• shareIcon

गर्मी की छुट्टियों में बच्चों को दिलाएं ये 6 ट्रेनिंग, जिंदगी भर आएंगी काम

परवरिश के तरीके By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 02, 2019
गर्मी की छुट्टियों में बच्चों को दिलाएं ये 6 ट्रेनिंग, जिंदगी भर आएंगी काम

गर्मी की छुट्टियां अक्सर बच्चे घूमने और खेल-कूद में बिता देते हैं। होमवर्क, असाइमेंट्स और प्रोजक्ट्स के बाद बच्चों का सारा समय खेलने में ही गुजरता है। शायद इसीलिए बच्चे पूरे साल गर्मी की छुट्टियों का इंतजार भी करते हैं। अगर आप चाहें तो बच्चों को ग

गर्मी की छुट्टियां अक्सर बच्चे घूमने और खेल-कूद में बिता देते हैं। होमवर्क, असाइमेंट्स और प्रोजक्ट्स के बाद बच्चों का सारा समय खेलने में ही गुजरता है। शायद इसीलिए बच्चे पूरे साल गर्मी की छुट्टियों का इंतजार भी करते हैं। अगर आप चाहें तो बच्चों को गर्मी की छुट्टी में कुछ ऐसी ट्रेनिंग दिला सकते हैं, जो उन्हें मजेदार भी लगेंगी और जिंदगी भर उनके काम आएंगी। इस तरह की समर क्लासेज में बच्चों को मजा भी खूब आता है और उन्हें बहुत कुछ नया सीखने को भी मिलता है। आइए आपको बताते हैं बच्चों के लिए कौन सी समर ट्रेनिंग हैं फायदेमंद।

स्विमिंग क्लास

स्विमिंग यानी तैराकी बच्चों को मजेदार लगने वाली एक्टिविटी है। आप यह तो जानते ही हैं कि स्विमिंग एक कंप्लीट बॉडी वर्कआउट है। इसलिए अगर बच्चे स्विमिंग करते हैं, तो उन्हें ढेर सारे शारीरिक और मानसिक फायदे मिलते हैं। गर्मी में स्विमिंग क्लासेज करने से बच्चा बिजी भी रहेगा और ये ट्रेनिंग जिंदगी भर उसके काम आएगी।

रोबोटिक्स और कंप्यूटर

अगर आप बचपन से ही बच्चे के मन में विज्ञान के प्रति लगाव पैदा करना चाहते हैं, तो आप उसे रोबोटिक्स और कंप्यूटर की ट्रेनिंग दिला सकते हैं। आजकल हर शहर में ऐसी ट्रेनिंग आसानी से उपलब्ध हैं। इसमें बच्चों को कोडिंग के माध्यम से छोटे-छोटे ऑटोमैटिक उपकरण और रोबोट बनाना सिखाया जाता है। बच्चों के लिए ये मजेदार भी होता है और धीरे-धीरे विज्ञान के प्रति उनकी दिलचस्पी भी बढ़ती जाती है।

इसे भी पढ़ें:- तेज गर्मी और धूप से बिगड़ सकती है बच्चों की सेहत, मां-बाप जरूर बरतें ये 6 सावधानियां

योगा और ध्यान

गर्मी की छुट्टियों में आप अपने बच्चों को योगासन और ध्यान के लिए योगा क्लासेज भी भेज सकते हैं। योगासन जहां बच्चों को शारीरिक रूप से स्वस्थ रखेगा, वहीं ध्यान के द्वारा वो मानसिक रूप से स्वस्थ रहेंगे। आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत में 25 साल की उम्र से बड़े 74% लोग स्ट्रेस या डिप्रेशन का शिकार हैं। ऐसे में बच्चों के लिए ध्यान की ट्रेनिंग बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है। ध्यान करने से तनाव और डिप्रेशन कभी नहीं होगा।

कुकिंग क्लास

लड़की हो या लड़का, खाना बनाना सभी को आना चाहिए। अगर आपके पास समय है तो आप अपने बच्चे को घर पर ही कुकिंग सिखाएं। अगर समय नहीं है, तो आप उसे कुकिंग क्लासेज भी भेज सकते हैं। बच्चे जब नई-नई डिश सीखने के बाद आपको बनाकर खिलाएंगे, तो आपसे ज्यादा उन्हें खुशी मिलेगी।

इसे भी पढ़ें:- ये 5 संकेत बताते हैं बिगड़ रहा है आपका बच्चा, पैरेंट्स दें ध्यान

लैंग्वेज क्लास

अगर आपका बच्चा थोड़ा बड़ा है, तो आप उसे लैंग्वेज की क्लास भी भेज सकती हैं। अपनी मातृ भाषा के अलावा बच्चे को जितनी ज्यादा भाषाएं आएंगी, उसके भविष्य के लिए फायदेमंद होगा। आने वाला समय एक प्रोफेशनल के तौर पर बहुत चुनौती भरा होने वाला है। ऐसे में जिस व्यक्ति में जितनी ज्यादा स्किल्स होंगी और जितनी ज्यादा भाषाएं वो जानता होगा, उसे उतनी ही सफलता मिलेगी। नई भाषा सीखना अपने आप में रोमांचक है। अगर बच्चे की अंग्रेजी कमजोर है, तो अंग्रेजी की क्लासेज लगवाएं। इसके अलावा आजकल फ्रेंच, उर्दू, स्पैनिश आदि भाषाओं का भी ट्रेंड बढ़ रहा है।

पर्सनैलिटी डेवलपमेंट

स्कूल, कॉलेज और घर में बच्चों को किताबी ज्ञान तो मिल जाता है मगर कई बार व्यवहारिक ज्ञान की उनमें कमी देखी जाती है। यही कारण है कि कई बार पढ़ाई-लिखाई में बहुत अच्छा होने के बाद भी बच्चों को जिंदगी में सफलता नहीं मिलती है। इसलिए अपने बच्चे की पर्सनैलिटी और माइंड पावर डेवलप करने के लिए आप उसे पर्सनैलिटी डेवलपमेंट की क्लासेज भी लगवा सकते हैं।

Read More Articles On Tips For Parents in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK