• shareIcon

पानी भी बढ़ा सकता है आपका वजन, जानें शरीर में पानी जमा करने वाले 5 कारण

अन्य़ बीमारियां By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 16, 2019
पानी भी बढ़ा सकता है आपका वजन, जानें शरीर में पानी जमा करने वाले 5 कारण

शरीर में पानी जमा हो जाने के कारण भी आपका वजन बढ़ सकता है। अक्सर सुबह के समय आंखों के नीचे सूजन और बढ़ा हुआ पेट, शरीर में पानी जमा होने के संकेत हैं। जानें शरीर में पानी जमा होने के 5 कारण।

पानी से बढ़ने वाले वजन से छुटकारा पाना आसान नहीं है लेकिन इसके लिए जिम्मेदार कारकों पर ध्यान देकर इसे कम किया जा सकता है। हर सुबह आप अपने वजन के उतार-चढ़ाव को देखने के लिए, जब आप शीशे के सामने खड़े होते हैं और खुद को देखते हैं, तो यह काफी निराशाजनक हो सकता है। सूजी हुई उँगलियाँ, फूला हुआ पेट कहीं न कहीं आपको असहज महसूस कराता है। बल्कि यह काफी निराशाजनक भी होता है, खासकर जब आप अपना वजन देख रहे हों। लेकिन अधिक वजन के कुछ मुख्य कारणों की वजह को जानकर और कुछ जीवनशैली में थोड़े से बदलाव करके आप इससे आसानी से छुटकारा पा सकते हैं।

पानी का वजन क्या है?

सुनने में थोड़ा अजीब है लेकिन हम आपको बताते हैं, मानव शरीर का 60 प्रतिशत भाग पानी से बना होता है, जिसका अधिकांश भाग कोशिकाओं में बना रहता है। ऊतकों में द्रव एकत्र होने पर व्यक्ति पानी का वजन बढ़ाता है, जिससे शरीर में सूजन होती है और शरीर कें अंगों और त्वचा के बीच अतिरिक्त तरल पदार्थ को जमा होता है, बजाय इसके पेशाब के रूप में बाहर निकलने के। लेकिन पानी का वजन बढ़ना अस्थायी है और इसका मतलब यह नहीं है कि आपने वास्तविक रूप से वजन बढ़ा लिया है। आइए जानते हैं, शरीर में पानी की वजह से बढ़ने वाले वजन के 5 प्रमुख कारण क्या हैं।

इसे भी पढ़ें:- सिर पर लगने वाली चोट का दिमाग पर कैसे पड़ता है असर, जानें इसके खतरे और इलाज

बहुत अधिक नमक या कार्ब

इसके सबसे बड़े और सामान्य कारणों में से एक है नमक की अधिकता है। सोडियम पानी के साथ जुड़ा है और इसे शरीर में रखता है। सोडियम का सेवन अधिक, शरीर में द्रव के बढ़ने ओर एकत्र होने का खतरा अधिक होता है। इसी तरह, यदि आप बहुत अधिक कार्ब्स युक्त आहार का सेवन करते हैं, तो यह ऊतकों में द्रव पर प्रभाव डाल सकता है।

पीरियड्स

पीरियड्स यानि मासिक धर्म के दौरान ज्यादातर महिलाओं के शरीर में पानी से वजन बढ़ता है। यह हार्मोन के कारण होता है और उस समय जब रक्त स्त्राव हो रहा हो, तो आप फूला हुआ महसूस कर सकते हैं। लेकिन सबसे अच्छी बात यह है कि ये सारी चीजें आपके पीरियड खत्म होते ही खत्म हो जाती हैं।

बर्थ कंट्रोल हार्मोनल

बर्थ कंट्रोल हार्मोनल भी कभी-कभी शरीर में पानी के वजन को बढ़ा सकता है। जन्म नियंत्रण की गोलियों में एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टिन वजन के पैमाने में उतार-चढ़ाव को जन्म दे सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:- खून के कैंसर (Leukemia) का संकेत हैं शरीर में दिखने वाले ये 7 संकेत, न करें नजरअंदाज

कोर्टिसोल स्तर

कोर्टिसोल, जिसे "तनाव हार्मोन" के रूप में जाना जाता है, कई बार यह आपके पानी के वजन बढ़ने के पीछे का मुख्य कारण हो सकता है। यह हार्मोन ब्लड शुगर लेवल को स्थिर रखने, मेटाबॉलिज्म को संतुलित करने और सूजन को कम करने के लिए जिम्मेदार है। कोर्टिसोल स्तर में वृद्धि से शरीर में पानी से होने वाला वजन बढ़ सकता है।

दवाएं

कुछ दवाएं, जो आप पहले से लेते आ रहे हैं या फिर लेना शुरू किया है, वह भी शरीर में पानी से होने वाले वजन के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं। कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स, कॉर्टिकॉस्टिरॉइड्स और नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स जैसे हाई ब्लड प्रेशर के लिए दवाओं से वजन बढ़ने का कारण हो सकती हैं।

Read more articles on Other Diseases in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।