सोने के दौरान इन 5 चरणों से गुजरती है आपकी नींद, जानें नींद के दौरान क्या करता है आपका मस्तिष्क

Updated at: Jun 23, 2020
सोने के दौरान इन 5 चरणों से गुजरती है आपकी नींद, जानें नींद के दौरान क्या करता है आपका मस्तिष्क

नींद दो प्रकार की होती है : आरईएम या तीव्र नेत्र गति नींद और गैर-आरईएम नींद। गैर-आरईएम नींद में कई चरण होते हैं, जबकि आरईएम नींद केवल एक ही चरण हैं।

Pallavi Kumari
तन मनWritten by: Pallavi KumariPublished at: Jun 23, 2020

स्वस्थ रहने के लिए जितना जरूरी एक अच्छा खान-पान और लाइफस्टाइल है, उतना ही जरूरी आपकी नींद भी है। आपके पास जितना भी काम हो और वक्त की कमी हो तब भी आपको अपनी नींद पूरी करने के लिए पर्याप्त समय निकालना ही चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि नींद की कमी पहले तो आपके मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है और फिर धीरे-धीरे आपके शारीरिक स्वास्थ्य को भी खराब करने लगती है। नींद की कमी का प्रभाव इतना खराब होता है कि आपके शरीर के कई अंग के कामकाज में गड़बड़ी आ सकती है इसलिए एक अच्छी नींद बहेद जरूरी है। अच्छी नींद की बात करें, तो इसके कई चरण होते हैं पर क्या आपने कभी ये सोचा है कि आप जब नींद में होते हैं तो आपका शरीर क्या कर रहा होता है। नहीं न। तो आइए आज हम आपको आपके नींद के दौरान होने वाले मस्तिष्क की गतिविधियों के बारे में बताएंगे। 

insidesleeping

एक अच्छी नींद यानी कि एक गहरी नींद में सोना

गहरी नींद में सोना शरीर के लिए कई मायनों में फायदेमंद है। जब आप गहरी नींद में होते हैं, तो शरीर आपके मांसपेशियों की मरम्मत कर रहा होता है। वहीं हड्डियों को आराम मिलता और इससे उनका स्वस्थ विकास होता है। साथ ही अगर आप एक बेहतर नींद में सोएंगे तो आपके हार्मोन का प्रबंधन अच्छा रहेगा और आप महसूस करेंगे कि आपके मूड स्विंग्स कम हो गए हैं। जो लोग अच्छी नींद में सोते हैं उनकी यादाश्त बहुत अच्छी मानी जाती है। वो अपने यादों को क्रमबद्ध कर पाते हैं और सुबह एक्टिव नजर आते हैं।

नींद के 5 चरण (Stages of Sleep)

नींद की पांच अवस्थाएं होती हैं, जिसमें REM और गैर-REM नींद दोनों शामिल होती हैं, जिसे हम प्रत्येक रात में चक्रित करते हैं। ये सारी गतिविधियां हमारे मस्तिष्क में हो रही होती हैं और हम नींद में होते हैं इसलिए हमें कुछ पता नहीं होता है। तो आइए जानते हैं नींद के विभिन्न चरणों के बारे में।

चरण 1 : नींद की शुरुआती चरण

गैर-आरईएम नींद का यह चरण तब होता है जब आप सोना शुरू करते हैं और आम तौर पर केवल कुछ ही मिनटों तक रहता है। ये शुरुआती प्रोसेस होता है। इस चरण के दौरान:

  • -दिल की धड़कन और सांस धीमी हो जाती है।
  • -मांसपेशियां शिथिल होने लगती हैं।
  • -आप अल्फा और थीटा मस्तिष्क तरंगों का उत्पादन करते हैं।
insidebodyinsleepmode

चरण 2 : शरुआत के बाद लगभग 25 मिनट का चरण

गैर-आरईएम नींद का यह अगला चरण है। ये हल्की नींद की अवधि होती है यानी कि नींद की शरुआत के बाद का तुरंत चरण। इससे पहले कि आप गहरी नींद में प्रवेश करें ये नींद और यह लगभग 25 मिनट तक रहता है। इस चरण के दौरान:

  • -दिल की धड़कन और धीमी हो जाती है।
  • -कोई आंख मूवमेंट नहीं होता है
  • -शरीर का तापमान गिरता है।
  • -मस्तिष्क की तरंगें ऊपर और नीचे फैलती हैं, जिससे "स्लीप स्पिंडल" का निर्माण होता है।

चरण 3 और 4: गहरी नींद की शुरुआत

गैर-आरईएम नींद के ये अंतिम चरण सबसे गहरी नींद के चरण हैं। तीन और चार चरणों को धीमी गति, या डेल्टा नींद के रूप में जाना जाता है। आपका शरीर इन अंतिम नॉन-आरईएम चरणों में कई महत्वपूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले कार्य करता है।इन चरणों के दौरान:

  • -नींद से उत्तेजना होती है।
  • -दिल की धड़कन और श्वास सबसे धीमी गति से होती है।
  • -कोई आंख का मूवमेंट शांत हो जाता है।
  • -शरीर पूरी तरह से आराम है।
  • -डेल्टा मस्तिष्क तरंगें मौजूद हो जाती हैं।
  • - मांसपेशियों की मरम्मत और विकास और सेल पुनर्जनन होता है।
  • -प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) मजबूत होता है।

इसे भी पढ़ें : नीदं में गड़बड़ी बन सकती है स्‍ट्रोक सर्वाइवरों के लिए कार्डियो-सेरेब्रोवास्कुलर का जोखिम का कारक

चरण 5: REM नींद यानी कि सपने देखने वाला चरण

ये नींद के चरण का आखिरी हिस्सा है। इस चरण के आखिरी हिस्से में जब आप सो जाते हैं तेजी से आंखों की गति का चरण लगभग 90 मिनट तक चलता है, और नींद का प्राथमिक सपना देखने का चरण होता है। आरईएम नींद पहली बार लगभग 10 मिनट तक रहती है, प्रत्येक आरईएम चक्र के साथ बढ़ती है। आरईएम नींद का अंतिम चक्र आमतौर पर लगभग 60 मिनट तक रहता है। इस चरण के दौरान:

  • -आंखों की गति तेज हो जाती है
  • -श्वास और हृदय की दर बढ़ जाती है
  • -अंग की मांसपेशियां अस्थायी रूप से शिथिल हो जाती हैं
  • -मस्तिष्क गतिविधि स्पष्ट रूप से बढ़ जाती है
  • -सपने देखते हैं और अपनी यादों को सहेजने लगते हैं।

Read more articles on Mind-Body in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK