• shareIcon

आप जानते हैं टेनिस एल्बो क्या है? जानें इसके प्राकृृतिक उपचार के लिए 5 घरेलू उपाय

घरेलू नुस्‍ख By सम्‍पादकीय विभाग , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 27, 2019
आप जानते हैं टेनिस एल्बो क्या है? जानें इसके प्राकृृतिक उपचार के लिए 5 घरेलू उपाय

टेनिस एल्बो कोई भी काम या वर्कआउट को लगातार करने के कारण हो सकता है। कोहनी की हड्डी व मांसपेशियों पर अतिरिक्‍त दबाव पड़ने के कारण ये समस्या हो सकती है। इससे प्रभावित लोगों को कोहनी के चारों ओर सूजन हो जाता है।

टेनिस एल्‍बो से प्रभावित लोगों को कोहनी और प्रकोष्ठ (Forearm) के आसपास काफी दर्द होता है, कभी-कभी यह दर्द असहनीय हो जाता है। यह आम तौर पर एथलीट्स को ज्यादा प्रभावित करता है, विशेष रूप से उन्हें जो अक्सर खेलने के लिए अपनी बाहों का अधिक उपयोग करते हैं, जैसे कि टेनिस और गोल्फ के खिलाड़ी। टेनिस एल्बो को लेटरल एपिकॉन्डिलाइटिस भी कहा जाता है। यह कोहनी और प्रकोष्ठ के आसपास के जोड़ों को गंभीर नुकसान पहुंचाता है, इसकी वजह से कोहनी में कठोरता, उभार और जोड़ों के दर्द भी बढ़ सकते हैं। संवेदनशीलता के कारण कोहनी में सूजन बढ़ जाता हैं और आप अपनी कलाई या हाथ से कोई सामान्य काम भी ठीक तरह से नही कर पाते हैं। आइए जानते हैं टेनिस एल्बो हो जाने पर किस प्रकार आप इन 5 घरेलू उपचारों की मदद से इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

बर्फ की सिकाई

icing

बर्फ एंटीइंफ्लेमेटरी एजेंट के रूप में काम करती है। इससे सूजन कम करने में और खून रोकने में मदद मिलती है। दर्द से तुरंत राहत पाने के लिए और कोहनी में सूजन को कम करने के लिए कम से कम 15 मिनट तक कोहनी के ऊपर बर्फ के पैकेट से सिकाई कर सकते हैं। बेहतर परिणाम के लिए आपको दिन में कम से कम चार से पांच बार बर्फ की सिकाई करनी चाहिए। बर्फ को सीधे अपनी त्वचा पर ना रखें, इससे आपकी त्वचा को क्षति पहुँचा सकता है, इसे साफ कपड़े में बांध कर उसके बाद त्वचा पर रखें।

मालिश करें

टेनिस एल्बो से छुटकारा पाने के लिए बर्फ की सिकाई के अलावा आप कुछ तेल जैसे कि नारियल, पुदीना, लैवेंडर, जैतून और सरसों के तेल को हल्का गर्म करके कोहनी पर मालिश कर सकते हैं इससे आपकी स्थिति में सुधार होगा। इस प्रतिक्रिया को दिन में चार से पांच बार करने से आपके दर्द और सूजन को कम करने में भी मदद मिलेगा। कई रिसर्च में पाया गया है कि नियमित तेल से मालिश करने से ज्वाइंट पेन को आराम मिलता है और इससे रक्त का संचार भी सही रहता है।

आराम करें

rest

टेनिस एल्बो को ठीक करने के लिए आपको आराम करना अति आवश्यक है। जब आप पेंटिंग, टेनिस, गोल्फ और थ्रोइंग जैसी गतिविधियों को बार-बार करते हैं, तो इससे टेनिस एल्बो का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए, इससे प्रभावित लोगों को यह सलाह दी जाती है कि कोहनी के दर्द को बढ़ाने वाली ऐसी कोई भी गतिविधियों को बिल्कुल भी ना करें। अगर आप हाथों में तनाव महसूस करते हैं तो काम के बीच-बीच में ब्रेक लेते रहें।

स्वस्थ आहार का सेवन

टेनिस एल्बो से प्रभावित लोगों के लिए पौष्टिक आहार बेहद जरूरी है। सूजन को कम करने के लिए मीठे, सोडियम युक्त और वसायुक्त भोजन के सेवन से बचें। इनके सेवन से वॉटर रिटेंशन यानि शरीर के अंगो में पानी का जमाव बढ़ सकता हैं। आप ऐसे आहार का सेवन करें जो एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर हो। अगर आप टेनिस एल्बो से प्रभावित हैं तो हरी पत्तेदार सब्जियां, जामुन, खट्टे फल, तरबूज, और संतरे को अपने डाइट में अवश्य शामिल करें। इसके अलावा आप पोटेशियम और मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थ जैसे कि एवोकाडो, मीठे आलू, केले और नारियल पानी भी शामिल कर सकते हैं। इनका सेवन ऊतक स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ें: Dry Eye Syndrome: रूखेपन के कारण होती है जलन और आंखें लाल होने की समस्या, जानें 5 घरेलू उपचार

फिजियोथेरेपी

psychiopherephy

इसे भी पढ़ें: Urinary Tract Infections: ये 6 प्राकृतिक उपचार यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) से बचने में आएंगे काम

अगर आपको टेनिस एल्बो के वजह से असहनीय दर्द हो रहा है तो आपको तुरंत किसी अच्छे फिजियोथेरेपिस्ट से मिलना चाहिए। फिजियोथेरेपिस्ट विभिन्न तरीकों का उपयोग करके चोट से प्रभावित क्षेत्रों का व्यक्तिगत तौर पर देख रेख करते हैं। इससे आपको जल्दी ठीक होने में मदद मिलता है। वो कुछ मैनुअल थेरेपी तकनीके जैसे कि तेल से मालिश और एक्सरसाइज से आपको दर्द और सूजन से राहत दिलाने, आपकी बांह में रक्त के संचार को बढ़ावा देने और मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करते हैं।

लेखक: धीरज सिंह राणा

Read more articles on Home Remedies in Hindi



Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK