वर्किंग कपल्स इन 5 तरीकों से बना सकते हैं जिंदगी आसान, जानें मैनेजमेंट का सही तरीका

वर्किंग कपल्स इन 5 तरीकों से बना सकते हैं जिंदगी आसान, जानें मैनेजमेंट का सही तरीका

पहले के समय में समाज ने महिला और पुरूष दोनों के कामों को बांटा हुआ था। बाहर के काम के लिए पुरूष और घर के कामों के लिए महिला को मुक्ष्‍य भूमिका में रखा जाता था। लेकिन बदलते समय और सोच के साथ महिला और पुरूष दोनों की भूमिका भी बदली है। लेकिन पति-

पहले के समय में समाज ने महिला और पुरूष दोनों के कामों को बांटा हुआ था। बाहर के काम के लिए पुरूष और घर के कामों के लिए महिला को मुक्ष्‍य भूमिका में रखा जाता था। लेकिन बदलते समय और सोच के साथ महिला और पुरूष दोनों की भूमिका भी बदली है। आज महिलाएं भी अपने करियर के लिए सजग हैं और पुरूषों के समान नौकरी-पेशे में हैं। ऐसे में बहुत से घर में पति-पत्‍नी दोनों वर्किंग होते हैं। जिसमें कई लोगों का घर व ऑफिस दोनों संभालना मुश्किल हो जाता है। पति-पत्‍नी दोनों का वर्किंग होने के कारण कई बार इसका प्रभाव आपके परिवार व पर्सनल लाइफ पर भी पड़ता है। ऐसे में आइए हम आपको बताते हैं ये टिप्‍स, जिन्‍हें अपनाकर वर्किंग कपल्‍स अपनी लाइफ को आसानी से मैनेज कर सकते हैं और हंसी-खुशी रह सकते हैं। 

काम को जेंडर के हिसाब से न बांटें

कई लोगों का मानना कि घर का काम करना महिला की ही जिम्‍मेदारी है या फिर बैंक या कुछ कागजी कामों को करना पुरूष का काम है। आप दोनों को समझना होगा, कि लड़का हाने का यह मतलब नहीं कि आप घर के काम नहीं कर सकते, किचन में खाना नहीं बना सकते। इसके अलावा आप महिला हो तो आप बिजली का बिल नहीं भर सकती या पुरूषों के किसी काम को नहीं कर सकती। काम को काम के नजरिये से देखें और जो भी फ्री बैठा है वह दूसरे की काम को पूरा करने में मदद करें। इससे काम मिलजुल कर जल्‍दी होगा और आपकी परेशानियां भी कम होंगी। 

इसे भी पढें: सगाई से पहले वाली मुलाकात पर न करें ये 5 गलतियां, रिश्‍ता शुरू होने से पहले हो जाएगा खत्‍म

वीकेंड्स पर बाहर जाएं

अगर आप दोनों पति-पत्‍नी वर्किंग हैं और आपको मिलने वाले वीकेंड को आप आराम करने में या फिर किसी काम में ही निकाल देते हैं, तो ऐसा न करें। अपने वीकेंड्स को कभी अपने पार्टनर के लिए भी फ्री रखें और कहीं बाहर घूमने या कोई ट्रिप प्‍लान करें। ऐसा हर वीकेंड संभंव नहीं है, लेकिन महीने-दो-महीने में एक बार। इससे आप एक दूसरे के साथ अपना क्‍वालिटी टाइम बिता पाएंगे। जिससे दोनों की जिंदगी में खुशी होगी। 

पति-पत्‍नी बच्‍चे का ख्‍याल रखें

अगर आप पेरेंट्स हैंख्‍ तो आपकी जिम्‍मदेारी और भी बढ़ जाती है। ऐसे में आपको अपनी लाइफ को मैनेज करना बहुत जरूरी है, क्‍योंकि इसका बुरा प्रभाव आपके बच्‍चे पर भी पड़ सकता है। आप दोनों ध्‍यान रखें कि ऑफिस से आने के बाद कोई एक ही बच्‍चे की देखभाल न करे, बल्कि यह दोनों का फर्ज है। अक्‍सर महिला ही बच्‍चे की देखभाल में लग जाती है, जिससे पत्‍नी व बच्‍चे दोनों पर इसका असर पड़ता है। आपका बच्‍चे और पत्‍नी के साथ टाइम बिताना आपको उनके करीब लाएगा। 

इसे भी पढें: अपने पेरेंट्स को कैसे बताएं कि आप रिलेशनशिप में हैं, ताकि न बिगड़े आपकी बात

पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को अलग रखें

अगर आप दोनों पति-पत्‍नी वर्किंग हैं, तो एक बात का विशेष ध्‍यान रखें कि आप अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को अलग-अलग रखें। घर-परिवार के साथ होते हुए ऑफिस का काम लेकर न बैठें। जब आप घर में हों तो परिवार को प्राथमिकता दें। भले ही दो खर्चे कम करने पड़ें, लेकिन ओवरटाइम न करें। 

लड़ाई-झगड़ों को जल्‍दी सुलझा लें 

पति-पत्‍नी रसोई घर में रखे बर्तनों के समान हैं। जिनकी एक-दूसरे को जरूरत भी पड़ती है, लेकिन साथ होने पर उन‍की आपज भी होती है। यानि लड़ाईयां हर पति-पत्‍नी के बीच होती हैं, लेकिन लड़ाई को बढ़ा देना कोई हल नहीं। आप कोशिश करें कि लड़ाई-झगड़ों को जल्‍दी सुलझा लें और घर में शांति रखें। एक दूसरे को स्‍पेस दें। जिससे रिश्‍ते में दरार न आए। क्‍योंकि घर का कलेश और लड़ाईयां आपके काम को भी प्रभावित करते हैं। 

Read More Article On Relationship In Hindi 

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।