• shareIcon

बच्चों के खान-पान में मां-बाप ध्यान रखें ये 5 बातें, हमेशा हेल्दी और स्मार्ट रहेगा आपका बच्चा

परवरिश के तरीके By शीतल बिष्‍ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 28, 2019
बच्चों के खान-पान में मां-बाप ध्यान रखें ये 5 बातें, हमेशा हेल्दी और स्मार्ट रहेगा आपका बच्चा

बच्‍चों के खानपान व आदतों पर माता-पिता को विशेष ध्‍यान देना चाहिए। इसलिए बच्‍चे को स्‍वस्‍थ और बीमारियों से दूर रखने के लिए उसके खानपान से जुड़ी इन जरूरी बातों को ध्‍यान में रखना बेहद जरूरी है। जिससे आपका बच्‍चा हेल्&zw

हर माता-पिता को अपने बच्‍चे की सेहत के लिए उसके खानपान पर विशेष ध्‍यान देना बहुत जरूरी है। जिससे बच्‍चा स्‍वस्‍थ रहे और उसका शरीरिक व मानसिक विकास सही रूप से हो पाये। आजकल अधिकतर माता-पिता अपनी गलत खानपान व आदतों के कारण बच्‍चे भी वैसे ही आदतों को अपना लेते हैं, जैसे कि उसके माता-पिता करते हैं। इसलिए बच्‍चों की सही और गलत आदतों के लिए माता-पिता काफी हद तक जिम्‍मदेार होते हैं। यदि आप चाहते हैं कि आपका बच्‍चा स्‍वस्‍थ व बीमारियों से दूर रहे, तो आप अपने बच्‍चे को उसके खानपान से जुड़ी इन आदतों को जरूर सिखाएं। इससे आपका बच्‍चा हेल्‍दी और खुश रहेगा।    

दूध पीने की आदत

अक्‍सर हर मां की शिकायत होती है कि उसका बच्‍चा दूध नहीं पीता या हेल्‍दी चीजें नहीं खाता। जिस वजह से आपको अपने बच्‍चे को दूध पिलाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाने पड़ते हैं। ताकि किसी भी तरह आपका बच्‍चा दूध पिए। लेकिन ऐसा करना स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से गलत है। यादि बच्‍चे का मन है, तो आप तभी उसे दूध पिलाएं। यदि बच्‍चा दूध नहीं पीता तो आप उसमें किसी भी तरह के फ्लेवरड पाउडर का इस्‍तेमाल न करें। यह आपके बच्‍चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसलिए आप अपने बच्‍चे को शुद्ध दूध ही पिलाएं। जैसे आप फुल क्रीम दूध को भी अपने बच्‍चे को पिला सकते हैं। माता-पिता शुरूआत से ही यदि बच्‍चे को दूध पिलाने की आदत डालेंगे, तो बच्‍चा आसानी से बिना किसी फ्लेवरड पाउडर के दूध पीने लगेगा।  

बैठकर खाना 

बड़े हों या बच्‍चे हर किसी को खाना बैठकर खाना चाहिए। इसलिए आप अपने बच्‍चे को बैठकर खाने की आदत डालें। इससे बच्‍चे का सही रूप से विकास होता है। आप अपने बच्‍चे के साथ जमीन पर बैठकर उसे खाना खिलाएं। इसके दो फायदे हैं अगर आप जमीन पर बैठकर खाना हैं, तो खाना कपड़ों पर गिरने की आशंका कम होती है और दूसरा जमीन पर बैठकर खाने से पेल्विक हेल्‍थ के लिए बेहतर होता है। 

इसे भी पढें: नहीं बढ़ रही है बच्चों की लंबाई, तो आजमाएं कद बढ़ाने वाले ये 5 प्राकृतिक नुस्खे

खाना खाने के बाद खेल

जिस तरह शरीर के लिए प्रोटीन और कैल्शियम जैसे पोषक तत्‍व जरूरी हैं। ठीक वैसे ही शरीर में प्रोटीन और कैल्शियम का अवशोषण भी जरूरी है। इसके लिए आप कभी भी बच्‍चों को खाना खाने के तुरंत बाद सोने न दें। खाने के बाद बच्‍चे को कुछ खेल खेलने दें या कुछ शारीरिक गतिकवधियां करने दें। जिसमें बच्‍चे की एनर्जी खर्च हो सके। इसलिए हेल्‍थ एक्‍सपर्ट भी सोने से कम से कम 1 घंटे पहले खाना खाने की सलाह देते हैं। बड़ों को भी खाना खाने के बाद थोड़ी देर टहलना चाहिए। 

समय पर सोना 

बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए समय से सोना और भरपूर नींद लेना बेहद जरूरी है। अगर बच्‍चे समय से व पूरी नींद नहीं लेते, तो उनकी सीखने की क्षमता प्रभावित होती है। इसलिए आप अपने बच्‍चों को नौ से साढ़े नौ बजे तक सोने की आदत डलवाएं। जल्‍दी सोना और जल्‍दी उठना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा माना जाता है। 

इसे भी पढें: बेटी को इस तरह करें उसके पहले पीरियड्स के लिए तैयार, बताएं 4 जरूरी बातें

खाते वक्‍त टीवी देखना है गलत 

खाते वक्‍त टीवी देखने की आदत बहुत ही खराब है। यदि आपकी या आपके बच्‍चों की ऐसी आदत है, तो उसे तुरंद बदल डालिए। अक्‍सर लोग रात के खाने के समय टीवी ऑन कर देते हैं, जिससे बच्‍चे के शरीर को भोजन का पूरा पोषण नहीं मिल पाता इसलिए बच्‍चों को टीवी देखते समय खाना खाने की आदत न डालें। 

Read More Article On Parenting In Hindi 

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK