• shareIcon

Lemongrass: कैंसर, हाई कोलेस्ट्रॉल और डिप्रेशन जैसी समस्याओं से बचाता है लेमनग्रास

आयुर्वेद By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 28, 2019
 Lemongrass: कैंसर, हाई कोलेस्ट्रॉल और डिप्रेशन जैसी समस्याओं से बचाता है लेमनग्रास

लेमनग्रास (Lemongrass) एक ऐसी घास है जिसका इस्तेमाल, चाय बनाने (Lemongrass Tea) और डिशेज का फ्लेवर बढ़ाने में किया जाता है। लेमनग्रास के सेवन से हाई कोलेस्ट्रॉल, ब्लड प्रेशर, डिप्रेशन और कैंसर जैसी बीमारियों से बचाव संभव है।

लेमनग्रास एक तरह की घास होती है, जिसे भारत के साथ-साथ पश्चिमी देशों में बहुत गुणकारी हर्ब माना जाता है। मुख्यतौर पर लेमनग्रास का प्रयोग चाय बनाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा ये घास फ्लेवर बढ़ाने के लिए तमाम तरह की डिशेज में भी डाली जाती है। इसमें में ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, इसलिए लेमनग्रास की चाय (Lemongrass Tea) सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है। लेमनग्रास की खुश्बू नींबू जैसी होती है, इसलिए इसे लेमनग्रास नाम दिया गया है। लेकिन इसका स्वाद हल्का मीठा होता है।

लेमनग्रास फॉलेट, विटामिन ए, विटामिन सी, फॉलिक एसिड, जिंक, मैग्नीशियम, आयरन, कॉपर, फॉस्फोरस, पोटैशियम, मैंग्नीज और कैल्शियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा इसमें विटामिन बी भी थोड़ी मात्रा में पाया जाता है। इतने सारे मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होने के कारण लेमनग्रास का उपयोग तमाम आयुर्वेदिक औषधियों और घरेलू नुस्खों में किया जाता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है लेमनग्रास (Lemongrass for Immunity)

लेमनग्रास के सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसमें मौजूद ढेर सारे पोषक तत्वों के कारण आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और विटामिन सी के कारण इम्यून सिस्टम अच्छा रहता है। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आप लेमनग्रास का प्रयोग चाय बनाने और हर्ब के रूप में डिशेज में कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:- डायबिटीज, ब्लड प्रेशर और मोटापा घटाने के लिए रोज पिएं 'सहजन की पत्तियों की चाय', जानें बनाने का तरीका

कैंसर से बचाता है लेमनग्रास (Herb to Prevent Cancer)

कई शोधों में पाया गया है कि लेमनग्रास कैंसर से बचाव में कारगर है। लेमनग्रास में कैंसररोधी गुण पाए जाते हैं। दरअसल इस घास में एक खास तत्व होता है जिसे 'सिट्राल' कहते हैं। रिसर्च में पाया गया है कि ये तत्व कैंसर सेल्स को शुरुआती अवस्था में रोकने में कारगर है। इस घास को ब्रेस्ट कैंसर और स्किन कैंसर में काफी फायदेमंद पाया गया है।

डिप्रेशन में भी है फायदेमंद (Lemongrass in Stress and Depression)

लेमनग्रास में एंटीडिप्रेसेंट गुण होते हैं, जिसके कारण इसके सेवन से व्यक्ति को चिंता, तनाव, दिमागी टेंशन आदि से राहत मिलती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में 'सेरोटोनिन' हार्मोन को बढ़ाने और उत्सर्जन में मदद करते हैं। ये ऐसा हर्मोन है, जो व्यक्ति को डिप्रेशन से बचाता है। इसके अलावा लेमनग्रास मांसपेशियों के तनाव को कम करती है, जिससे दिमाग शांत होता है। रोजाना एक कप लेमनग्रास टी पीना सेहत और मस्तिष्क दोनों के लिए फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ें:- याददाश्त और एकाग्रता बढ़ाती हैं तुलसी की पत्तियां, जानें सेवन का सही तरीका

कोलेस्ट्रॉल व दिल की बीमारियों से बचाए लेमनग्रास (Ayurvedic Herb for Heart Diseases)

लेमनग्रास की पत्तियां कोलेस्ट्रॉल घटाने में भी मददगार हैं। ताजे या सूखे लेमनग्रास की चाय पीने से आंतों में कोलेस्ट्रॉल कम अवशोषित होता है, इसके अलावा इसमें मौजूद तत्व खून में घुले बैड कोलेस्ट्रॉल (LDL) को ऑक्सिडेशन में मदद करते हैं, जिससे प्लाक जमा नहीं होता है। ये बातें 1989 में University of Wisconsin में हुई रिसर्च में पता चली हैं। इसके अलावा लेमनग्रास में पोटैशियम की मात्रा अच्छी होती है इसलिए ये घास ब्लड प्रेशर को भी कम करती है।

बुखार का आसान घरेलू इलाज है लेमनग्रास (Lemongrass for Fever)

लेमनग्रास बुखार को ठीक करने में बहुत फायदेमंद पाया गया है। इसीलिए अंग्रेजी में इसे 'फीवर ग्रास' भी कहते हैं। लेमनग्रास में एंटी-पायरेटिक गुण होते हैं, इसलिए आयुर्वेद के अनुसार ये बुखार के लिए सबसे बेस्ट घरेलू इलाज है। बुखार आने पर व्यक्ति को लेमनग्रास टी पिलाने से जल्द ही बुखार से राहत मिलती है।

Read more articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK