• shareIcon

खून को पतला करने और हार्ट अटैक आने से रोकते हैं ये 5 फूड, ब्‍लड सर्कुलेशन में भी होता है सुधार

स्वस्थ आहार By Atul Modi , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 19, 2019
खून को पतला करने और हार्ट अटैक आने से रोकते हैं ये 5 फूड, ब्‍लड सर्कुलेशन में भी होता है सुधार

रक्‍त का थक्‍का बनना एक सामान्‍य प्रक्रिया है, लेकिन कई बार यह हमारे लिए जोखिम भरा हो सकता है। यह हृदय रोग और फेफड़ों संबंधी समस्‍याएं दे सकता है। ब्‍लड सर्कुलेशन को विनियमित करने के लिए यहां कुछ फू

कुछ खाद्य पदार्थ हैं जिन्‍हें हम अपने रक्त परिसंचरण (Blood circulation) में सुधार करने और दिल की कई बीमारियों (Heart Diseases) को रोकने के लिए खा सकते हैं। कई खाद्य पदार्थ हैं जो रक्‍त को पतला करते हैं और रक्‍त का थक्‍का बनने से रोकते हैं। लेकिन, इससे पहले कि हम प्राकृतिक रूप से रक्त को पतला करने वाले खाद्य पदार्थों की विविधता के बारे में बात करें, यह समझना जरूरी है कि रक्त का थक्का बनना क्या है और यह आपके शरीर को कैसे प्रभावित करता है।

रक्त का थक्का (Blood clotting) बनना एक सामान्य लेकिन जटिल प्रक्रिया है जो हमारे शरीर में चोट या कट जाने पर रक्तस्राव को रोकने के लिए जानी जाती है। हालांकि, कई बार हमारे शरीर के कुछ महत्वपूर्ण हिस्सों जैसे कि हृदय, फेफड़े या मस्तिष्क में रक्त के थक्के बनते हैं, जिनका अगर समय पर इलाज नहीं किया जाता है, तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। ये थक्के धमनी (Arterial) या शिरापरक रक्त वाहिकाओं (Venous blood vessels) में हो सकते हैं। यह तब होता है जब यह थक्का टूट जाता है और रक्त के माध्यम से बहने लगता है, यह हृदय, फेफड़े या मस्तिष्क जैसे महत्वपूर्ण अंगों में रक्त के प्रवाह को बाधित करता है, और इसके परिणामस्वरूप स्ट्रोक (Stroke) हो सकता है।

ब्‍लड सर्कुलेशन 

रक्त के थक्के (Blood clotting) और स्ट्रोक (Stroke) के जोखिम को कम करने के लिए इन 5 आहारों का सेवन कर सकते हैं: 

हल्‍दी 

हल्दी एक मसाला है जो व्यंजन को एक पीला रंग देता है, और इसे लंबे समय से एक चिकित्सा समाग्री के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। 2012 के एक अध्ययन के अनुसार, हल्‍दी में मौजूद करक्यूमिन एक थक्का-रोधी (Anticoagulant) के रूप में कार्य करता है। यह थक्के को बनाने से रोकने के लिए थक्‍का बनाने वाले घटकों को रोकने का काम करता है। शरीर में ब्लड सर्कुलेशन खराब होने पर होते हैं ये 7 बदलाव

अदरक 

अदरक एक औषधि है। इसे अपने आहार में शामिल करने का एक सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप अपनी सुबह की शुरुआत स्वादिष्ट अदरक की चाय से करें। शोध कहता है कि अदरक की चाय पीना काफी फायदेमंद है और इससे कई स्वास्थ्य समस्याएं ठीक हो सकती हैं। जब रक्त को पतला करने की बात हो या सूजन को कम करने और मांसपेशियों को आराम देने, इन सब के लिए अदरक फायदेमंद होता है। अदरक की एक कप चाय आपके स्वास्थ्य के लिए चमत्कार कर सकती है।

इसे भी पढ़ें: धमनियों में प्‍लाक जमा होने के संकेत हैं पीठ में दर्द और स्‍तंभन दोष, जानें इससे बचने के उपाय

लाल मिर्च 

लाल मिर्च गुणों से भरपूर होते हैं जो हमारे रक्त को पतला करने में मदद करते हैं। और, इसका श्रेय सैलिसिलेट्स को जाता है, जो उच्च मात्रा में लाल मिर्च में पाए जाते हैं। हमारे दैनिक आहार में लाल मिर्च को शामिल करने से आपका रक्तचाप कम हो सकता है और परिसंचरण में वृद्धि हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: खून को पतला करने वाली दवाओं के दुष्‍प्रभाव से कैसे बचें

दालचीनी 

हम अपने पकवान या पेय के स्वाद और खुशबू को बढ़ाने के लिए दालचीनी मिलाते हैं, खासकर जब चाय में जोड़ा जाता है, तो स्वाद बढ़ जाता है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि यह एक शक्तिशाली थक्कारोधी है। दालचीनी रक्तचाप को कम करने में सक्षम है। इससे स्ट्रोक होने की संभावना कम हो सकती है। हालांकि, दालचीनी के लंबे समय तक सेवन से लीवर को नुकसान हो सकता है, इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप इस मसाले का संयम से उपयोग करें।

इसे भी पढ़ें: लगातार बैठकर काम करने से शरीर में घटता है ब्‍लड सर्कुलेशन, खून का थक्‍का बनने का रहता है खतरा

साल्‍मन 

ऐसा कहा जाता है कि ओमेगा -3 फैटी एसिड जैसे सैल्मन, टूना और ट्राउट रक्त पतला करने वाले खाद्य पदार्थों में से एक हैं। ओमेगा -3 फैटी एसिड हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, वे रक्त में थक्के जमने की संभावना को कम करने के लिए जाने जाते हैं।

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK