जल्द से जल्द एब्स बनाने के चक्कर में कहीं आप यह 7 गलतियां तो नहीं कर रहे

Updated at: Dec 04, 2020
जल्द से जल्द एब्स बनाने के चक्कर में कहीं आप यह 7 गलतियां तो नहीं कर रहे

क्या आप चाह कर भी अपने एब्स नहीं बना पा रहे? कहीं इसके पीछे कुछ वर्कआउट कमियां तो नहीं? जानने के लिए पढ़ें यह लेख।

 

Monika Agarwal
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Monika AgarwalPublished at: Sep 11, 2020

यदि आप सिक्स पैक्स बनाने की चाह रखते हैं और इसके लिए रोज सुबह कुछ कसरत करतें हैं, तो यह काफी नहीं है। इसके लिए केवल फ्लैट टमी पा लेना या रोज जिम जाना ही काफी नहीं, बल्कि इसके लिए जरूरत है एक अच्छी डाइट और  नियमित व सही तरीके से की गई कसरत की। एक्सपर्ट के अनुसार सिक्स पैक्स पाने के लिए अपना पोस्चर सही करना व कोर मसल्स की मजबूती सबसे जरूरी है। लेकिन, वर्कआउट के दौरान की गई गलतियां जो खासकर कोर मसल्स से संबंधित हैं जैसे कि मांसपेशियों में चोट लगना, मांसपेशियों में ऐंठन या सूजन आदि हो सकती हैं। इसलिए सावधानीपूर्वक निम्न  गलतियों को दोहराने से बचें।

ABS

7 गलतियां, जो एब्स बनाते वक्त अक्सर लोग करते हैं  

क्रंचेज गलत ढंग से करना (Wrong Crunches)

जब बात एब्स को ट्रेन करने की हो तो सबसे पहले आप के लिए जरूरी कसरत है क्रंचेज।  यदि आप क्रंचेज करते समय अपनी चिन को अपनी छाती की ओर लाते हैं और अपनी पीठ को कुछ ज्यादा ही ऊपर ले आते हैं। तो इससे आप की गर्दन और पीठ की मांसपेशियों में तनाव होने की संभावना रहती है। दूसरी गलती यह होती है कि आप अपनी गर्दन के नीचे अपने हाथों को रखते हैं। जबकि आप को अपनी छाती के आसपास हाथ रखने चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः घर पर बैठे-बैठे होने लगा पैरों में दर्द? एक्सपर्ट से सीखें इस दर्द को दूर करने वाली आसान एक्सरसाइज

पर्याप्त रेजिस्टेंस का प्रयोग न करना (Not In A Proper Format)

एब्स की मांसपेशियां भी आप के कंधे व बाइसेप्स जैसी ही होती हैं। इसलिए उन्हें ट्रेन होने में भी समय लगता है। यदि आप शुरू शुरू में बहुत जी तोड़ मेहनत करते हैं, हर रोज बहुत ज्यादा स्क्वाट्स करते हैं। तो उनसे आपको कोई फायदा नहीं होगा और बॉडी में भी कसाब नहीं आएगा। इसलिए हल्के वेट लिफ्टिंग से शुरुआत करें और बाद में धीरे धीरे बढ़ाएं।

ABS

गलत मूवमेंट करना (Exercise With Wrong Moves)

एब्स के लिए ट्रेनिंग शुरू करते समय आप को शुरुआत अपने बीच के भाग यानी पेट से करनी है। इस के लिए झुकने या मुड़ने वाली सभी कसरत सही प्रकार से करें। सबसे पहले आप को पैर उठाने हैं। उसके बाद अपर एब मूवमेंट करें। इसके बाद धीरे धीरे क्रंचेज के अलग अलग प्रकार को समझें। इन गतिविधियों से आप के एब्स डेवलप होने में मदद मिलेगी।

इसे भी पढ़ेंः शुरुआती इन आम गलतियों के कारण खराब होता है आपका वर्कआउट, इस तरह ट्रेनिंग को बनाएं बेहतर

ज्यादा समय के लिए प्लैंक करना (Planks For Long Period)

यदि आप के पेट की मांसपेशियां मजबूत हैं तो आप बिना किसी परेशानी के बहुत देर तक प्लैंक कर सकते हैं। परन्तु इससे आप की मांसपेशियां तनावग्रस्त हो सकती हैं और आप को इस बारे में पता भी नहीं चलेगा। ज्यादा समय तक प्लैंक करने की बजाय आप, प्लैंक में थोड़े परिवर्तन शामिल कर सकते हैं। जैसे एक टांग के साथ प्लैंक करना या एक हाथ के साथ प्लैंक करना।

आप केवल स्पॉट ट्रेनिंग करते हैं (Spot Training)

यदि आप एब्स पाना चाहते हैं तो केवल एब्स से सम्बन्धित एक्सरसाइज करने से ही आप को एब्स नहीं मिलने वाले हैं। आप को एब्स के साथ साथ कार्डियो भी करना चाहिए और एक हेल्दी डाइट भी लेनी चाहिए। इसके बाद आप को एक अच्छे व डिफाइन ऐब्स मिल सकते हैं। म करना होगा। सप्ताह में दो बार एब्स अभ्यास करें और समग्र फिटनेस के लिए शक्ति प्रशिक्षण, कार्डियो, प्लायोमेट्रिक अभ्यास जैसे अन्य अभ्यास भी करें।

फ्लैट पेट की उम्मीद रखना (Flat Belly)

केवल एब्स की एक्सरसाइज करके आप अपना बेली फैट कम नहीं कर सकते। क्रंचेज के द्वारा आप एब्स डेवलप कर सकते हैं परन्तु फिर भी आप को अपनी सारी बॉडी का फैट कम करने की आवश्यकता होती है। इसलिए केवल एक ही जगह के फैट को कम करने के लिए एक्सरसाइज न करें।

लेग लिफ्ट्स (Leg Lifting Exercise)

यदि आप लेग लिफ्ट्स करते हैं तो आप कई बार अपनी पीठ को बहुत ऊपर तक ले जाते हैं। जिस कारण आप अपनी कमर को नुक़सान पहुंचा लेते हैं। इससे आप की मांसपेशियां क्षतिग्रस्त हो सकती हैं और आप को किसी प्रकार का लाभ भी नहीं मिलेगा। यदि आपने पहली बार यह सब एक्सरसाइज रोती है तो आपके लिए और भी जरूरी है एक्सरसाइज से जुड़ी हर तकनीक को  जानना। तभी धीरे धीरे आप एब्स बनाने में कामयाब हो पाएंगे।

यदि आप बिना किसी चोट लगे व आसानी से और जल्द ही अपने एब्स चाहते हैं तो ऊपर लिखित टिप्स को जरूर ट्राई करें।

डॉ राजीव राजेश, चीफ योगा ऑफिसर, जिंदल नेचरक्योर इंस्टीट्यूट, बेंगलुरू से बातचीत पर आधारित।

Read More Article On Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK