• shareIcon

सर्दी में किसी 'वरदान' से कम नहीं 'अमरूद' 5 खतरनाक रोगों से रखता है दूर, जानें इसके अचूक फायदे

स्वस्थ आहार By जितेंद्र गुप्ता , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Nov 14, 2019
सर्दी में किसी 'वरदान' से कम नहीं 'अमरूद' 5 खतरनाक रोगों से रखता है दूर, जानें इसके अचूक फायदे

मौजूदा वक्त में हमारे चारों और घिरी हवा में कई फ्लू वाले वायरस फैले हुए हैं इसलिए ये बिल्कुल सही समय है कि ऐसे उपाय किए जाएं, जो आपको बीमार पड़ने से बचा सकें। सर्दी में अमरूद आपको इन फ्लू वायरस से बचाने में फायदेमंद है।

 

सर्दी दस्तक दे चुकी है और धुंधली सुबह के साथ मौसम ने भी करवट बदल ली है। पार्क की हरी-भरी घास पर पड़ी ओस की बूंदों और सूरज की नरम किरणें आपकी सुबह शानदार बना सकती हैं। लेकिन दुख की बात ये है कि ये सभी आपके स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं हैं क्योंकि यह मौसम बैक्टीरिया और वायरस के अनुकूल है, जो आसानी से आपको अपनी गिरफ्त में ले सकता है। मौजूदा वक्त में हमारे चारों और घिरी हवा में कई फ्लू वाले वायरस फैले हुए हैं इसलिए ये बिल्कुल सही समय है कि ऐसे उपाय किए जाएं, जो आपको बीमार पड़ने से बचा सकें। यह वक्त साल का सबसे अधिक बैक्टीरिया संभावित सीजन होता है, इसलिए खुद को इन वायरस और बैक्टीरिया से बचाने के लिए पूरी तरह से तैयार रहने की जरूरत है। साथ ही जरूरत है अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने की। ऐसे कई फल हैं, जो आपकी इम्युनिटी बढ़ाते हैं और इन वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। इन फलों में से एक है अमरूद, जो सर्दियों में हमारे स्वास्थ्य के लिए किसी 'वरदान' से कम नहीं है।

guava

अमरूद एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन सी, पोटेशियम और फाइबर से समृद्ध होता है। यह पोषक तत्व हमें कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं। इसके अलावा अमरूद की पत्तियां हर्बल चाय बनाने के काम आती हैं। डॉक्टर भी सर्दियों में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए अमरूद का जूस पीने की सलाह देते हैं। इतना ही नहीं यह प्रदूषित हवा से हमारे त्वचा और बालों को भी बचाता है।

इन सर्दियों में खाएं अमरूद, रखें सेहत दुरुस्त

ब्लड शुगर करता है कंट्रोल

कुछ शोध रिपोर्ट बताती हैं कि अमरूद ब्लड शुगर कंट्रोल में सुधार कर सकता है। कई टेस्ट-ट्यूब और जानवरों पर किए गए अध्ययनों में पाया गया कि अमरूद की पत्ती का अर्क ब्लड में शुगर के स्तर, लंबे वक्त तक ब्लड शुगर कंट्रोल और इंसुलिन के स्तर में सुधार करता है। यह डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। मनुष्यों से जुड़े कुछ अध्ययनों में भी प्रभावशाली परिणाम देखे गए हैं। 19 लोगों पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि भोजन के बाद अमरूद के पत्ते की चाय पीने से ब्लड शुगर का स्तर कम हो जाता है और इसका प्रभाव दो घंटे तक रहता है।

इसे भी पढ़ेंः पुरानी से पुरानी कब्ज दूर करने में रामबाण हैं ये 3 प्रकार के फूड, स्वाद के साथ पेट हमेशा रहेगा साफ

ह्रदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है अमरूद

अमरूद कई तरीकों से हमारी दिल की सेहत को सुधारने में मदद कर सकता है। कई वैज्ञानिकों का मानना है कि अमरूद की पत्तियों में उच्च स्तर के एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन आपके दिल को मुक्त कणों से नुकसान से बचाने में मदद कर सकते हैं। अमरूद में पोटेशियम और घुलनशील फाइबर का स्तर बहुत अधिक होता है, जो हृदय स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए जाना जाता है। इसके अलावा, अमरूद की पत्ती का अर्क लो ब्लड प्रेशर, "खराब" एलडीएल कोलेस्ट्रॉल में कमी और "अच्छे" एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करता है। चूंकि हाई ब्लड प्रेशर और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल की अधिकता हृदय रोग और स्ट्रोक के उच्च जोखिम से जुड़ी हुई है, इसलिए अमरूद की पत्ती के अर्क के सेवन से बहुमूल्य लाभ मिल सकता है।

guava

मासिक धर्म के दर्द को दूर करता है अमरूद

ज्यादातर महिलाएं मासिक धर्म के दौरान पेट दर्द की शिकायत करती हैं। हालांकि ऐसे कई सबूत हैं, जो दर्शाते हैं अमरूद की पत्ती का अर्क मासिक धर्म के दर्द की तीव्रता को कम करने में मदद कर सकता है। 197 महिलाओं पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि रोजाना अमरूद के पत्ती के 6 ग्राम अर्क के सेवन से मासिक धर्म के दर्द की तीव्रता में कमी आती है। अध्ययन में इस अर्क को कुछ दर्द निवारक दवाओं से अधिक शक्तिशाली माना गया है।

इसे भी पढ़ेंः जहां दिखे खरीद लें सीताफल सेहत रहेगी हमेशा दुरुस्त, जानें सीताफल से जुड़े 4 मिथ जिससे डरते हैं लोग

पाचन तंत्र को बेहतर बनाता है अमरूद

अमरूद डाइटरी फाइबर का एक उत्कृष्ट स्रोत है। इसलिए, अधिक अमरूद खाने से मल त्याग सही रहता है और कब्ज की शिकायत नहीं रहती। सिर्फ एक अमरूद आपकी रोजाना की फाइबर जरूरत का 12 फीसदी प्रदान कर सकता है। इसके अलावा अमरूद की पत्ती का अर्क पाचन स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है। कई अध्ययनों में इस बात को दर्शाया गया है कि यह दस्त की तीव्रता और अवधि को कम कर सकता है। कई अध्ययनों से यह भी पता चला है कि अमरूद की पत्ती का अर्क रोगाणुरोधी होता है। इसका मतलब यह है कि यह आपकी आंत में हानिकारक रोगाणुओं को बेअसर कर सकता है जो दस्त का कारण बन सकते हैं।

कैंसररोधी गुणों से संपन्न है अमरूद

अमरूद की पत्तियों के अर्क में कैंसर-रोधी (anticancer effect) प्रभाव होते हैं। टेस्ट ट्यूब और जानवरों पर किए गए अध्ययन में सामने आया है कि अमरूद का अर्क कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि को रोकने में मदद कर सकता है।  अमरूद में पाए जाने वाले शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट कैंसर के हानिकारक प्रभावों से हमारी कोशिकाओं को बचाते हैं। एक टेस्ट-ट्यूब अध्ययन में पाया गया कि अमरूद के पत्तों का तेल कैंसर की कुछ दवाओं की तुलना में कैंसर के विकास को रोकने में चार गुना अधिक प्रभावी होता है।

Read More Articles On Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK