एसिडिटी क्यों होती है? जानें इसका कारण और लक्षण, एक्सपर्ट से जानें एसिडिटी दूर करने के लिए आसान घरेलू नुस्खे

Updated at: Nov 30, 2020
एसिडिटी क्यों होती है? जानें इसका कारण और लक्षण, एक्सपर्ट से जानें एसिडिटी दूर करने के लिए आसान घरेलू नुस्खे

एसिडिटी पेट की एक आम समस्या है। एक्सपर्ट से जानें एसिडिटी किन कारणों से होती है और इसे दूर करने के लिए तुरंत असर करने वाले बेहतरीन घरेलू नुस्खों.

Naina Chauhan
अन्य़ बीमारियांWritten by: Naina ChauhanPublished at: Nov 30, 2020

बदलती जीवनशैली, खान-पान और बढ़ती सहूलियतों के बीच बैठे-बैठे काम करने की प्रवृत्ति के कारण लोगों को पेट से जुड़ी कई समस्याएं होने लगी हैं। इन समस्याओं में से एक सबसे आम समस्या है एसिडिटी। एसिडिटी (acidity) यानी आहार के कारण पेट में एसिड की मात्रा का बढ़ जाना। आमतौर पर एसिडिटी को कोई बड़ी बीमारी नहीं माना जाता है, इसलिए लोग एसिडिटी की समस्या को सबसे ज्यादा अनदेखा करते हैं। एसिडिटी होने का कारण व्यक्ति की डाइट और लाइफस्टाइल हो सकते हैं। अच्छी बात ये है कि एसिडिटी को खानपान में थोड़े बदलाव करके या कुछ आसान घरेलू नुस्खों से ठीक किया जा सकता है। लेकिन एसिडिटी हमेशा सामान्य समस्या ही नहीं होती है, कुछ लोगों के लिए ये गंभीर भी हो सकती है। इस आर्टिकल में डायटिशियन साई महिमा बता रही हैं कि क्या है एसिडिटी, इसके लक्षण क्या हैं और इसे दूर करने के लिए कुछ फूड्स और घरेलू नुस्खे। तो आइए जानते हैं ऐसे कौन से आहार हैं, जो एसिडिटी (acidity)की समस्या को दूर करने में फायदेमंद होते हैं (food for reduce acidity problem)

 inside7

क्या है एसिडिटी (what is acidity)?

हिंदी में एसिडिटी को अम्लपित्त कहा जाता है। जब पित्त दोष बढ़ जाता है और वह अम्लता पैदा करता है उसे एसिडिटी कहते हैं। एसिडिटी के कारण पेट के उपरी हिस्से में जलन या फिर दर्द का अनुभव होता है और ऐसा खाना खाने के तुरंत बाद होता है। अगर आपको भी खाना खाने के बाद या सोकर उठने के बाद सीने में जलन की समस्या होती है, तो इसका मतलब है कि आपको एसिडिटी है। मुँह में खट्टा स्वाद आना साथ ही खट्टी डकार आना और दस्त या कब्ज की समस्या होना भी एसिडिटी का संकेत हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : एसिडिटी की समस्या से हैं परेशान? आपके किचन में छिपे हैं 15 उपचार

एसिडिटी किस कारण से होती है (What causes acidity)

जैसा कि पहले ही बताया जा चुका है कि एसिडिटी खानपान और लाइफस्टाइल की गड़बड़ी के कारण होने वाली समस्या है। इसलिए एसिडिटी के कई कारण हो सकते हैं जैसे:

  • 1.जल्दी-जल्दी में बहुत सारा खाना।
  • 2.जरुरत से अधिक भोजन करना।
  • 3.अधिक मिर्च और तेल मसाले वाला भोजन खाना।
  • 4.लगातार खाते रहना।
  • 5.खाना पचने के पहले ही और खा लेना।
  • 6.बहुत अधिक समय तक भूखे रहना।
  • 7.अम्ल पदार्थों का अधिक सेवन करना।
  • 8.भोजन करके तुरंत सो जाना।
  • 9.अत्यधिक चाय पीना और खाना न खाना।
  • 10.पर्याप्त नींद न होना इत्यादि।
  • 11. बार-बार धूम्रपान करना

इन सभी कारणों से एसिडिटी की समस्या उत्पन्न होती है। इसलिए इन सभी बैटन का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

inside6

एसिडिटी के शुरुआती लक्षण क्या हैं (What are the symptoms of acidity)

एसिडिटी के लक्षण इस प्रकार हैं अगर आपको ये लक्षण दिखाई देते हैं इसका मतलब आप एसिडिटी के शिकार हैं जैसे:

  • 1.भोजन के बाद सीने में लगातार जलन होते रहना।
  • 2.खट्टी डकार का निरंतर आना और गले एवं मुँह तक महसूस होना।
  • 3.पेट का फूलना और इसकी वजह से असहज महसूस होना।
  • 4.उल्टी का मन होना या उल्टी होना।
  • 5.दस्त या कब्ज का होना।
  • 6.सांस लेने में दुर्गन्ध महसूस होना।
  • 7.सिर एवं पेट में दर्द का अनुभव होना या पेट में मरोड़ जैसा महसूस होना।
  • 8.लगातार हिचकी आना और बैचैनी होना।

इसे भी पढ़ें : इन कारणों से व्रत के दौरान होती है एसिडिटी, इस तरह से पाएं पेट में जलन की समस्या से छुटकारा

एसिडिटी कम करने के प्राकृतिक तरीके क्या हैं? -(Home Remedies For Acidity)

एसिडिटी को कम करने के कुछ प्राकृतिक तरीके हैं जिन्हें आप अफना सकते हैं।

inside8

बादाम

यह पेट के रस को बेअसर करता है, दर्द से राहत देता है और एसिडिटी को पूरी तरह रोकता है। जब आप अपने भोजन को नहीं लेने की स्थिति में होते हैं तो बादाम को बादाम में डाल दें ताकि यह अत्यधिक एसिड स्राव से बचा रहे खाने के बाद 4 बादाम लें।

केला और सेब

केले में प्राकृतिक रूप से एंटासिड होता है जो रात को सोने से पहले एसिडिटी और सेब के कुछ स्लाइस के सेवन से लड़ता है जिससे ईर्ष्या या भाटा से राहत मिलती है।

नारियल पानी

नारियल पानी पीने के दौरान, शरीर का पीएच एसिडिक लेवल क्षारीय हो जाता है और यह पेट में बलगम पैदा करता है। यह फाइबर युक्त पानी पाचन का समर्थन करता है और एसिडिटी के प्रेषण को रोकता है।

पर्याप्त नींद

कम से कम 7 घंटे लगातार सोएं।

इसे भी पढ़ें : एसिडिटी के कारण हो रही है पेट और सीने में जलन? तो तुरंत इन घरेलू तरीकों का करें इस्तेमाल


एसिडिटी का निदान कैसे किया जाता है (How is acidity diagnosed)

एसिडिटी आज के समय की एक आम समस्या है जो किसी को भी हो सकती है। इसके उपचार एवं निदान बहुत आसान से हैं जो इस प्रकार हैं:

  • 1.टमाटर का सेवन एसिडिटी में राहत देता है एवं शरीर में क्षार की क्षमता को बढाता है।
  • 2.खाने के बाद रोजाना एक कप अनानास के जूस का सेवन जरुर करें।
  • 3.मिर्च मसाले एवं अत्यधिक तेल वाले भोजन से दूर रहें।
  • 4.अत्यधिक न खाएँ एवं भूख से थोडा कम ही खाएँ।
  • 5.खाने के तुरंत बाद न सोयें।
  • 6.मैदे युक्त भोजन का सेवन न करें।
  • 7.पपीते का सेवन करें।
  • 8.चाय का सेवन कम से कम करें।
  • 9.योग या किसी व्यायाम को प्रतिदिन करें।
  • 10. अदरक के टुकड़े पर काला नमक छिड़ककर चूसें
  • 11. अदरक को पानी के साथ उबालकर भी पी सकते हैं।
  • 12. लौंग चबाने से भी एसिडिटी कम होती है।

ये बहुत आसान से उपचार हैं जिन्हें आप अपना सकते हैं। और एसिडिटी से स्वयं का बचाब कर सकते हैं।

Read More Article On Other Diseases in hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK