आपकी रसोई में रखा ये 6 प्रकार का जहर बन सकता है उल्टी, दस्त का कारण, कहीं आप तो नहीं कर रहे सेवन

Updated at: Jun 28, 2019
आपकी रसोई में रखा ये 6 प्रकार का जहर बन सकता है उल्टी, दस्त का कारण, कहीं आप तो नहीं कर रहे सेवन

आपके घर की रसोई में खाने से लेकर खाना बनाने तक के सभी सामान मौजूद होते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं, किचन में रखे इन सभी चीजों में कुछ ऐसी भी चीजें होती हैं जो आपके लिए जहर का काम करती हैं। 

Jitendra Gupta
स्वस्थ आहारWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Jun 28, 2019

घर की साफ-सफाई करना जितना जरूरी है उतना ही रसोई में इस्तेमाल होने वाली हर चीज पर गौर करना भी बेहद जरूरी है। खाने-पीने के सामान को अच्छी तरह से रखना बहुत जरूरी है। आपके घर की रसोई में खाने से लेकर खाना बनाने तक के सभी सामान मौजूद होते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं, किचन में रखे इन सभी चीजों में कुछ ऐसी भी चीजें होती हैं जो आपके लिए जहर का काम करती हैं।

कभी-कभार इस्तेमाल की जाने वाली यह चीजें आपके किचन में जहर फैलाने का काम करता है। रसोई घर कई चीजों व खाद्य पदार्थों से भरा एक भंडार है, जहां मौजूद कुछ चीजों का इस्तेमाल प्रतिदिन, तो कुछ का इस्तेमाल कभी-कभार करते हैं। जरा सी अनदेखी से सामान जल्दी खराब होने लगता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन्हीं खराब चीजों के कारण जहर आपके किचन में पैर पसारता है। अगर आप इस बात से वाकिफ नहीं हैं तो हम आपको ऐसे कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपको बीमार कर सकती हैं।

चेरी की गुठली   (Cherry Pits)

चेरी के बीच में पाई जाने वाली कठोर गुठली  प्रूसिक एसिड (एक प्रकार का विष) से भरी होती है, जिसे साइनाइड कहा जाता है, जो कि जहरीली होती है। लेकिन अगर आप गलती से एक गुठली निगल भी जाते हैं तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है। यह गुठली आसानी से आपके पाचन तंत्र से गुजरती हुई दूसरे छोर से बाहर निकल जाएगी। बस ध्यान रखें कि आप चेरी खाते वक्त इसे चबाएं न और न ही चबाने के बाद उसे निगले क्योंकि यह आपकी लिए घातक साबित हो सकता है।

सेब के बीज (Apple Seeds)

सेब के बीज में भी साइनाइड होता है, इसलिए मुट्ठी भर उन्हें फेंकना स्मार्ट तरीका नहीं है। सौभाग्य से सेब के बीज पर एक सुरक्षात्मक कोटिंग होती है, जो साइनाइड को आपके पाचन तंत्र में प्रवेश करने से रोकती है अगर आप गलती से उन्हें खा भी लेते हैं तो आपके स्वास्थ्य को नुकसान नहीं पहुंचेगा लेकिन सतर्क रहना अच्छा होता है। सेब के बीजों में मौजूद साइनाइड का सेवन तेजी से सांस लेने, दौरे और संभवतः मृत्यु का कारण बन सकता है।

इसे भी पढ़ेंः लिवर को खराब होने से बचाते हैं चाय, पानी और कॉफी, कैंसर में भी है फायदेमंद

जायफल (Nutmeg)

जब आप कुछ अच्छा बना रहे होते हैं तो उसमें थोड़ी सी मात्रा में जायफल डालना एक अच्छा और पौष्टिक आहार साबित हो सकता है। लेकिन चम्मच भर के जायफल का सेवन आपके सिस्टम के लिए बड़ी समस्याएं पैदा कर सकता है।

हरे आलू  (Green Potatoes)

आलू के पत्ते, अंकुर और भूमिगत तनों में ग्लाइकोकलॉइड नामक एक विषाक्त पदार्थ होता है। ग्लाइकोकलॉइड्स के कारण आलू हरा दिखता है, जब यह प्रकाश के संपर्क में आता है तो आलू को नुकसान पहुंचता है और उसकी उम्र बढ़ जाती है। उच्च ग्लाइकोकलॉइड वाला आलू खाने से मतली, दस्त, भ्रम, सिरदर्द और मृत्यु हो सकती है।

इसे भी पढ़ेंः विटामिन बी कॉम्पलेक्स की कमी आपकी स्मरण शक्ति को बना सकती है कमजोर, जानें इसके अन्य फायदे

राजमा  (Raw Kidney Beans)

सभी बीन किस्मों में से राजमा में लेक्टिंस  की सबसे अधिक सांद्रता पाई जाती है। लेक्टिंस एक प्रकार का विष है, जो आपके पेट में दर्द कर सकता है, आपको उल्टी आ सकती है, या फिर आपको दस्त लग सकते हैं। कच्चे राजमा के केवल 4-5 बीन ही इन साइड इफेक्ट्स का कारण बन सकते हैं। यही कारण है कि खाने से पहले आपको इन बीन्स को उबालना चाहिए।

कड़वे बादाम (Bitter Almonds)

कड़वे और मीठे दोनों प्रकार के बादाम में एमिग्डालिन होता है। यह एक रासायनिक यौगिक है, जो साइनाइड में बदल सकता है, लेकिन कड़वा बादाम में इसका स्तर सबसे ज्यादा पाया जाता है। मीठे बादाम को नाश्ते के लिए सुरक्षित माना जाता है लेकिन कड़वे बादाम खाने से आपको ऐंठन, मतली और दस्त हो सकते हैं।

Read More Articles On Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK