Work From Home: कंप्यूटर पर लगातार काम करना छिन सकता है आपके आंखों की नमी, काम के बीच में करें ये 4 क्विक योगा

Updated at: May 29, 2020
Work From Home: कंप्यूटर पर लगातार काम करना छिन सकता है आपके आंखों की नमी, काम के बीच में करें ये 4 क्विक योगा

अगर आप आंखों के लिए योग वर्कआउट का अभ्यास करते हैं, तो आंखों की मांसपेशियां अधिक लचीली और अनुकूल होंगी।

Pallavi Kumari
योगाWritten by: Pallavi KumariPublished at: May 26, 2020

COVID-19 लॉकडाउन के बीच घर से काम करना (Work From Home) में हमारे काम के घंटों में वृद्धि हुई है। वहीं लंबे समय तक काम करने से तनाव, गर्दन और पीठ में दर्द, वजन बढ़ने और आंखों से जुड़ी परेशानियां बढ़ती ही जा रही है। काम के अलावा, विभिन्न स्क्रीन, विशेष रूप से मोबाइल फोन को देखने में भी बहुत समय बितान हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों पर गहरा प्रभाव डाल रहा है। साथ ही अगर बात सिर्फ आंखों के स्वास्थ्य की करें, तो घंटों तक काम करने से आंखों में थकान, धुंधली दृष्टि, खुजली, पानी से भरें आंखें, सिर दर्द, डबल दृष्टि, और आंखों की नमी का सूख जाना आदि बढ़ रही है। 

insideyogaforeyes

ऐसा इसलिए है, क्योंकि मानव आंखों को लंबे समय तक किसी भी चीज पर बारीकी से काम करने के लिए नहीं बनाया गया है। इसलिए अगर आप ऐसा कर रहे हैं, तो आपको अपने काम के बीच अपनी आंखों को थो़ड़ा आराम भी देना चाहिए। इसके लिए आप आंखों हेतु योगासन (Yoga For Eyes) कर सकते हैं । वे आपकी ओवरवर्क की गई आंख की मांसपेशियों को आराम करने देंगे, आपके चेहरे की मांसपेशियों में तनाव को कम करके, मांसपेशियों को मजबूत करेंगे जो फोकस को ठीक करने में मदद करते हैं। इसके अतिरिक्त, आंखों का व्यायाम आपके ध्यान की अवधि को कम करने में मदद करेगा, जिससे आप शांत हो जाएंगे। जैसे-जैसे आपकी एकाग्रता बढ़ती है, आप अपने शरीर के संकेतों और काम पर ध्यान देने में बेहतर होंगे। तो आइए जानते हैं इन योगासनों के बारे में।

इसे भी पढ़ें : Yoga Quiz: योग को लेकर कितने जागरूक हैं आप? खेलें ये क्विज और परखें अपना ज्ञान

आंखों के लिए योगासन (Yoga For Eyes)

आंखों की करें मसाज

अपने हाथों को 10 से 15 सेकंड तक रगड़ें जब तक कि वे गर्म और ऊर्जावान महसूस न हों। फिर धीरे से अपने हाथों को अपनी आंखों के ऊपर रखें, उंगलियों को माथे पर टिकाएं, हथेलियों को आंखों के ऊपर और हाथों की एड़ी को गालों पर टिकाएं। सीधे नेत्रगोलक को स्पर्श न करें, लेकिन हाथों को थोड़ा खोखला करें और उन्हें आंखों के सामने अंधेरे का पर्दा बनाने की कोशिश करें। अपनी आंखें बंद करें, गहरी सांस लें और आराम करें। इस क्रिया को तब तक जारी रखें जब तक यह सुखदायक महसूस न हो जाए। अब जब आपको आराम महसूस हो तो तो धीरे से हाथों को चेहरे से हटाएं और धीरे-धीरे आँखें खोलें।

फोक्स सिफ्टिंग और ध्यान

दूर की वस्तु पर अपनी निगाहें टिकाएं (यदि आप घर के अंदर हैं, तो एक खिड़की पर देखें)। आंखों और चेहरे पर तनावमुक्त रहते हुए, जितना हो सके स्पष्ट रूप से वस्तु पर ध्यान दें। एक गहरी सांस लें, और फिर धीरे-धीरे अपने टकटकी को अपने आस-पास की किसी अन्य दूर की वस्तु में स्थानांतरित करें। कल्पना कीजिए कि आपकी आंखें धीरे-धीरे ढल रही हैं, जो आप देख रहे हैं। अपनी आंखों को अपने आस-पास की दुनिया के बारे में बताते रहें, पल-पल वस्तुओं से विचलित होते हुए ध्यान में जाने की कोशिश करें।

इसे भी पढ़ें : बच्चों का पढ़ाई में नहीं लगता मन या एकाग्रता की है कमी, सिखाएं ये 3 योगासन बढ़ेगी मानसिक क्षमता और एकाग्रता

आंखों को चारों ओर चलाएं

अपने पीठ को सीधा रखें और आराम की सांस लेते हुए सीधा बैठें। अपनी आंखों और चेहरे की मांसपेशियों को आराम देकर अपने आंखों को नरम करें। अपने सिर को हिलाए बिना, अपने टकटकी को छत की ओर निर्देशित करें। फिर धीरे-धीरे अपनी आंखों को एक दक्षिणावर्त दिशा में सर्कल करें, जितना संभव हो उतना बड़ा सर्कल। धीरे से अपनी परिधि में वस्तुओं पर ध्यान केंद्रित करें जैसा कि आप ऐसा करते हैं, और तब तक ऐसा करें, जब कि आपको अपने आंखों में नमी महसूस न होने लगे। इसे तीन बार दोहराएं, फिर आंखें बंद करें और आराम करें। पांच मिनट बाद अपना काम फिर से शुरू कर दें।

अपने अंगूठे से नाक को छूते हुए आंख को केंद्रित करें

अपने शरीर को आराम दें और आराम से सांस लें। एक हाथ को सीधे मुट्ठी में अपने सामने रखें, अंगूठे की ओर इशारा करते हुए। अपने अंगूठे पर ध्यान दें। अपनी आंखों को इस पर प्रशिक्षित रखते हुए, धीरे-धीरे अंगूठे को अपनी नाक की ओर ले जाएं, जब तक कि आप उस पर स्पष्ट रूप से ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते तब तक ये करते रहें। एक बार सांस लेने तक रूके और फिर हाथ को अंगूठे पर ध्यान बनाए रखते हुए वापस अपनी मूल बाहरी स्थिति में ले आएं। 10 बार तक इसे दोहराएं। इससे आपकी आंखों में फ्रेशनेस आ जाएगी।

Read more articles on Yoga in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK