स्मोकिंग की लत छोड़ने में मदद करेंगी अमरूद की पत्तियां और दूध, डायटीशियन स्वाती बाथवाल से जानें 3 आसान तरीके

धूम्रपान की लत को छुड़ाना काफी मुश्किल भरा काम है। अगर आप भी धूम्रपान छोड़ना चाह रहे हैं, तो एक्सपर्ट के दिए इन टिप्स को जरूर फॉलो करें।

Kishori Mishra
घरेलू नुस्‍खReviewed by: स्वाती बाथवाल, इंटरनैशनल स्पोर्ट्स डायटीशियनPublished at: Mar 25, 2021Written by: Kishori Mishra
Updated at: Mar 25, 2021
स्मोकिंग की लत छोड़ने में मदद करेंगी अमरूद की पत्तियां और दूध, डायटीशियन स्वाती बाथवाल से जानें 3 आसान तरीके

धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारण होता है। इस बात से हम सभी अच्छी तरह वाकिफ है। लेकिन फिर भी हम में से कई ऐसे लोग हैं, जो धूम्रपान की हानियों को जानने के बावजूद इसका सेवन करना नहीं छोड़ते हैं। हर साल 10 मार्च को नो स्मोकिंग डे मनाया जाता है, जिसमें कई लोग यह प्रण लेते हैं कि वह आज से स्मोकिंग नहीं करेगें। लेकिन आगे ऐसा कर नहीं पाते हैं क्योंकि स्मोकिंग की ललक उन्हें दोबारा स्मोकिंग करने पर मजबूर कर देती है। धूम्रपान का सेवन करने वालों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। बढ़ती महामारी के बीच सबसे अधिक यह सर्च किया गया है कि क्या "धूम्रपान करने वालों की कोविड-19 से मृत्युदर अधिक है?" डायटीशियन स्वाती बाथवाल बताती हैं कि सिगरेट के हर एक पफ (कश) के जरिए हम अपने शरीर में 7000 केमिकल्सयुक्त सांसें लेते हैं। अब ऐसे में क्या हम जो केमिकल्सयुक्त सांसे ले रहे हैं, वह इम्यून पावर को बढ़ाएगा? कैसे धूम्रपान के सेवन से आप अपने स्वास्थ्य को ठीक कर सकते हैं? धूम्रपान का सेवन ना आपके लिए सही है और ना ही आपके परिवार के लिए, तो ऐसे में इसका त्याग करना ही आपके लिए सबसे बेहतर साबित हो सकता है। अब सवाल यह उठता है कि धूम्रपान का त्याग कैसे करें? तो इसके लिए आपको हैरान होने की जरूरत नहीं है। डायटीशियन स्वाती बाथवाल द्वारा कुछ आसान तरीकों से आप अपने धूम्रपान की आदत को छुड़ा सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे?

विटामिन सी से धूम्रपान की लत को करें दूर

स्वाती बाथवाल बताती हैं कि 1 बार धूम्रपान का सेवन से हमारे शरीर में 25mch विटामिन सी की कमी हो जाती है। सामान्यतौर पर हमारे शरीर को एक दिन में 100 mcg विटामिन सी की आवश्यकता होती है। सिगरेट पीने वालों में सामान्य व्यक्ति की तुलना में विटामिन सी की अधिक कमी होती है। शरीर की कई समस्याओं को दूर करने में विटामिन सी असरदार माना जाता है। विटामिन सी सेवन से स्किन, बाल और कई पाचन संबंधी समस्याएं दूर होती है। लेकिन आपको शायद यह ना मालूम हो कि विटामिन सी धूम्रपान त्यागने में भी आपकी मदद कर सकता है। जी हां, स्वाती बाथवाल बताती हैं कि विटामिन सी के सेवन से धूम्रपान की इच्छा कम होती है, जो धीरे-धीरे धूम्रपान त्यागने में असरकारी साबित हो सकता है। स्वाती का कहना है कि संतरा, आंवला, अमरूद, नींबू, पुदीना और चूना जैसे कई खाद्य पदार्थ धूम्रपान त्यागने में आपकी मदद कर सकते हैं। धूम्रपान छोड़ने के लिए नियमित रूप से 1 गिलास संतरे के जूस के साथ फ्रेश धनिया, पुदीना और सहजन (इनमें से किसी एक) की पत्तियों का सेवन करें। इससे धूम्रपान करने की इच्छा कम होगी। इसके अलावा जब भी स्मोकिंग करने की इच्छा हो, तो 1 गिलास संतरे का जूस या फिर नींबू पानी का सेवन करें। 

इसे भी पढ़ें - माइग्रेन रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होती है दूब (दुर्वा), इन 2 तरीकों से करें इस्तेमाल

निकोटिन की लत छुड़ाने के लिए पिएं अमरुद की पत्तियों का काढ़ा

स्मोकिंग की लत छुड़ाने के लिए आप अमरुद की पत्तियों का काढ़ा भी पी सकते हैं। अमरुद की पत्तियों में संतरे से 2 गुना अधिक विटामिन सी होता है। काढ़ा तैयार करने के लिए करीब 1.5 लीटर पानी लें। इसमें  आधा किलो अमरुद की पत्तियों को डालें। पानी को तबतक उबालें, जब तक यह आधा ना रहे जाए। इस काढ़े के सेवन से मानसिक समस्या भी दूर होगी। साथ ही यह निकोटिन की लत को दूर करने में सहायक होगा।   

दूध धूम्रपान की इच्छा को करता है कम

दूध पीने से धूम्रपान की इच्छा को कम किया जा सकता है। ड्यूक यूनिवर्सिटी द्वारा हाल ही में यह अध्ययन किया गया है कि नियमित रूप से एक गिलास दूध का सेवन करने से धूम्रपान की लत को कम किया जा सकता है। स्वाती बाथवाल बताती हैं कि ऐसे में आप दो गिलास दूध पिएं। इससे सिरगेट पीने की लत से दूर रहेगें। दूध में ट्रिप्टोफैन नामक तत्व होता है, जो आपके मूड को बेहतर करता है। दूध को और अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए आप इसमें गुलाब की कुछ पंखुड़ियां, हल्दी, पिस्ता जैसी चीजें मिलाकर पिएं। यह आपकी मनोदशा को बेहतर करता है। साथ ही इससे स्वास्थ्य को कई लाभ भी होते हैं। 

हर्बल टी से धूम्रपान की लत को करें दूर

हर्बल टी के सेवन से भी आप निकोटिन की लत को दूर कर सकते हैं। इस हर्बल टी को तैयार करने के लिए 1 कप पानी में ब्राह्मी, जटामांसी और कैमोलाइल को बराबर मात्रा में 1-1 चम्मच मिलाएं। इस मिश्रण को अच्छे से गर्म करें और चाय की तरह इसका सेवन करें। सिगरेट की तलब को कम करने के लिए सिप करक पिएं। ऐसा करने से सिगरेट पीने की इच्छा कम होगी। एक्सपर्ट की मानें तो जटामांसी मस्तिष्क में सेरोटोनिन को बढ़ाने में असरकारी होता है, जो स्ट्रेस को कम करने में असरदार है। चाय में मौजूद ब्राह्मी शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में असरकारी होता है। इन 3 जड़ी-बूटियों के मिश्रण से आप धूम्रपान की लत को दूर कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - बाजार में मिल रहा केमिकल वाला सिंदूर लगाने से झड़ सकते हैं आपके बाल, जानें घर पर हर्बल सिंदूर बनाने का तरीका

इन सभी टिप्स के अलावा आप अपने आहार में कैरोटेनॉयड्स, एलेजिक जैसे फाइटोन्यूट्रिएंट्स और एसिड, रेस्वेराट्रोल, फ्लेवोनोइड्स युक्त आहार को शामिल कर सकते हैं। यह आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को दूर करने में असरकारी होता है। साथ ही हरे पत्ते वाली सब्जियां, पालक, ब्रोकोली, गाजर, बैंगनी गाजर, आम, खरबूजा, आलू, शकरकंद, मशरूम, फूलगोभी इत्यादि का सेवन कर शरीर से विषाक्त पदार्थों को दूर कर सकते हैं। 

इन सभी पोषक तत्वों के साथ सबसे जरूरी यह है कि दिन में भरपूर पानी पीना ना भूलें। अधिक से अधिक पानी का सेवन करें। अधिक पानी के सेवन से शरीर से निकोटिन बाहर निकलेगा। अगर आपको पानी का स्वाद ज्यादा पसंद नहीं है, तो इसमें अन्य फ्लेवर जैसे- पुदीना, धनिया की पत्तियां या फिर अन्य जड़ी-बूटियां मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं। कॉफी और शराब पीनेसे बचें, क्योंकि यह धूम्रपान पीने की इच्छा को उत्तेजित कर सकता है। नियमित रूप से एक्सरसाइज करें, क्योंकि एक्सरसाइज करने से शरीर डिटॉक्स होता है।

Read More Articles On  Home Remedies In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK