अच्छी मसल्स वाली बॉडी चाहिए तो सिर्फ एक्सरसाइज नहीं पर्याप्त, खाएं प्रोटीन से भरपूर ये 5 हेल्दी फूड्स

Updated at: Aug 12, 2020
अच्छी मसल्स वाली बॉडी चाहिए तो सिर्फ एक्सरसाइज नहीं पर्याप्त, खाएं प्रोटीन से भरपूर ये 5 हेल्दी फूड्स

अगर आप मस्कुलर बॉडी पाना चाहते हैं और बॉडी को परफेक्ट शेप देना चाहते हैं, तो एक्सरसाइज के साथ-साथ प्रोटीन से भरपूर ये 5 फूड्स भी खाएं, ताकि मसल्स बनें

Anurag Anubhav
स्वस्थ आहारWritten by: Anurag AnubhavPublished at: Aug 12, 2020

मस्कुलर बॉडी का आकर्षण लड़के-लड़कियों दोनों को प्रभावित करता है। बॉडी में चर्बी जमा न हो, बाइसेप्स-ट्राइसेप्स दिखें, सिक्स पैक एब्स हों और पूरे बॉडी का शेप परफेक्ट हो इसकी चाहत बहुत सारे लोगों को होती है। लोगों को लगता है कि सिर्फ जिम जाकर एक्सरसाइज करने से उनकी बॉडी अच्छी बन जाएगी। मगर ऐसा नहीं है। हमारे शरीर में मसल्स और टिशूज का निर्माण प्रोटीन के द्वारा होता है। इसलिए अगर आप एक्सरसाइज करेंगे लेकिन आपके शरीर में प्रोटीन की कमी रहेगी, तो आपकी बॉडी नहीं बन सकती है। इसलिए हम आपको बता रहे हैं प्रोटीन से भरपूर 5 ऐसे फूड्स, जो मसल्स बढ़ाने में मददगार हो सकते हैं। इन फूड्स का सेवन करने और रेगुलर वर्कआउट करने से आपको बहुत जल्दी रिस्पॉन्स मिलेगा।

muscle building foods

सोयाबीन्स से बने प्रोडक्ट्स

सोयाबीन को शाकाहारी लोगों के लिए प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। सोया के बीज बहुत हेल्दी होते हैं और इनमें प्रोटीन की मात्रा अच्छी होती है। आप चाहें तो सोया के बीजों से बनी डिशेज का भी सेवन कर सकते हैं और चाहें तो सोयाबीन्स से बने अलग-अलग प्रोडक्ट्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे- सोया बड़ी, सोया चाप, सोया टोफू, सोया मिल्क, सोया ग्रैन्यूल्स आदि। सोयाबीन के रेगुलर सेवन आपके हार्ट के लिए भी फायदेमंद होता है क्योंकि इनमें प्लांट बेस्ड प्रोटीन के साथ-साथ कई महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स होते हैं। मसल्स बनाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप सोया के बीजों को पानी में भिगोकर रख दें और फिर अंकुरित होने पर इन्हें खाएं। आपको 100 ग्राम सोयाबीन्स से 36 ग्राम प्रोटीन मिल सकता है।

इसे भी पढ़ें: क्या आप जानते हैं कि कितना और क्यों जरूरी है हमारे लिए प्रोटीन? ज्यादातर भारतीय नहीं जानते

सभी तरह की दाल खाएं

मसल्स बनाने के लिए आपको अपने खाने में दाल जरूर खानी चाहिए। भारतीय खानपान में तो दाल का विशेष स्थान इसीलिए है क्योंकि ये प्रोटीन से भरपूर होती हैं। स्प्राउटेड दाल को आप ब्रेकफास्ट में, पकी हुई दाल को लंच और डिनर में खा सकते हैं। इसके अलावा भी साबुत दालों को उबालकर घुघनी और दूसरी डिशेज बनाई जाती हैं। दाल खाने से भी मसल्स बनाने में मदद मिलती है। एक कप पकी हुई दाल में लगभग 18 से 20 ग्राम प्रोटीन होता है। आप खाने में अरहर, मूंग, मसूर, चने आदि दालों का सेवन कर सकते हैं। रोज बदल-बदलकर दालें खाने से आप जल्दी बोर भी नहीं होंगे।

क्विनोआ सीड्स

क्विनोआ के बीज पिछले कुछ सालों में तेजी से विश्वभर में पॉपुलर हुए हैं। क्विनोआ को वजन घटाने के लिए फायदेमंद माना जाता है क्योंकि ये मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है और फैट बर्न करने में मदद करता है। इसके अलावा क्विनोआ के सेवन से मसल्स बनती हैं क्योंकि इसमें अच्छी मात्रा में प्रोटीन होता है। क्विनोआ में प्रोटीन के अलावा एमिनो एसिड्स, फाइबर, मैग्नीशियम, कैल्शियम, विटामिन B और विटामिन E, पोटैशियम, आयरन आदि होता है। क्विनोआ से भी आप ढेर सारी डिशेज बना सकते हैं।

quinoa for protein

अंडा

अंडा प्रोटीन का सबसे किफायती और बेहतरीन स्रोत है। अंडे में प्रोटीन की मात्रा तो अच्छी होती है साथ ही एमिनो एसिड्स और दूसरे तत्व होते हैं, जो एक्सरसाइज और वर्कआउट करने वालों के लिए विशेष फायदेमंद होते हैं। अंडे में मौजूद ये पोषक तत्व एक्सरसाइज के बाद डैमेज हो चुकी मसल्स और टिशूज की रिकवरी करते हैं और आपको सेहतमंद रखते हैं। मसल्स बनाने के लिए आपको उबले हुए अंडे खाने चाहिए। इसके अलावा आप अंडे से कई पौष्टिक और स्वादिष्ट डिशेज भी बना सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: दूध या अंडा, किसका प्रोटीन है ज्यादा हेल्दी? क्या आप एक साथ अंडे और दूध का सेवन कर सकते हैं?

chicken for protein

मछली और चिकन ब्रेस्ट

मछलियां प्रोटीन का अच्छा स्रोत होती हैं। बहुत सारी मछलियां ओमेगा-3 फैटी एसिड का सबसे बेहतर स्रोत मानी जाती हैं। ये वो एसिड है, जो आपकी आर्टरीज को हेल्दी रखता है और दिल की बीमारियों का खतरा कम करता है। आपक खाने में सैल्मन, ट्यूना, मकरेल जैसी मछलियों को शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा चिकन ब्रेस्ट का सेवन करना भी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। चिकन ब्रेस्ट को पकाना भी आसान होता है। चिकन ब्रेस्ट में सेलेनियम होता है जो सेल्स को फ्री-रेडिकल्स से होने वाले डैमेज से बचाता है। इसलिए आप इसका सेवन भी कर सकते हैं।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK