• shareIcon

Monsoon Hair Care Tips: झड़ते बालों, रूसी और फंगल इन्फेक्शन को दूर रखेगें, ये 5 मॉनसून हेयरकेयर टिप्स

बालों की देखभाल By शीतल बिष्‍ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 29, 2019
Monsoon Hair Care Tips: झड़ते बालों, रूसी और फंगल इन्फेक्शन को दूर रखेगें, ये 5 मॉनसून हेयरकेयर टिप्स

बारिश के मौसम में आपके बालों की चमक कहीं खो सी जाती है और आपके बाल रूखे और बेजान से दिखते हैं। इतना ही नहीं इस मौंसम में बहुत से लोगो के बालों के स्‍कैल्‍प में फंगल इंफेक्‍शन की समसया भी होती है। ऐसे में मानसून में बालों की अतिरिक्&zwj

बारिश के दिनों में चिलचिलाती धूप व गर्मी से राहत तो मिल जाती है, लेकिन उमस बढ़ जाती है और आपके बालों की चमक खो जाती है। इस मौसम में केवल त्‍वचा ही नहीं बल्कि बालों को भी विशेष देखभाल की जरूरत होती है। रूखे और बेजान बालों ही नहीं, बल्कि इस मौंसम में बहुत से लोगो के बालों के स्‍कैल्‍प में फंगल इंफेक्‍शन की समसया भी होती है। ऐसे में बालों के स्‍कैल्‍प में फोड़े-फुंसी होने लगते हैं। इसलिए मानसून में बालों को अतिरिक्‍त देखभाल की जरूरत होती है। आइए हम आपको बारिश के दिनों में बालों की चिपचिपेपन, रूसी और फंगल इंफेक्‍शन से बचने के कुछ आसान टिप्‍स बताते हैं। 

उलझे व रूखे बाल 

इस मौसम में बाल पसीने के कारण उलझे और रूखे से हो जाते है, जिस वज‍ह से वह गंदे दिखते हैं। आमतौर पर लोग बाल धाने के बाद अपने बालों पर तेल लगाते हैं या फिर मसाज करते हैं। हालांके मसाज से ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार होता है और यह सिर की बाहरी परत के लिए अच्छा है क्योंकि यह बालों और स्‍कैल्‍प की एक टोपी की तरह रक्षा करता है। लेकिन यह बालों को शॉफ्ट नहीं बनाता इसलिए, आपको अपने बालों को धोने के बाद तौलिए से बालों को सुखाने के बाद अपने बालों में एक एंटी फ्रिज़ सीरम का उपयोग करने की सलाह दी जाती है। इससे आपके बाल शॉफ्ट व शाईनी दिखते हैं। यह बालों को मुलायम बनाने के साथ यूवी किरणें से बालों को नुकसान पहुंचने से रोकता है और बालों के प्राकृतिक रंग को लंबे रंग बनाए रखने में मदद करता है। जब भी आप घर से बाहर निकलें तो, अपने बालों को ढक कर निकलें। 

रूसी

बाल झड़ने के बाद बालों में रूसी होना दूसरी आम समस्‍या है। मानसून ही नहीं, बल्कि कई लोग हर मौसम में रूसी से परेशान रहते हैं। ऐसे में आपको जल्‍दी-जलदी बालों को धोना पड़ता है। लेकिन बाल धुलने के अगले ही दिन आपको फिर बालों में रूसी दिखने लगती है। ऐसे में आपको सप्ताह में एक या दो बार केटोकोनाजोल, सेलेनियम सल्फाइड या जिंक पाइरिथियोन युक्त मेडिकेटेड शैम्पू का उपयोग करना चाहिए। इससे आपके बालों में रूसी को कम करने में मदद मिलती है। 

इसे भी पढें: रूखे-बेजान बालों के लिए वरदान है इस खास मिट्टी से बना हेयर मास्‍क, जानें तरीका

ऑयली बाल 

बारिश के मौसम में बालों के ऑयली होने की वजह से बालों में चिपचिपा पन होने लगता है। ऐसे में अपना दैनिक इस्‍तेमाल वाला ऐसा शैंम्‍पू का इस्‍तेमाल करें, जो आपके बालों की अच्‍छे से सफाई कर सके। शैंपू के अलावा, आप अपने बालों में कंडीशनर लगाना न भूलें। जब आप बालों को शैम्पू और कंडीशनिंग करते हैं, तो कंडीशनर को पूरी तरह से धोने के बाद गर्म पानी से ठंडे पानी में स्विच करें। ठंडा पानी बालों के रोम को सिकोड़ देगा, जिससे यह आपके बालो में अतिरिक्‍त तेल का उत्पादन को धीमा कर देगा।

बालों में फंगल इंफेक्‍शन 

अधिकतर बालों में फंगल इंफेक्‍शन होने के पीछे गंदगी सबसे बड़ा कारण होता है। बारिश के मौसम में होने वाले पसीने के कारण बालों की सफाई बनाए रखना जरूरी है। जिससे कि फंगल इंफेक्‍शन को दूर रखा जा सकता है। हेल्‍थ एक्‍सपर्टों के अनुसार, बरसात के मौसम में बालों के स्‍कैल्‍प में होने वाले फंगल इंफेक्‍शन से बचने के लिए एंटी-फंगल लोशन का उपयोग करने से बालों में फंगल इंफेक्‍शन को रोका जा सकता है। 

इसे भी पढें: झड़ते बालों और डैंड्रफ को रोकेगा अंगूर से बना हेयरमास्क, बाल बनेंगे बाउंसी और शाइनी

बालों की खोई चमक 

सूरज की किरणों के संपर्क में रहते हैं, तो आपके बाल रूखे, बेजान और दो मुंहे होने लगते हैं। बरसात के मौसम में बालों की चमक को बरकरार रखने के लिए आप आधा कप एप्पल साइडर विनेगर यानि सेब का सिरका लें और एक 2 कप पानी के साथ पतला करें और शैम्पू करने के बाद इसे अपने बालों पर लगाएं। यह आपके बालों की चमक को बनाए रखने में मदद करेगा।  

इसके अलावा, आप ऐसे में प्रोटीन का सेवन और बायोटिन की खुराक लें। बायोटिन विटामिन बालों के विकास, बालों के झड़ने और कमजोर बालों के नुकसान में मदद करता है। लेकिन बायोटिन की खुराक लेने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

Read More Article On Hair Care In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK