बिना तकिया के सोना शरीर और सेहत के लिए क्यों माना जाता है फायदेमंद? जानें 5 बड़े फायदे

Updated at: Nov 25, 2020
बिना तकिया के सोना शरीर और सेहत के लिए क्यों माना जाता है फायदेमंद? जानें 5 बड़े फायदे

तकिया लगाकर सोना आरामदायक तो होता है, लेकिन सेहत के लिए ज्यादा बेहतर ये है कि आप बिना तकिया सोएं। जानें इसके 5 फायदे।

Naina Chauhan
अन्य़ बीमारियांWritten by: Naina ChauhanPublished at: Nov 25, 2020

हम सब रात में सोते समय तकिये का इस्तेमाल जरूर करते हैं। तकिये से आपके सिर को थोड़ी उंचाई मिल जाती है, जो हमें काफी आरामदायक पोजीशन लगती है। लेकिन ऊंची तकिया का प्रयोग करना कई तरह की परेशानियां भी दे सकता है। हमारे शरीर की रचना इस प्रकार से की गई है कि हमें सोते समय तकिये का प्रयोग नहीं करना चाहिए। पहले के समय में लोग जमीन पर सोते थे और तकिया जैसी चीजें नहीं होती थीं या बहुत हुआ तो सिर के नीचे गमछा या कोई कपड़ा रखकर सो जाते थे। इससे उनके शरीर को सेहत से जुड़े कई लाभ मिलते थे। जो आजकल तकिया लगाने के कारण लोगों को नहीं मिलते हैं। तकिया लगाकर सोने से शरीर के कई अंगों पर अलग-अलग तरह से प्रभाव पड़ता है। डॉक्टर्स भी बिना तकिये के सोने की सलाह देते हैं। आइये जानते हैं बिना तकिये के सोने से (sleeping without pillow) शरीर को क्या लाभ मिलते हैं।

 insidehealthsleep

बिना तकिये लगाए मिलते हैं ये लाभ-

1. रीढ़ की हड्डी को मिलता है आराम 

जब व्यक्ति सोते समय अपने सिर के नीचे तकिया लगाकर सोता है तो उससे रीढ़ की हड्डी और सिर की पोजीशन एक समान नहीं होती है। खासकर ज्यादा ऊंची तकिया लगाने पर रीढ़ की हड्डी की पोजीशन सोते समय टेढ़ी रहती है, जिसके कारण कई तरह के परेशानियां हो सकती हैं। अक्सर इसी के कारण सोकर उठने पर लोगों में शरीर में अकड़न और पीठ दर्द की शिकायत देखने को मिलती है। इसलिए आपके लिए बिना तकिया सोना ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि इससे आपकी रीढ़ की हड्डी और सिर की पोजीशन सीधी बनती है। बिना तकिये लगाए सोने से व्यक्ति की गर्दन स्पाइन की दिशा में रहती है, जिसकी वजह से पीठ दर्द की समस्या नहीं होती।

इसे भी पढ़ें: आयराइटिस को ना करें कंजंक्टिवाइटिस समझने की गलती, वरना जा सकती है आपके आंखों की रोशनी

2. चेहरे पर झुर्रियां नहीं पड़ती हैं

जो लोग सोते समय बहुत फूली हुई और मुलायम फोम वाली तकिये का इस्तेमाल करते हैं उनके चेहरे पर झुर्रियां जल्दी देखने को मिलती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ऐसी फोम वाली तकिया लगाकर सोने से चेहरे पर दबाव पड़ता है और तकिये पर मौजूद धूल-गंदगी और बैक्टीरिया आदि स्किन पोर्स में समाकर त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं। इसके कारण चेहरे की त्वचा पर मुंहासे की समस्या भी हो सकती है। तो अच्छा यही है  कि आप बिना तकिया सोएं।

3. सिर के हिस्से में रक्त प्रवाह ज्यादा होता है

तकिया लगाकर सोने से आपका सिर आपके हृदय (Heart) से ज्यादा उंचाई पर रहता है। गुरुत्वाकर्षण (Gravitation) के विरुद्ध खून को ऊपर जाने में ज्यादा प्रयास करना पड़ता है, इसलिए तकिया लगाकर सोने की अपेक्षा बिना तकिया लगाए सोने से सिर के हिस्से में रक्त प्रवाह ज्यादा बेहतर होता है। इससे आपको नींद भी ज्यादा अच्छी आती है, बालों की ग्रोथ तेज होती है और तनाव-चिंता की समस्या भी दूर होती है। इसलिए आपको बिना तकिया ही सोना चाहिए। इससे आपकी नींद भी पूरी होगी और आप अगले दिन फ्रेश महसूस करते हैं।

insidesleep

4. मानसिक स्वास्थ्य और याददाश्त बेहतर होती है

जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है कि बिना तकिये के सोने से सिर के हिस्से में रक्त प्रवाह ज्यादा होता है। इसका फायदा आपको आपके मानसिक स्वास्थ्य में भी मिलता है। जो लोग तकिया के बिना सोते हैं, उनकी याददाश्त अच्छी होती है और मानसिक संतुलन ठीक रहता है।

इसे भी पढ़ें : रक्त विकार (Blood Disorder) कैसे स्वास्थ्य के लिए है खतरनाक? जानें इसके प्रकार, लक्षण और बचाव के तरीके

5. अनिद्रा जैसी परेशानी नहीं होती

जिन लोगों को अनिद्रा की समस्या होती है, उनके लिए बिना तकिया लगाए सोना फायदेमंद हो सकता है क्योंकि बिना तकिया के सोने से स्ट्रेस कम होता है और नींद गहरी आती है। बचपन से तकिये के साथ सोने के कारण संभव है कि कुछ लोगों को शुरुआती दिनों में थोड़ी असुविधा लगे। लेकिन जब आप बिना तकिया सोने की आदत डालेंगे, तो कुछ दिन बाद आपको सहज महसूस होने लगेगा।

 

इस तरह आप भी बिना तकिया सोने की आदत डालकर अपने शरीर को होने वाले कई नुकसान से बचा सकते हैं और कई अतिरिक्त फायदे भी पा सकते हैं। हालांकि अगर आपको तकिया लगाकर सोना जरूरी ही लगता है, तो कोशिश करें कि जितनी कम उंचाई की तकिया लगा सकते हैं, उतने कम उंचाई की प्रयोग करें। पतली तकिया होने से बॉडी की पोजीशन गड़बड़ नहीं होगी।

Read More Article On Miscellaneous  In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK