• shareIcon

5 बातें जो केवल पेरेंट्स ही बच्‍चों को सिखा सकते हैं

Updated at: Apr 29, 2019
परवरिश के तरीके
Written by: शीतल बिष्‍टPublished at: Apr 29, 2019
5 बातें जो केवल पेरेंट्स ही बच्‍चों को सिखा सकते हैं

हर माता-पिता चाहते हैं कि उनके बच्‍चे जिंदगी में एक कामयाब इंसान बनें। इसलिए वह कोशिश करते हैं, कि उनके बच्‍चे मजबूत बनें, ताकि उनकी जिंदगी में कोई भी परेशानी आए वह उसका डटकर सामना कर सकें। लेकिन अक्‍सर परिवार का प्‍यार-दुलार के चल

हर माता-पिता चाहते हैं कि उनके बच्‍चे जिंदगी में एक कामयाब इंसान बनें। इसलिए वह कोशिश करते हैं, कि उनके बच्‍चे मजबूत बनें, ताकि उनकी जिंदगी में कोई भी परेशानी आए वह उसका डटकर सामना कर सकें। लेकिन अक्‍सर परिवार का प्‍यार-दुलार के चलते बच्‍चों को आंखों का तारा समझा जाता है। जिसकी वजह से बच्‍चे बहुत नाजुक बन जाते हैं। बच्‍चों को प्‍यार देने के साथ जरूरी है कि माता-पिता बच्‍चों को कुछ महत्‍वपूर्ण बातें भी जरूर सिखाएं, जिससे कि आगे चलकर आपके बच्‍चे जीवन की हर परीक्षा में सफल हो पाएं। किसी भी बच्‍चे की परवरिश में माता-पिता दोनों की महत्‍वपूर्ण भूमिेका होती है, इसीलिए यदि आपका बच्‍चा कुछ अच्‍छा या बुरा  काम करता है, तो दोनों ही स्थिति में माता-पिता दोनों का ही नाम आता है। आइए जानते हैं एसी कौन सी बाते हैं, जो केवल पेरेंट्स ही बच्‍चों को सिखा सकते हैं। 

आत्‍मविश्‍वास 

पेरेंट्स की सबसे बड़ी जिम्‍मेदारी होती है कि वह अपने बच्‍चों में अच्‍छे संस्‍कार के साथ-साथ उनमें आत्‍मविश्‍वास भी पैदा करें। बच्‍चों को सिंखाएं कि नामुमकिन कुछ भी नहीं, उसे खुद पर विश्‍वास रखने की सीख दें। ताकि भविष्‍य में वह किसी भी परिस्थिति में घबराए नहीं और हर मुश्किल का डटकर सामना करे। जिंदगी के हर मोड़ पर चाहे वह परर्सनल लाइफ हो या प्रोफेशनल लाइफ, आत्‍मविश्‍वास होगा तो वह हर मुसीबत से निकल आएंगें और खुद को शाबित कर दिखाएंगे। 

इसे भी पढें: ये 5 संकेत बताते हैं बिगड़ रहा है आपका बच्चा, पैरेंट्स दें ध्यान

सही और गलत में फर्क 

आप अपने बच्‍चों को सही गलत में फर्क करना जरूर सिखाएं। जिससे वह अपनी लाइफ के भी स‍ही गलत फैसलों को आसानी से चुन सकें। बच्‍चों को एक जरूरी बात जरूर सिखाएं, कि जो व्‍यक्ति आपको इज्‍जत व सम्‍मान देता हो आप भी उसे इज्‍जत व सम्‍मान दें। जिंदगीं में वो काम करें, जिसमें आपको खुशी मिले क्‍योंकि खुशी से बढ़कर कुछ नहीं है। 

स्‍वार्थी व अभद्र न बनें 

बच्‍चों को एक महत्‍वपूर्ण बात जरूर सिखाएं कि वह सबकी मदद करे। आप जैसा करते हैं, आपका बच्‍चा भी वही सब सीखता है। इसलिए अगर आप स्‍वार्थी बनते है, दूसरों की मदद करने से पीछें हटते हैं, तो आपके बच्‍चे भी वही सब सीखते हैं। इसके अलावा कई माता-पिता अपने बच्‍चों की गलत आदतों पर पर्दा डाल देते हैं, जिससे बच्‍चे और अभद्र व शैतान होते जाते हैं। इसलिए बच्‍चों की गलती पर उसे अनदेखा न करें।   

गलत आदतें

अक्‍सर बच्‍चा वह सब सीखता है, जैसा कि उसके आस-पास का माहौल हो। इसलिए जरूरी है कि माता-पिता अपने बच्‍चे को उचित माहौल में रखें। जहां बच्‍चा अच्‍छी बातें सीखे। जैसे आप भले ही पड़ोसी के साथ मनमुटाव बनाकर रखें, लेकिन बच्‍चों को उनके साथ लड़ाई या अनबन ना करने दें। कई बार बच्‍चे अपने माता-पिता को देखकर पड़ोसी से लड़ता है और माता-पिता इस बात पर बच्‍चे को ड़ांटने के बजाय उसका सर्पोट करते हैं। लेकिन यह बात सरासर गलत है, इससे बच्‍चों के मन में नफरत की भावना पैदा होती है, जिसका आने वाले समय में आपको भी सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा चोरी नहीं करना, झूठ न बोलना, ये सभी बातें सिखाएं। 

इसे भी पढें: बच्चों को चिड़चिड़ेपन से बचाना है, तो मां-बाप रखें इन 5 बातों का ख्याल

 

मेहनत

हर माता-पिता अपने बच्‍चे की इच्‍छाओं को पूरा करने की कोशिश करते हैं। बच्‍चे की हा जरूरत को पूरा करते हैं, लेकिन बच्‍चे को हर चीज असानी से मिल जाने पर उसकी अहमियत मालूम नहीं पड़ती। इसलिए पेरेंट्स बच्‍चे की हर जायज-नाजायज इच्‍छा को पूरा न करें, बल्कि उसे मेहनत करना सिखाएं। जिससे वह मेहनत कर खुद के दम पर चीजों को हासिल करने की कोशिश करे। 

Read More Article On Parenting In Hindi  

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK