• shareIcon

अक्सर पैर दर्द रहने के पीछे हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें कैसे पाएं इस दर्द से राहत

विविध By जितेंद्र गुप्ता , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 18, 2019
अक्सर पैर दर्द रहने के पीछे हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें कैसे पाएं इस दर्द से राहत

कई बार-बार हम दिन में कुछ ज्यादा ही चल लेते है या फिर खेल-कूद में अपने शरीर की ओर ध्यान नहीं दे पाते। जिस कारण मसल्स को आराम नहीं मिल पाता और हमारे पैरों व हाथों में ऐंठन होने लगती है।

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में हम अक्सर चलने-फिरने पर ध्यान नहीं देते हैं। कई बार-बार हम दिन में कुछ ज्यादा ही चल लेते है या फिर खेल-कूद में अपने शरीर की ओर ध्यान नहीं दे पाते। जिस कारण मसल्स को आराम नहीं मिल पाता और हमारे पैरों व हाथों में ऐंठन होने लगती है। कई बार पैरों में तेज दर्द होने लगता है और पैर सुन्न भी पड़ने लगते हैं। पैरों में दर्द हड्डी के टूटने, गहरे घाव, चोट के कारण हो सकता है। लेकिन कभी-कभार हमें जानकारी नहीं होती कि हमारे पैरों में दर्द किस वजह से हो रहा है। अगर आपके पैरों में भी दर्द रहता है और आपको इस बात की जानकारी नहीं है कि कैसे यह दर्द बढ़ रहा है तो हम आपको 5 ऐसे कारण बताने जा रहे हैं, जो पैर दर्द का कारण बन सकते हैं।

आपके जूते (Your Shoes)

हाई हिल्स आपके पैर की एड़ियों पर अधिक दबाव डालती है, जिसके कारण आपके पैर का प्राकृतिक मांस पतला हो जाता है जहा उसकी सबसे ज्यादा जरूरत होती है। इसलिए अगर आप बहुत ज्यादा चलते हैं तो हमेशा हाई हिल्स से बचकर ही रहें। फ्लिप-फ्लॉप, नुकीले या फिर फ्लेक्सीबल जूते आपके पैर दर्द का कारण बन सकते हैं। अगर आपके जूते आपकी गतिविधियों से मेल न खाएं तो उन्हें बदलिए और ऐसा जूतों का चुनाव करें, जो आपके पैर में फिट आएं और आपका पैर नरम रहे।

गठिया (Arthritis)

कई प्रकार का गठिया आपके पैर को प्रभावित कर सकता है। गठिया का सबसे आम प्रकार ऑस्टियोआर्थराइटिस तब होता है जब उपास्थि (cartilage) टूट जाती है और हड्डी से हड्डी रगड़ने लगती है। गठिया आपके पैर में यूरिक एसिड क्रिस्टल बनाता है, जिसके कारण दर्द और सूजन होने लगती है। वहीं रूमेटाइड अर्थराइटिस (rheumatoid arthritis) , ल्यूपस और अन्य विकारों में आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली आपके पैरों और टखनों के जोड़ों पर हमला करती है, जिसके कारण सूजन होती है।

इसे भी पढ़ेंः  क्या सच है गौमूत्र से कैंसर का इलाज? जानें इससे जुड़े मिथ और तथ्य

गोखरू (Bunion)

आपका डॉक्टर इसे हैलक्स वैल्गस कह सकता है। पैर के अंगूठे के जोड़ के निचले भाग में बनने वाली हड्डी में उभार आने पर यह स्थिति दर्द का कारण बनती है। यह वक्त के साथ-साथ धीरे-धीरे बढ़ता है और समस्या गंभीर होती जाती है। गोखरू अक्सर परिवार में होता है।  ऊंची एड़ी के जूते के कारण यह स्थिति नहीं बनती लेकिन यह स्थिति को खराब जरूर कर सकती है। बर्फ, विशेष पैड और खुले जूते इस स्थिति में आपकी मदद कर सकते हैं। हालांकि कुछ मामलों में आपका डॉक्टर सर्जरी का भी सुझाव दे सकता है।

स्ट्रेस फ्रेक्चर (Stress Fracture)

दौड़ते, बास्केट बॉल, टेनिस और अन्य खेलों में पैरों के सहारे बार-बार कूदना या फिर दौड़ने से आपके तलवे की सबसे बड़ी हड्डी पर दबाव पड़ता है, जिसके कारण वह टूट जाती है। ऐसा होने पर आप किसी भी प्रकार की गतिविधि करेंगे तो आपके पैर में सूजन या दर्द होगा, जिसके कारण चोट भी आ सकती है। 6 से 8 सप्ताह तक आराम आपको इस चोट से उबरने में मदद कर सकता है। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको अधिक गंभी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है, जिसका उपचार आगे जाकर मुश्किल हो सकता है।

इसे भी पढ़ेंः  खड़े होकर पानी पीने से किडनी और ह्रदय रोग का बढ़ जाता है खतरा, जानें पानी पीने का सही तरीका

टूटी हुई हड्डी (Broken Bone)

आपका पैर छोटी-छोटी हड्डियों से बना होता है। जब आप खेलते वक्त गिरते हैं या फिर किसी दुर्घटना के कारण इनमें से एक का टूटना बहुत आसान होता है। आपके पैर में चोट लगने पर इसमें सूजन आ सकती है। टूटे हुए हिस्से के आस-पास का आकार बिगड़ सकता है, जिसके कारण आपको कुछ सही प्रतीत नहीं होगा। डॉक्टर आपकी हड्डी को सीधा करने का प्रयास कर सकता है ताकि आपको आराम मिले। गंभीर रूप से हड्डी टूटने पर सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है।

Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।