• shareIcon

मौसम बदलने पर ये 5 वायरस बढ़ाते हैं सर्दी-जुकाम की समस्‍या, इससे बचने के लिए छोड़ दें ये 5 आदतें

अन्य़ बीमारियां By अतुल मोदी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 17, 2019
मौसम बदलने पर ये 5 वायरस बढ़ाते हैं सर्दी-जुकाम की समस्‍या, इससे बचने के लिए छोड़ दें ये 5 आदतें

Tips for Avoiding Cold and Flu: मौसम में बदलाव के साथ सर्दी जुकाम एक गंभीर समस्‍या बन जाती है, इसलिए इसका इलाज करने के बजाए बचाव करना जरूरी है। 

सुबह और रात की हवा में नमी है। धीरे-धीरे ठंड दस्‍तक दे रही है, लोग अब चादर छोड़ कंबल बाहर निकालने लगे हैं। इसका केवल एक ही मतलब हो सकता है: ठंड और फ्लू का मौसम आधिकारिक तौर पर आ गया है। हालांकि, आप खुद से कुछ कदम उठा सकते हैं जो वास्तव में कीटाणुओं से रक्षा करते हैं। बदलते मौसम में थोड़ी सी लापरवाही आपको बीमार बना सकती है, जो आपको सप्‍ताह और महीने भर के लिए बिस्‍तर पर भेज सकती है। यहां हम आपको सर्दी-जुकाम से बचने के लिए कुछ खराब आदतों को छोड़ने की सलाह दे रहे हैं, जिससे आप इस संक्रमण से खुद को मुक्‍त रख पाएंगे।

सर्दी-जुकाम फैलाने वाले वायरस

मेडिकल न्‍यूज डूडे के मुताबिक, सामान्य सर्दी-जुकाम 200 से अधिक अलग-अलग वायरस के कारण हो सकती है। लगभग 50 प्रतिशत जुकाम राइनोवायरस के कारण होता है, अन्य अन्‍य कारक वायरस में शामिल हैं:

  • ह्यूमन पैरेनफ्लूएंजा वायरस
  • ह्यूमन मेटाफॉमीवायरस
  • कोरोनैविरस एडीनोवायरस
  • ह्यूमन रेस्‍पाइरेट्री सिंक्रोसियल वायरस
  • एंटेरोवायरस
cold and flu

सर्दी-जुकाम से बचने के लिए छोड़ें ये बुरी आदतें

हाथ धोना 

अक्‍सर लोग खांसने और छींकने के बाद हाथ नहीं धोते हैं, जिसके कारण वायरस तेजी से फैलता है। टॉयलेट जाने के बाद और खाना खाने से पहले हाथ जरूर धोना चाहिए। इससे आप खुद को काफी हद तक इससे बचा सकते हैं। 

सैनेटाइजर का प्रयोग

कई शोध में ये साबित हो चुकी है कि सैनेटाइजर बैक्‍टीरिया को मारता है। कुछ लोग पानी की उपलब्‍धता नहीं होने पर हाथ नहीं धोते हैं। जबकि, अगर आपके पास पानी नहीं है तो आप सैनेटाइजर का उपयोग कर सकते हैं। इससे आप सर्दी-जुकाम से खुद को बचा सकते हैं। (हाथ के सारे बैक्‍टीरिया को मार देता है घर का बना ये हर्बल हैंड वॉश, जानें बनाने का तरीका)

हैंड ड्रायर का प्रयोग

ये मशीनें भले ही ज़ोर-शोर से चलती हैं, लेकिन ये आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकती हैं। अध्ययन से पता चलता है कि एक जेट एयर ड्रायर पेपर तौलिये की तुलना में 1,300 गुना अधिक कीटाणु फैलाता है। यदि उपलब्ध हो तो टिशू या तौलिये का उपयोग करें। 

इसे भी पढ़ें: मौसम बदलने पर बढ़ जाती है साइनस की समस्या, जानें क्या हैं इसके लक्षण और आसान इलाज 

इन अंगों को न छुएं 

अपनी आंखें, नाक, या मुंह को कीटाणु रहित हाथों से स्पर्श करना बीमार न होने का एक निश्चित तरीका है। और हो सकता है कि आप इसे एहसास से ज्यादा कर रहे हों। एक अध्ययन में पाया गया कि औसत वयस्क प्रति घंटे लगभग 16 बार अपना चेहरा छूते हैं। अगर आप गंदे हाथों से ऐसा करते हैं तो यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें: क्‍या आप भी सर्दी-जुकाम से परेशान हैं? ये 6 चीजें आपको तुरंत दिलाएंगी राहत

हैंड शेक और हग करने से बचें

अपने स्वास्थ्य की रक्षा कर रहे हैं तो उन दोस्तों और रिश्तेदारों को छूने, हाथ मिलाने या गले लगने से बचना चाहिए जो बीमार हैं, खासकर अगर वे खांसने और छींकने वाले हैं। अगर आप स्‍वयं इस चीज से परेशान हैं तो आपको भी स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति से हाथ मिलाने या हग करने से बचना चाहिए।

बचने के अन्‍य उपाय

  • संक्रमित व्यक्ति के साथ निकट संपर्क से बचें।
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत रखने में मदद करने के लिए विटामिन से भरपूर फल और सब्जियां खाएं।
  • छींकने या खांसने पर, रूमाल या टिशू का प्रयोग करें और हाथों को धोएं।
  • यदि आप अपने हाथों में छींकते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप उन्हें साबुन और पानी से तुरंत धो लें।
  • यदि आपके पास कोई रूमाल नहीं है, तो अपने हाथों के बजाय कोहनी के अंदर खांसी करें।
  • अपने हाथों को नियमित रूप से धोएं; कोल्ड वायरस छूने से एक से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। 
  • अपने घर में फर्श को साफ रखें - विशेष रूप से रसोई या बाथरूम में।
  • अपने चेहरे, खासकर अपनी नाक और मुंह को छूने से बचें।

Read More Articles On Other Diseases IN Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK