• shareIcon

बासी रोटी खाने के ये 5 फायदे जानकर रह जाएंगे दंग! ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और कब्ज में मिलेगा आराम

स्वस्थ आहार By शीतल बिष्‍ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 17, 2019
बासी रोटी खाने के ये 5 फायदे जानकर रह जाएंगे दंग! ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और कब्ज में मिलेगा आराम

Benefits of Eating Stale Chapati: अक्‍सर कहा जाता है कि रात का बासी खाना नहीं खाना चाहिए, क्‍योंकि वह फूड पॉइजनिंग का एक बड़ा कारण बन सकता है। लेकिन अगर रात की बची रोटी यानि बासी रोटी की बात की जाए, तो इसके आपके लिए कई फायदे हैं। 

Benefits of Eating Stale Chapati: बची हुई रोटियों का आप क्या करते हैं? ज्यादातर लोग या तो उन्हें फेंक देते हैं या उन्हें आवारा जानवरों को खिलाते हैं। क्‍योंकि आमतौर पर लोग खाने को 12 घंटे से अधिक समय होने पर उसे मानते है, जो कि आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। बासी खाना खाने से आपको दस्‍त, फूड पॉइजनिंग, एसिडिटी और अन्‍य कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं हो सकती हैं। लेकिन कम ही लोगों को यह बात पता है कि बासी रोटी खाने से आपको नुकसान नहीं, फायदे हो सकते हैं। जी हां बासी रोटी खाने से आपका ब्लड शुगर लेवल कम होता है और ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मदद मिलती है। 

बासी रोटी के फायदों के साथ इसकी दिलचस्प बात यह है कि ये रेडी-टू-मेक फूड है, जैसे पोहा, ओट्स आदि से कहीं बेहतर है। आइए जानते हैं, क्यों बासी रोटी खाना आपके लिए अच्छा है।

बासी रोटी खाने के फायदे (Benefits of Eating Stale Chapati)

गेहूं के आटे से बनी बासी रोटी पोषक तत्वों से भरपूर होती है। इसमें हाई फाइबर, लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स और सोडियम की मात्रा कम होती है, जो इसे नाश्ते के लिए एकदम सही व स्‍वस्‍थ बनाता है। आइए यहां हम बासी रोटी खाने के कुछ फायदे आपको बताते हैं।

डायबिटीज में मददगार (Help In Diabetes)

बासी रोटी आपके ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करके डायबिटीज कंट्रोल करने में मददगार है। इसलिए डायबिटीज रोगियों का बासी रोटी खाना फायदेमंद है। आप सुबह उठकर दूध के साथ बासी रोटी का सेवन कर सकते हैं। 

ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल (Control Blood Pressure)

ठंडे दूध के साथ बासी रोटी खाने से हाई ब्‍लड प्रेशर के रोगियों में ब्‍लड प्रेशर लेवल कंट्रोल किया जा सकता है। इसके लिए उन्हें दूध में लगभग आधे घंटे के लिए बासी रोटी को भिगोए रखना है और फिर इसका सेवन करें। यह एक हेल्‍दी स्नैक्‍स के रूप में खाया जा सकता है। आप रात के खाने से बची रोटियों को नाश्ते में इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इससे खाना बर्बाद होने से भी बचेगा। 

शरीर के तापमान के लिए (Body Temperature Regulation)

किसी भी इंसान के शरीर का सामान्य तापमान 37 डिग्री सेल्सियस होता है। यदि यह 40 डिग्री से अधिक है, तो यह आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में बासी रोटी खाने से आपके शरीर के तापमान को सामान्‍य करने में मदद मिल सकती है। बासी रोटी में मौजूद पोषक तत्व तापमान को सामान्य करते हैं और शरीर के तापमान को अधिक होने से रोकते हैं। बासी रोटी खाने से एसिडिटी भी नियंत्रित होती है जो तापमान को नियंत्रित करती है।

इसे भी पढें: सेब खाने के बाद इन 4 चीजों का सेवन है सेहत के लिए खतरनाक, जानें क्यों?

बेहतर पाचन (Better Digestion)

यदि आप अक्सर पेट या पाचन संबंधी समस्याओं से परेशान हैं, तो आप बासी रोटी के उपाय के तौर पर आजमाएं। यह न केवल आपको अस्वास्थ्यकर खाने से रोकेगा, बल्कि एसिडिटी, अपच, कब्ज, गैस, आदि पेट की बीमारियों से बचाने में मददगार है। इसके लिए आप रात के खाने में दूध में भीगी हुई बासी रोटी खाएं।

बासी रोटी खाने के कुछ शानदार व आसान तरीके (Amazing Ways to Include Stale Chapati in your Diet)

दूध में बासी चपाती (Stale chapati in Milk):  बासी रोटी खाने का सबसे आसान तरीका है कि आप दूध के साथ बासी रोटी को खाएं। बची रोटियों को फेंकने के बजाय, उन्हें तोड़कर थोड़ा दूध डालें और फिर खाएं। यह दिन के किसी भी समय एक अच्‍छा खाना है। 

इसे भी पढें: वजन और ब्‍लड प्रेशर घटाने में मदद करता है लहसुन का नमक, जानें बनाने का तरीका व फायदे

रोटी नूडल्स (Chapati Noodles): यदि आप चाइनीज नूडल्स के शैकीन हैं, तो इसे रोटी के पतले स्लाइस के साथ नूडल्स की जगह देसी ट्विस्ट दें। यह न केवल सेहतमंद होगा, बल्कि बेहद स्वादिष्ट होगा। 

रोटी चिप्स (Chapati Chips): बची हुई रोटियों का उपयोग आप एक और स्वस्थ तरीके से कर सकते हैं। इसके लिए आप बेकिंग की हुई रोटी के चिप्स का सेवन करें, जिनमें बहुत कम या कोई बिलकुल तेल नहीं होता है। आप इन्‍हें अपनी पसंद की चटनी या सॉस के साथ खा सकते हैं।

रोटी की खीर (Chapati Kheer): अगर आप मीठे के शौकीन हैं, तो आप रोटी की खीर ट्राई कर सकते हैं। इसके लिए आपको बस दूध, बची हुई रोटी के टुकड़े और स्वीटनर चाहिए। अब आप उन्हें कुछ मिनट तक पकाएं जब तक वह मिश्रण एक गाढ़ी खीर की तरह न बन जाए। 

नोट: इस्‍तेमाल से पहले, सुनिश्चित करें कि रोटी को साफ जगह पर रखा गया हो और उससे कोई दुर्गंध न आ रही हो। क्‍योंकि खराब रोटी आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकती है।

डॉक्‍टर  कमल यादव, कंसल्टेंट डायटेटिक्स, मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, शालीमार बाग, दिल्ली के अनुसार, "बासी रोटी का सेवन सभी के लिए सही रूप से काम नहीं करता है। यह व्यक्ति की पाचन क्षमताओं पर निर्भर करता है। वृद्ध लोगों की तुलना में युवाओं का पाचन तंत्र व पाचन शक्ति बेहतर होती है। हमें केवल आवश्यक मात्रा में भोजन बनाकर खाने की बर्बादी को रोकने का प्रयास करना चाहिए"।

Read More Article On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK