफड़े) की फिटनेस में सुधार होता है। एरोबिक्स के कई बड़े मनोवैज्ञानिक फायदे होते हैं।

एरोबिक्स की एक्टिविटी से कार्डीओवैस्क्यलर (ह्रदय और रक्त धमनियां) और रेस्पिरेटरी (फेफड़े) की फिटनेस में सुधार होता है। यह एच-डी-एल (हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन) के स्तर को बढाता है, जो कि ह्रदय के लिए एक अच्छा कोलेस्ट्रोल है। यह एक आदर्श रक्तचाप को बनाए रखता है, धमनियों के लचीलेपन को बनाए रखता है, जिससे कि रक्त के थक्कों का निर्माण होने का और दिल के दौरे का खतरा कम हो जाता है। साथ ही यह अनेक ह्रदय और फेफड़ों के रोगों और कुछ ख़ास कैंसरों के खतरों को घटाता है। यह एक उच्च ऊर्जा से भरपूर एक्टिविटी है, जिसमें अत्यधिक ऊर्जा की ज़रूरत होती है! इसीलिए जिन लोगों को अपने शरीर की अतिरिक्त चर्बी को घटाना है, वे एरोबिक्स को अपना सकते हैं। किसी भी एरोबिक्स की क्लास में नृत्य करते समय आपकी कितनी कैलोरी की मात्रा खर्च होती है, यह पार्टिसपन्ट की उम्र, लिंग, वज़न, नृत्य शैली की इंटेंसिटी, संगीत का टैम्पो और पार्टिसपन्ट के सामर्थ्य पर निर्भर करता है।

 

एरोबिक्सकरने से निम्न फायदे होते हैं

  • एरोबिक्स से शरीर में श्वेत रक्तकणों की संख्या में बढोतरी होती हैं, जिससे शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत बनता है। श्वेत रक्तकण रोगों से लड़ते हैं।
  • एरोबिक्स एक वज़न को वहन करने वाली क्रिया है (इसके अंतर्गत आप कसरत करने के दौरान अपने शरीर का वज़न खुद उठाते हो), इसीलिए यह मांसपेशियों और हड्डियों को मज़बूत बनाती है और उनका निर्माण करती है, इससे आस्टिओपरोसिस का खतरा घट जाता है।

 

 

 

  • एरोबिक्स से शरीर तंत्रों की कन्डिशनिंग होती है, हड्डियां और मांसपेशियाँ मज़बूत बन जाती हैं, जिससे कि हमारी उम्र बढ़ने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है।
  • एरोबिक्स के कई बड़े मनोवैज्ञानिक फायदे होते हैं ! व्यायाम करते समय शरीर में ‘एंडोर्फिन’ नामक हार्मोन का स्त्राव होता है, जिससे एक खुश होने का एहसास प्राप्त होता है। पार्टिसपन्ट को आनंद का एहसास होता है, और वह तनाव कम महसूस करता है, चूंकि एरोबिक्स एक अत्यंत चुनौतीपूर्ण एक्टिविटी है, इसीलिए हर एरोबिक सेशन को पूर्ण करने पर उपलब्धि और गर्व का एक एहसास होता है।
  • एरोबिक्स क्लासेज में बहुत मज़ा आता है और आपको प्रेरणा मिलती है, इसीलिए अक्सर ऐसा होता है कि आप अपने एरोबिक्स क्लासेस से चिपके रहते हो, और आपको स्वास्थ्य और फिटनेस के फायदे प्राप्त होना जारी रहते हैं।
  • किसी भी एरोबिक्स क्लास में आप एक समूह में वर्काऊट करते हो, आपकी निगरानी के लिए एक इंस्ट्रक्टर सामने रहता है, जो कि पूरे समय आपको प्रेरित करता रहता है, इसीलिए यदि आप इस क्लास को छोड़ना भी चाहते हो, तो भी आप ऐसा नहीं कर पाओगे और वर्काऊट करने में आप अपना पूरा जोर लगा दोगे।
  • नियमित रूप से अभ्यास करने से आप संगीत को बेहतर समझने लगोगे और आपको अधिक मज़ा आने लगेगा ! आप सही धुन पर अपना पैर हिलाना सीख जाओगे।
  • आप एरोबिक्स की क्लास में अनेक मित्र बनाते हो, उनके साथ हंसते हो, मज़ा करते हो। इससे आपका सारा तनाव घट जाता है।

 

एरोबिक्स की क्लास में अपना नाम लिखाने से पहले बरती जाने वाली सावधानियां

 

  • इस बात का ध्यान रखें कि आप किसी अनुभवी और प्रशिक्षित एरोबिक्स इंस्ट्रक्टर की निगरानी में व्यायाम करें।
  • क्लास में जाने से पहले वहाँ उपलब्ध कराई जानेवाली सुविधाओं की जांच कर लें ! क्लास साफ़ और सुसज्जित होनी चाहिए, लकड़ी का फर्श होना चाहिए, एक एरोबिक्स की क्लास के लिए लकड़ी का फर्श सबसे सही वर्काऊट सतह है।
  • अपनी क्लास में हमेशा सही समय पर पहुंचे, जिससे कि आप वार्मअप करने से वंचित न हो जाएँ, जो कि एरोबिक्स की क्लास का एक महत्वपूर्ण भाग है ! आपका ठीक समय पर पहुंचना यह दर्शाता है कि आप अपने व्यायाम के प्रति बेहद गंभीर हैं।
  •  यदि आप किसी भी प्रकार के रोग से ग्रसित हैं, तो आप अपने इंस्ट्रक्टर से कुछ भी न छिपाएं।
  • यदि आपको व्यायाम करते समय किसी भी प्रकार की असुविधा महसूस हो रही हो या आप असहज महसूस कर रहे हो, तो तुरंत अपने इंस्ट्रक्टर से संपर्क करें !
  • एरोबिक्स के लिए ख़ास तौर पर बनाए गए जूतों को पहने।
  • हर 15 से 20 मिनट के बाद पानी पिएं।
  • जब आप फ़्लू या बुखार से पीड़ित हो, तब व्यायाम न करें।


अपने चिकित्सक से परामर्श लें और इस बात की जांच करें कि कहीं आप किसी ह्रदय, फेफड़े, मांसपेशियों या जोड़ों से संबंधित रोगों से ग्रसित तो नहीं हैं, या हाल ही में आपकी कोई सर्जरी तो नहीं हुई है !
   

 

Image Source - Getty Images

Read More Article on Sports and Fitness in hindi.

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK