ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के बाद जरूर बरतें ये सावधानियां

ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के बाद जरूर बरतें ये सावधानियां

जानें, ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के बाद कैसी सावधानियां लेनी चाहिए।

 

स्तन कैंसर तेजी से अपने पैर पसार रहा है। महिलाओं में होने वाली इस बीमारी का रूप काफी भयावह हो चुका है। सामान्य तौर पर स्तन कैंसर का इलाज ऑपरेशन या कीमोथेरेपी या फिर रेडिएशन से किया जाता है। लेकिन इसका उपचार उन प्रोटीन पर केंद्रित होता है जो कैंसर कोशिकाओं के बढ़ने व उनके अनियंत्रित तरीके से विभाजित होने की ओर संकेत करता है। ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के पहले और बाद में सावधानी लेनी की जरूरत होती है। स्तन कैंसर ऐसी बीमारी है जो इलाज के बाद भी परेशान कर सकती है। इसीलिए चिकित्सक कुछ सावधानियां बरतने के लिए कहते हैं। आइए जाने ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के बाद कैसी सावधानियां लेनी चाहिए।

 

[इसे भी पढ़े : ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द से कैसे निपटें]

 

 

 

 घाव संक्रमण

यदि आपके आपरेशन वाले स्थान पर लाल, सूजन, या दर्द हो जाता है, या आपके घाव वाली जगह से डिस्चाकर्ज हो रहा है। तो आपको संक्रमण हो सकता है। अपने सर्जन या ब्रेस्ट देखभाल नर्स से संपर्क करें। यदि आपको संक्रमण हो गया है, तो सर्जन आपको एंटीबायोटिक दवाएं लेने की सलाह देंगे।

 

 तरल पदार्थ का संग्रह

घाव के बाद नालियों से बाहर आने के बाद कभी-कभी तरल पदार्थ घाव के आस-पास इकट्ठा होने लगता है। इसे सिरोमा कहते है। यह सिरोमा सूजन और दर्द का कारण हो सकता है और साथ-साथ्‍ा इससे संक्रमण का खतरा भी बढ़ सकता है। तरल पदार्थ आमतौर पर अपने आप ही दूर हो जाता है पर कभी-कभी सुई और सीरिंज की मदद से इसे सुखाना पड़ता है। कुछ महिलाओं में यह लंबे समय तक बना रहता है और सर्जरी के कुछ महीनों बाद जाता है। अगर आपको लगता है कि सिरोमा विकासशील हो रहा है तो आप अपने सर्जन या ब्रेस्ट देखभाल नर्स से तुरन्त संपर्क करें।

 

[इसे भी पढ़े : स्तन कैंसर के साथ जीवन]

नर्व पेन

ब्रेस्ट कैंसर के बाद अगर लिम्फ नोड्स हटा दिया है तो आपकी ऊपरी बांह में हल्की-हल्की झुनझुनहाट रहना सामान्य बात है और यह इसलिए होता है क्योंकि कुछ नसों को ऑपरेशन के दौरान काट देते हैं और इसमें रिपेयर की जरूरत होती है। और इसमें कुछ हफ्ते या महीने लग सकते हैं। अगर ऐसा रहता है, तो अपने ब्रेस्ट देखभाल नर्स या सर्जन के साथ संपर्क में रहें।

बांह या हाथ की सूजन

ऑपरेशन के बाद आपकी बांह या हाथ में कुछ सूजन होना सामान्य बात है, लेकिन इसे दूर करने के लिए और अपने कंधो की मुवमेंट वापिस लाने के लिए आपको व्यायाम करना शुरू कर देना चाहिए।अगर आप के हाथ या बांह की सूजन, दर्द और कोमलता फिर भी बनी रहती है तो अपने स्तन देखभाल नर्स या सर्जन को जल्द से जल्द बता दे। सर्जरी या रेडियोथेरेपी के बाद बगल में स्थायी सूजन होने का खतरा भी रहता है इसे लिम्फोडिमा कहते है। एक बार जब आप लिम्फोडिमा हो जाए तो इसे ठीक नहीं किया जा सकता है, लेकिन प्रभावी तरीके से जल्दी उपचार के साथ नियंत्रित किया जा सकता है।

 बगल में स्कार टिश्यू

कुछ महिलाओं के बगल में स्कार टिश्यु का विकास, टाईट बैंड के रुप में सामने आता है। यह ब्रेस्ट कैंसर के 6 से 8 सप्ताह के ऑपरेशन के बाद हो सकता है। इन निशान ऊतक को कोंडिंग या बैंडिंग कहते है, इसमें गिटार स्ट्रिंग की तरह महसूस होने लगता हैं। वैसे तो कोंडिंग हानिरहित होता है, पर असुविधाजनक होता है। यह आपके लिए बेहतर होगा अगर आप कुछ समय के बाद स्कार टिश्यु के क्षेत्र की मालिश करे। मालिश करने का तरीका आप अपनी विशेषज्ञ नर्स या फ़िज़ियोथेरेपिस्ट से सीख सकते है।

 

[इसे भी पढ़े : स्तन कैंसर के जोखिम कारक]

 दर्द

ब्रेस्ट कैंसर की सर्जरी के बाद आपको दर्द होना स्वाभविक है इसके लिए आपको तैयार रहना पडे़गा। दर्द को नियंत्रित करने के लिए, आप अपने डॉक्टर से दर्द निवारक दवा ले सकते है। वैसे तो दर्द पूरा दिन रहता है पर रात को दर्द के लिए सबसे मुश्किल समय होता है।

 रुका हुआ पानी

वैसे तो प्लास्टिक सर्जन आपको सर्जरी के बाद 24 घंटे में शॉवर करने की अनुमति देगा और आपको सलाह देगा कि सर्जरी के बाद दो सप्ताह तक आप किसी भी ऐसे पानी को इस्तेमाल न करे जो रुका हुआ हो जैसे स्विमिंग पुल, गर्म टब, भंवर, झीलों, समुद्रों, आदि का पानी।

 

सर्जरी के बाद सर्जन आपको तार वाली ब्रा पहनाने से मना करेंगा। तार वाली ब्रा ब्रेस्ट इम्पालंट की स्थिति को प्रभावित कर सकती हैं। आपके सर्जन या तो नरम, सहायक ब्रा या ब्रेस्ट इम्पालंट के बाद अपने स्तनों के चारों ओर एक विस्तृत, प्रत्यास्थ पट्टी (ऐस लपेटो) ब्रा प्रदान करेगा। ब्रा या लोचदार पट्टी/ऐस पट्टी को नहाने के दौरान हटाया जा सकता है।

 

Image Source-getty

Read More Articles on Breast Cancer in hindi.

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।