• shareIcon

डेंगू-चिकनगुनिया के बाद मलेरिया ने बरपाया कहर, ली दो लोगों की जान

लेटेस्ट By Gayatree Verma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 07, 2016
डेंगू-चिकनगुनिया के बाद मलेरिया ने बरपाया कहर, ली दो लोगों की जान

डेंगू और चिकनगुनिया के बाद राजधानी मलेरियाग्रस्त हुई। पांच साल बाद दिल्ली में मलेरिया मृत्यु का कारण बना है।

राष्ट्रीय राजधानी में डेंगू और चिकनगुनिया के बाद मलेरिया ने कहर बरपा दिया है। मलेरिया का ये मामला पांच साल बाद दिल्ली में देखने को मिला है। जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाल ही में पड़ोसी देश श्रीलंका को मलेरिया मुक्त घोषित किया है। ये देश की विडंबना ही है कि जहां पड़ोसी देश मलेरिया मुक्त घोषित हुआ है, वहीं भारत की राजधानी में मलेरिया ने दो लोगों की जान ले ली है।  



दिल्ली में तीन महीनों में मलेरिया से हुई है दूसरी मौत है। सेरेब्रल मलेरिया से पीड़ित पूर्वी दिल्ली के 30 वर्षीय प्रवीण की मौत हो गई। वे चंदन विहार में रहते थे। चार अगस्त को वे इलाज के लिए सफदरजंग अस्पताल में भर्ती हुए थे और बीते मंगलवार को उनकी मौत हो गई। इससे पहले जुलाई में भी शाहदरा में एक 62 वर्षीय व्यक्ति चरण की मलेरिया से मौत हो गई थी।

 

पांच वर्ष बाद मलेरिया ने ली है जान

दिल्ली में पांच साल बाद मलेरिया का कहर लौटा है। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले पांच वर्षों में इस वेक्टर जनित बीमारी से होने वाली संभवत: यह दूसरी मौत है। सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक एके राय ने कहा, ‘उसे काफी गंभीर स्थिति में अस्पताल लाया गया था और वह पहले से सेरेब्रल मलेरिया से पीड़ित था। कई अंगों के काम करना बंद कर देने और अन्य समस्याओं के चलते उसकी मौत हो गई।’

 

इस साल में अब तक मिले मलेरिया के 19 मामले

इस साल अब तक दिल्ली में मलेरिया के 19 मामले मिल चुके हैं। इसके अलावा डेंगू के 771 मामले और चिकनगुनिया के 560 मामले चुके हैं।
वर्ष         मलेरिया पीड़ित
2011         139
2012         162
2013         81
2014         31
2015         32

 

Read more Health news in Hindi.

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK