गुस्से और तनाव की स्थिति में इन 5 टिप्स की लें मदद, तुरंत शांत होगा दिमाग और मूड होगा सही

Updated at: Sep 15, 2020
गुस्से और तनाव की स्थिति में इन 5 टिप्स की लें मदद, तुरंत शांत होगा दिमाग और मूड होगा सही

अगर आप भी बहुत ज्यादा तनाव में रहते हैं या आपको गुस्सा आता है, तो ये 5 आसान टिप्स आपके मूड को सही करने और तनाव को खत्म करने में आपकी मदद करेंगी।

Anurag Anubhav
तन मनWritten by: Anurag AnubhavPublished at: Sep 15, 2020

हम हर समय एक जैसे नहीं रहते हैं और न रह सकते हैं। अपने आसपास और जीवन में चल रही घटनाओं के प्रति व्यक्ति का मन और मस्तिष्क प्रतिक्रिया करता है। इसके कारण ही हम कभी गुस्सा, कभी शांति तो कभी खुशी महसूस करते हैं। मगर देखा जाता है कि गुस्से और तनाव में अक्सर व्यक्ति की सोचने-समझने की क्षमता कम हो जाती है, जिससे उसे कई बार अप्रत्याशित नुकसान झेलने पड़ते हैं। इसलिए गुस्से और तनाव की स्थिति को खराब माना जाता है। लेकिन यह भी सत्य है कि गुस्सा और तनाव हमारे जीवन का ही हिस्सा हैं। ऐसा सामान्य मानव के लिए संभव नहीं है कि उसे गुस्सा न आए या वो किसी बात की चिंता न करे। थोड़ा बहुत गुस्सा और तनाव तो सभी करते हैं। लेकिन यदि आपको बहुत ज्यादा गुस्सा आता है या फिर आप तनाव में रहते हैं, तो हम आपको बता रहे हैं इसे तुरंत शांत करने और मानसिक रूप से स्थिर महसूस करने के 5 तरीके।

stress management

पानी पिएं और थोड़ा पैदल चलें

गुस्से को कंट्रोल करने का सबसे पहला, आसान और प्रचलित तरीका यही है। जब भी आपको गुस्सा आए तो आप थोड़ा पानी पिएं और कुछ कदम पैदल चलें। दरअसल पानी पीने और चहलकदमी करने से आपका ब्लड प्रेशर डाउन होता है और दिल की धड़कन धीमी हो जाती है। दूसरी वजह यह है कि गुस्से में आप सही से सोच नहीं सकते हैं। इसलिए पानी पीने और चलने के बाद आप सोचना शुरू कर देते हैं, इससे आपका गुस्सा भी शांत होता है।

इसे भी पढ़ें: अच्छे मूड, अच्छी सेहत और फिट बॉडी के लिए महत्वपूर्ण हैं ये 6 हार्मोन, जानें इन्हें बूस्ट करने का तरीका

अपने दिमाग को किसी अच्छी चीज पर लगाएं

अगर आप तनाव में हैं, तो अपने मन और दिमाग को रोजमर्रा की बातों से अलग किसी चीज में लगाएं। जब आप खूबसूरत चीजों के बारे में सोचते हैं, तो आपका दिमाग शांत होता है और आप अधिक क्रिएटिव (रचनात्मक) हो जाते हैं। ये अच्छी चीज क्या होगी, ये आप पर निर्भर करता है। जैसे आप कोई मूवी देख सकते हैं, अपना फेवरिट गाना सुन सकते हैं, लंबे समय से तनाव है तो कहीं घूमने जा सकते हैं, कोई मनपसंद चीज का सकते हैं। ये छोटी-छोटी लगने वाली टिप्स आपके तनाव को बहुत जल्दी कम कर देंगी।

किसी अपरिचित या पुराने दोस्त से बात करें

बात करना भी तनाव कम करने का आसान तरीका है। जब आप किसी अपचिरित से बात करते हैं या फिर किसी बहुत पुराने दोस्त से बात करते हैं, तो आपका मस्तिष्क अलग तरह से फंक्शन करता है। इस दौरान आप ज्यादा ध्यान देते हैं और अगर पुरानी कोई यादें हैं, तो वो भी आपको याद आने लगती हैं। ऐसी स्मृतियां सुखद होती हैं। इसलिए आप जब तनाव या गुस्से में हों, तो किसी अपरिचित से बात करके उसके बारे में जान सकते हैं या उससे अपना दुख कह सकते हैं।

anger management

पेन-पेपर लें और स्थिति को लिखना शुरू करें

गुस्से या तनाव में व्यक्ति एक चीज हमेशा भूल जाता है कि जो हो चुका है, उसे न तो मिटाया जा सकता है और न ही झुठलाया जा सकता है। इसलिए व्यक्ति को इसके बारे में पछतावा करने, दुख करने, तनाव लेने या गुस्सा करने के बजाय आगे के उपाय के बारे में सोचना चाहिए। इसका सबसे अच्छा तरीका है कि आप एक पेपर पर उस स्थिति को लिखें जो आपको कष्ट पहुंचा रही है। इसके बाद उन बातों को लिखें जो आपके दिमाग में इस समय आ रही हैं। आप देखेंगे कि कुछ ही देर में आपके सामने स्थिति पहले की अपेक्षा ज्यादा स्पष्ट और पारदर्शी होगी।

इसे भी पढ़ें: मन को शांत और तनाव मुक्त करने के ये प्राकृतिक तरीके हैं बेहद कारगर, आसान हो जाएगा जीवन

ध्यान करें

लंबे समय से चल रहे तनाव को ध्यान (मेडिटेशन) से अच्छा कोई नहीं सही कर सकता है। योगासन, एक्सरसाइज और ध्यान ये तीनों ही आपके तनाव को कम करने में प्रभावी हैं। अगर गुस्सा अधिक आता है, तो ध्यान के माध्यम से इसे भी कम किया जा सकता है। ध्यान के सैकड़ों तरीके हैं। आप जिस तरह से चाहें उस तरह से ध्यान करें। ध्यान मुख्यतौर पर आपके भटकते विचारों को एकाग्र करने का अभ्यास है, इसलिए आपको ध्यान करने से स्ट्रेस, एंग्जायटी और डिप्रेशन जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

Read More Articles on Mind and Body in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK