• shareIcon

मोटापा, डायबिटीज और दमा जैसे रोगों में बहुत लाभकारी हैं कौंच के बीज, जानें 5 अद्भुत फायदे

आयुर्वेद By शीतल बिष्ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jun 24, 2019
मोटापा, डायबिटीज और दमा जैसे रोगों में बहुत लाभकारी हैं कौंच के बीज, जानें 5 अद्भुत फायदे

कौंच के बीज यानि कि मुकुना प्रुरियंस (Mucuna pruriens) या वेलवेट बीन्स (Velvet Beans) को आयुर्वेद में औषधी के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है। इसके बीजों का डायबिटीज, दमा और मिर्गी जैसे कई रोगों के उपचार के तौर पर इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

कौंच के बीज के बारे में आप में से बहुत कम ही लोगों ने सुना होगा लेकिन हम आपको बता दें, कि कौंच के बीजों को आर्यर्वेद में औषधी माना गया है। इसका उपयोग कई बीमारियों के इलाज के रूप में किया जाता है। कौंच के बीज का वैज्ञानिक नाम मुकुना प्रुरियंस (Mucuna pruriens)है, इसे मखमली सेम या वेलवेट बीन्स (Velvet Beans) के नाम से जाना जाता है। इसके अलावा इसे कई अन्‍य नामों जैसे- कोवंच, कौंचा या कवच आदि नामों से भी जाना जाता है। आयुर्वेद में कौंच के बीज ही नहीं, बल्कि इसकी पत्‍ती व जड़ का भी औषधी बनाने के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है। कौंच के बीज दवा के रूप में मेडिकल स्टोर में भी उपलब्ध होते हैं, आप इसके कैप्सूल का भी सेवन कर सकते हैं। आइए जानते हैं कौंच के बीजों का आप किन-किन बीमारियों के लिए इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 

वजन कम करने में फायदेमंद

बढ़ते वजन को कंट्रोल करने के लिए कौंच के बीज बेहद फायदेमंद हैं। आजकल हर दूसरा व्‍यक्ति अपने वजन और मोटापे को लेकर परेशान रहता है। ऐसे में यदि कौंच के बीजों का सेवन किया जाए, तो यह आपके लिए लाभकारी होगा। यह एंटी ओबेसिटी प्रभाव डालता है, जिससे कि यह आपके वजन को कम करने में मददगार शाबित होता है। आप रोजाना इसका काढ़ा बनाकर पी सकते हैं। इसके अलावा आप कौंच के बीजों से बना चूर्ण दूध या पानी के साथ भी पी सकते हैं। ध्‍यान रखें, जरूरत से ज्‍यादा सेवन फायदेमंद नहीं है। 

Buy Online: Herbal Hills Krounchbeej Powder, 100 g (Pack of 2)  & MRP.180.00/- only.

इसे भी पढें: वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल कम करने और गठिया के दर्द से आराम दिलाएगा जायफल, जानें इसके 6 फायदे

डायबिटीज कंट्रोल करे

कौंच के बीज कई पौष्टिक तत्‍वों से भरपूर हैं, जिसके कारण यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभदायक हैं। कौंच के बीज एंटी ऑक्‍सीडेंट व एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर है, इसमें मौजूद पोषक तत्‍व आपको स्‍वस्‍थ रहने में मददगार हैं। कौंच के बीजों का इस्‍तेमाल मधुमेह यानि डायबिटीज में दवा के तौर पर किया जा सकता है। शोध के अनुसार पुराने समय में कौंच के बीजों का इस्‍तेमाल डायबिटीज के उपचार के रूप में किया जाता था। आप कौंच के बीजों का सेवन चूर्ण, दवा और काढ़े के तौर पर कर सकते हैं। लेकिन यदि आप पहले से ही डायबिटीज के लिए दवा ले रहे हैं, तो इसका सेवन न करें। 

दमा व तनाव के लिए 

कौंच के बीज का सेवन दमा में भी लाभकारी होता है। कौंच के बीज एंटी-हिस्टामिनिक की तरह काम करते हैं और यह एलर्जी से भी बचाव करने में सहायक हैं। कौंच के बीज में एंटी-डिप्रेसेंट गुण होने के कारण तनाव को दूर करने में भी मदद करता है। सफेद मूसली के साथ कौंच के बीजों का सेवन अनिद्रा की समस्‍या से भी राहत दिलाता है। 

मिर्गी के लिए कौंच के बीज 

कौंच कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, नियासिन, जिंक, आयरन, जैसे सभी पौष्टिक तत्व शामिल हैं। कौंच आपको मस्तिष्क से संबंधित समस्‍याओं में भी निजात दिलाने में मदद करता है। र्मिगी जैसे रोगों में भी इसका सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। मिर्गी तंत्रिका तंत्र से जुड़ा रोग है, जिसमें मरीज कसे अचानक से दौरे पड़ने लगते हैं और वह बेहोश होकर गिर पड़ता है। कौंच के बीजों में एंटी-एपिलेप्टिक गुण मौजूद होते हैं, जो मिर्गी के असर को कम कर सकते हैं। आप अपने डॉक्‍टर की सलाह से कौंच के बीजों का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप दूध के साथ एक छोटा चम्‍मच कौंच के बीज का चूर्ण मिलाकर पी सकते हैं। 

Buy Online: Sri Satymev Kaunch Beej Powder, 200g (White) & MRP.380.00/- only.

इसे भी पढें:  कोलेस्‍ट्रॉल, डायबिटीज को कंट्रोल कर आंखों की रौशनी बढ़ाती है गिलोय, जानें इसके 5 अद्भुत फायदे

सायटिका के लिए कौंच 

कौंच के दर्दनाशक गुण आपको कमर दर्द या सायटिका के दर्द में राहत दिला सकता है। यह एक आयुर्वेदिक घरेलू प्राकृतिक उपचार है। इसके लिए आप कौंच के बीजों को पीसकर काढ़ा बनाकर पिंए या फिर आप चाहें, तो कौंच के पत्‍तों का लेप बनाकर अपने जोड़ों व त्‍वचा पर लगाएं। इससे आपके शरीर का दर्द दूर होगा। 

Read More Article On Aaurveda In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK