Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

पार्टनर की इन 8 आदतों से हो सकती है शादीशुदा जिंदगी बर्बाद

मैरिज
By शीतल बिष्ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Apr 15, 2019
पार्टनर की इन 8 आदतों से हो सकती है शादीशुदा जिंदगी बर्बाद

जैसे एक पौधे को मजबूत पेड़ बनने में समय लगता है। उसे पानी के साथ—साथ देखभाल और प्यार की जरूरत पड़ती है, ठीक वैसे ही शादी भी एक ऐसा बंधन है जिसे मजबूत बनाने के लिए, पति—पत्नी दोनों को ही अपना योगदान देना जरूरी है। हर कपल चाहता है कि उनक

Quick Bites
  • रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए पति—पत्नी दोनों का योगदान जरूरी है।
  • शादी के बाद आप अपने समय का विशेष रूप से ध्यान रखें।
  • पति—पत्नी दोनों एक—दूसरे को सम्मान दें।

जैसे एक पौधे को मजबूत पेड़ बनने में समय लगता है। उसे पानी के साथ—साथ देखभाल और प्यार की जरूरत पड़ती है, ठीक वैसे ही शादी भी एक ऐसा बंधन है जिसे मजबूत बनाने के लिए, पति—पत्नी दोनों को ही अपना योगदान देना जरूरी है। हर कपल चाहता है कि उनकी शादी सफल रहे और वह हंसी—खुशी हैप्पी मैरिड लाइफ बिताएं। जिस प्रकार एक हाथ से ताली नहीं बजाई जा सकती, ठीक उसी प्रकार किसी रिश्ते को अकेले नहीं निभाया जा सकता। पति—पत्नि दोनों को एक—दूसरे के जज्बातों व कमियों को अपनाकर और अपनी कुछ आदतों को बदल कर, रिश्ते में विश्वास बनाना पड़ता है। लेकिन कई बार जाने अनजाने में आप कुछ ऐसी गलतियां कर बैठते हैं जिससे रिश्ते में प्यार कम हो जाता है। कई दफा आपकी कुछ गलत आदतों के कारण रिश्ते में रहना घुटन भरा लगने लगता है या फिर रिश्ता टूटने की कगार पर होता है। यह एक ऐसा रिश्ता है जिसका असर आपके रिश्तों पर भी पड़ता है। आइए जानते हैं कि इसके लिए पुरूषों को अपनी किन आदतों को बदलने की जरूरत है जिससे आपका रिश्ता मजबूत व खुशहाल बनें।

समय का ध्यान रखें

बैचुलर लाइफ अलग होती है और मैरिड अलग, यानि शादी से पहले भले ही आप अपने दोस्तों के साथ या घर से बाहर कितना भी वक्त क्यों न बिताते हों, लेकिन शादी के बाद आप अपने समय का विशेष रूप से ध्यान रखें। ऐसा करने से आपके रिश्ते में अनबन हो सकती है। दोस्तों को भी समय दें, मगर पत्नी को भी अलग से समय दें। अपने समय को व्यवस्थित करें और आप कब तक वापस आएंगे या कहां जा रहे हैं, यह बात पत्नी को जरूर बताएं। इससे रिश्ते में विश्वास बढ़ेगा।

घरेलू कामों में हाथ बटाएं

अगर आप अपनी पत्नी के साथ उनके कामों में हाथ बंटाते हैं तो इसके आपको दो फायदे होते हैं। पहला कि आपकी पत्नी की नजरों में आपकी इज्जत बढ़ती है और दूसरा ऐसा करने से आपको आपस में ज्यादा से ज्यादा वक्त अकेले में बितानें को मिलता है। क्योंकि यदि पत्नी पर परिवार के सारे कामों की जिम्मेदारी होगी, तो वह आपको उचित समय नहीं दे पायेगी। रिश्ते को थोड़ा रोमांटिक और मजबूत बनाने के लिए पत्नी के साथ किचन में उनका हाथ बटाईए। उनके बीमार पढ़ने पर उनका ख्याल रखिए और उनके कामों की जिम्मेदारी आप ले लीजिए।

तारीफ जरूर करें

शादी से पहले आप अपनी पत्नी की तारीफ करते हैं, लेकिन कई लोग शादी होते ही अपनी पत्नी की तारीफ करना छोड़ देते हैं। जिसकी वजह से रिश्ता बोरिंग होने लगता है। पत्नी को भी लगता है कि पहले उनके पति का उनकी तारीफ करना केवल दिखावा था। ऐसे में आप अपनी पत्नी की तारीफ का कोई मौका न छोड़ें, मौका मिलते ही उनकी तारीफ में दो शब्द जरूर बोलें। इससे उन्हें खुशी मिलेगी।

पत्नी को इंप्रेस करें

अगर आप चाहते हैं कि आपकी शादी में पहले जैसा प्यार बना रहे, तो शादी के बाद भी अपनी पत्नी को इंप्रेस करने का मौका ना छोड़ें। यानि शादी के बाद भी अपनी पत्नी को स्पेशल फील करवाएं, उन्हें सरप्राईज दें। कभी उनकी पसंद की चीज उन्हें बिना मांगे लेकर दे दीजिए तो कभी उनके साथ कोई ट्रिप प्लान करें। ऐसा करने से आपके रिश्ते की मिठास बढ़ेगी और आपकी पत्नी को कभी ऐसा महसूस नहीं होगा कि आप उन्हें पहले जैसा प्यार नहीं करते।

एडिक्शन

ड्रिंक या स्मोक करना ही एडिक्शन नहीं होता। इसके अलावा एडिक्शन जैसे सोशल मीडिया या फोन पर घंटो दोस्तो से बात करना, गेम या जुआ खेलने की लत भी आपके रिश्ते में दूरी पैदा कर देती है। इन सब आदतों के कारण आप अपनी पत्नी को अनदेखा कर देते हैं। यह अनदेखी बिना कहे ही आपके बीच दूरियां पैदा कर देती है। सोचकर देखिये यदि आपकी बीवी दिनभर अपने कामों में व्यस्त रहे।और रात को टीवी या लैपटॉप में व्यस्त रहे व सुबह उठकर सबसे पहले अपना फोन ढ़ूढे तो आपको कैसा लगेगा। इसलिए उनकी जगह खुद को रखकर देखें और ऐसी किसी आदत या लत को न पालें जो आपके रिश्ते में दरार पैदा करे।

बातें शेयर करना

हर किसी की जिंदगी में शादी से पहले और शादी के बाद कोई ऐसा इंसान होता है, जिससे वह अपनी हर बात शेयर करता है। अब वो आपके दोस्त, माता—पिता या परिवार का कोई सदस्य हो सकता है। लेकिन आपकी यह आदत आपका पार्टनर के साथ रिश्ता खराब कर सकती है। करीबियों से बातें शेयर करना अच्छी बात है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप अपने वैवाहिक जीवन की बातें भी उनसे शेयर करें। ऐसा करने से आपकी पत्नी को बुरा लग सकता है। ऐसा करने से आप उनका भरोसा भी खो सकते हैं। इसके अलावा एक और जरूरी बात कि आप यदि अपनी पत्नी के बारे में हर बात जानना चाहते हैं, तो आपको भी अपनी हर एक बात उनके साथ शेयर करनी चाहिए। आप क्या कर रहे हैं, आपकी लाइफ में क्या चल रहा है आदि।

इसे भी पढ़ें: सोशल मीडिया से प्‍यार और रिलेशनशिप में पैदा हो सकती हैं कपल्‍स के बीच दूरियां

एक—दूसरे को सम्मान दें

अगर आप चाहते हैं कि आपकी पत्नी आपको सम्मान दे, तो आपको बदले में उन्हें भी सम्मान देना चाहिए। उन पर अपने किसी भी फैसले को जबरदस्ती नहीं थोपना नहीं चाहिए। पत्नी के फैसले का सम्मान करना सीखें। आपके और आपकी पत्नी दोनों के विचार अलग—अलग हैं, हो सकता है उनका कोई फैसला आपकी नजर में गलत हो। लेकिन ऐसे में अपनी बात को सही और उनकी गलत ठहराना सही नहीं होगा। आप आराम से ऐसे मसलों को बातचीत करके समझदारी के साथ सुलझाएं। क्योंकि इन बातों का आपके रिश्ते पर भी सीधा असर पड़ता है। पत्नी को परिवार या दूसरे लोगों के सामने कभी नीचा दिखाने की कोशिश न करें, ऐसा करने से उनके सम्मान को ठेस पहुंच सकती है।

इसे भी पढ़ें: सिर्फ इन 5 चीजों पर दें ध्यान, रिश्ता हमेशा के लिए हो जाएगा गहरा और मजबूत

कमियां

रिश्तों की डोर बहुत कमजोर होती है। जिन्हें तोड़ना आसान है लेकिन जोड़ना उतना ही मुश्किल। जब कोई दो लोग साथ रहते हैं, तो उन्हें एक दूसरे की अच्छाई और कमियां दोनों का पता चलता है। लेकिन अच्छाई के साथ कमियों को आप जल्दी स्वीकार नहीं करते हैं। ऐसे में हर छोटी बात पर आपका अपने पार्टनर की कमियों को गिनाना सही नहीं है। कमियों के लिए तो आप उन्हें टोक देते हैं, पर क्या कभी पत्नी की अच्छी बातों पर उनकी तारीफ करते हैं? अगर नहीं तो यह बात आपके रिश्ते में तनाव पैदा कर दूरियां बढ़ाने के लिए जिम्मेदार है।   

Read More Article  On  Relationship In Hindi

Written by
शीतल बिष्ट
Source: ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभागApr 15, 2019

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK