• shareIcon

शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मददगार ये 5 प्रकार के बीज

स्वस्थ आहार By धीरज सिंह राणा , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 18, 2019
शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मददगार ये 5 प्रकार के बीज

शरीर का मेटाबॉलिज्म ठीक नहीं रहेगा तो थकान, हाई कोलेस्ट्रॉल, मांसपेशियों में कमजोरी, ड्राई स्किन, वजन बढ़ना, जोड़ों में सूजन और डिप्रेशन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। मेटाबॉलिज्म बनाए रखने के लिए इन बीजों का सेवन करें।

शरीर में भोजन को एनर्जी में बदलना ही मेटाबॉलिज्म यानी चयापचय कहलाता है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए, भोजन पचाने के लिए, रक्त परिसंचरण करने और हार्मोन्स के संतुलन के लिए उचित मात्रा में ऊर्जा की जरूरत होती है। यह ऊर्जा मेटाबॉलिज्म से मिलती है यानी मेटाबॉलिज्म जितना अच्छा होगा, आप उतने एक्टिव रहेंगे। जो लोग अपनी मेटाबॉलिज्म को बढ़ाना चाहते हैं उनके लिए ये बीज काफी फीसदेमंद हो सकती हैं, क्योंकि इन बीज में अद्भुत पोषण गुण होते हैं। इनमें प्रोटीन, फाइबर और अन्य पोषक तत्वों की मात्रा भरपूर होते हैं। इसके अलावा इनमें फोलिक एसिड और आयरन जैसे माइक्रोन्यूट्रिएंट्स भी पाये जाते हैं जो आपके चयापचय को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। अपने मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने और स्वस्थ रहने के लिए इन बीजों का सेवन अवश्य करें।

अलसी का बीज

alsi ka bij

अलसी के बीज छोटे, भूरे या सुनहरे रंग के होता है। इसमें प्रोटीन, आयरन, पोटैशियम, फोस्फोरस, कैल्सियम, फाइबर, ओमेगा-3 फैटी एसिड और अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह पेट के लिए लाभदायक बैक्टीरिया को बढ़ावा देता है और आपके पाचन में सुधार कर कब्ज की समस्या को दूर करता है। यह शरीर में फ्री रेडिकल्स को नष्ट करके मेटाबॉलिज्म बढ़ाता है। अलसी बीज के पाउडर को अपने खाने में मिलाकर या इसे चपाती, रोटी और सूप के साथ सेवन कर सकते हैं।

सूरजमुखी का बीज

सूरजमुखी के बीज में विटामिन ई, विटामिन बी-1, कॉपर के साथ ही मैगनीज, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, फोलेट और विटामिन बी-6 भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। ये सारे पोषक तत्व शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। इसमें मौजूद  एंटीओक्सीडेंटस शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है जिससे सूजन और दिल की बीमारियों की संभावना कम होती है। इसके अलावा इस बीज में प्रोटीन और विटामिन बी पाये जाते हैं जो सभी उम्र की महिलाओं, खासकर गर्भवती महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसका सेवन करने से शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देने में मदद मिलता है। इसे आप सलाद और सब्जियों में मिलाकर खा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: दुबले पुरुष रोज खाएं 1 चम्मच सूरजमुखी के बीज, हफ्तेभर में बढ़ जाएगा वजन

चिया बीज

chea seed

चिया बीज आकर मे बहुत छोटा होता है। इसमें प्रोटीन, फाइबर, फैट, केल्शियम, मैंगनीज, ओमेगा -3 फैटी एसिड जैसे पोषक तत्व अच्छी मात्रा में होते हैं। इसमें मौजूद एंटीओक्सीडेंटस आपके शरीर से फ्री रेडिकल्स को निकालने में मदद करते हैं। इसके सेवन से हृदय संबंधी बीमारियां, हड्डियों में मजबूती, कब्ज से राहत, भूख और तड़प को कम किया जा सकता है। ये सभी गुण वजन घटाने और मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। चिया बीज को आप खाने के साथ या इसे दूध में 15 मिनट तक छोड़कर और फिर इसमें थोड़ा सा शहद या चीनी मिला कर सेवन कर सकते हैं। इसे आप सलाद में डालकर भी खा सकते हैं।

तरबूज का बीज

अगर आप भूख की वजह से किसी वस्तु को कुतरते हैं तो तरबूज का बीज आपके लिए फीयदेमंद हो सकता है। इसमें प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स, ओमेगा 6 फैटी एसिड और कई पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं। इस बीज से आपको अनेक स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इससे दिमाग और याददाश्त तेज होता है और साथ ही यह आपको रक्तचाप, डायबिटीज और कैंसर जैसे बीमारियों से बचाता है। अगर आप पाचन की समस्या से जूझ रहे है तो खरबूजे के बीज आपके लिए बहुत लाभदायक हो सकता है। ये शरीर में मेटाबोलिज्म को बढ़ावा देता है और इसमें पाये जाने वाले मिनरल्स पेट की एसिडिटी को कम करता है।

तुलसी का बीज

tulsi seed

इसे भी पढ़ें: तुलसी के बीज खाएं, इस जानलेवा बीमारी से छुटकारा पाएं

तुलसी के बीज में आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और अन्य पोषक तत्व होते हैं जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक हैं। इसमें फाइबर और एंटीऑक्‍सीडेंटस भी पाये जाते हैं जो वजन घटाने, ब्लड प्रेशर कम करने, पाचनशक्ति बढ़ाने, खांसी-जुकाम कम करने और इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार होते हैं। आप तुलसी के बीज का काड़ा बनाकर सेवन कर सकते हैं। गर्मी के मौसम में इसे भींगो कर किसी पेय पदार्थ में डालकर पीने से शरीर को ठंडक पहुंचती है।

Read more articles on Diet & Nutrition in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK