इन 3 कारणों से भी लोगों को होती है पेशाब में जलन, जानें इनसे बचने के उपाय

Updated at: Sep 05, 2020
इन 3 कारणों से भी लोगों को होती है पेशाब में जलन, जानें इनसे बचने के उपाय

पेशाब में दर्द और जलन होना एक आम समस्‍या है, लेकिन इसे नजरअंदाज करना आगे चलकर आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

Pallavi Kumari
अन्य़ बीमारियांWritten by: Pallavi KumariPublished at: Sep 05, 2020

पेशाब में जलन एक ऐसी चिकित्सकीय स्थिति है, जिसे डाइसुरिया (Dysuria) के नाम से भी जाना जाता है। इस स्थिति में व्यक्ति को पेशाब करते समय जलन का अनुभव होता है। कभी-कभार इस विकार के कारण, व्यक्ति को पेशाब करते समय एक चुभने वाला दर्द भी होता है। हालांकि, गंभीर मामलों में, यह आपके गुर्दे और प्रजनन स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है। इसलिए कभी भी पेशाब में होने वाले हल्के जलन को भी नजरअंदाज न करें। आज हम आपको पेशाब में जलन के कुछ बड़े कारण (causes of painful urination) बताएंगे, जिस पर ज्यादा लोगों का ध्यान नहीं जाता है।

insideabdomenproblesms

क्यों होती है पेशाब में जलन?

पुरुषों में, मूत्रमार्ग एक ट्यूब है, जो मूत्राशय से लिंग के माध्यम से चलती है। महिलाओं में यह मूत्राशय से श्रोणि के माध्यम से चलती है। मूत्रमार्ग शरीर के बाहर मूत्राशय से मूत्र ले जाता है। चाहे आप एक पुरुष या महिला हों, जब आप अपने मूत्रमार्ग की नोक पर जलन महसूस करते हैं तो यह आमतौर पर यौन संचारित रोग (एसटीडी) का संकेत होता है। दो सामान्य एसटीडी जो इस लक्षण का कारण बन सकते हैं उनमें क्लैमाइडिया और गोनोरिया शामिल हैं। लेकिन कुछ मामलों में, एसटीडी के अलावा कुछ और मूत्रमार्ग की नोक पर जलन पैदा करता है। 

वहीं पेशाब में जलन के पीछे कुछ आम कारणों की बात करें, तो पानी की कमी, यूटीआई इंफेक्शन (Urinary tract infections) और एसडीटी आदि होते हैं। पर इनके अलावा भी कुछ अन्य कारण भी होते हैं, जिसकी वजह से पेशाब में जलन की परेशानी होती है। जैसे कि 

1.असंतुलित पीएच

अगर आप नियमित रूप से अपने प्राइवेट पार्ट्स के लिए वाश का उपयोग करते हैं, तो इससे आपके उस एरिया का पीएच स्तर खराब हो सकतै है। जो अंतत पेशाब में जलन का कारण बनता है। इसलिए कभी भी अपने प्राइवेट पार्ट्स को धोने के लिए साबुन का चयन करते समय आपको बहुत चयनात्मक रहें। कभी-कभी, दर्दनाक पेशाब उन उत्पादों के कारण भी हो सकता है, जो आप जननांग क्षेत्र के लिए उपयोग करते हैं। जैसे कि साबुन, लोशन और बबल बाथ से योनि के ऊतकों में जलन हो सकती है। कपड़े धोने के डिटर्जेंट और अन्य उत्पाद भी जलन पैदा कर सकते हैं, जिससे दर्दनाक पेशाब हो सकता है।

insidedrinkingwater

इसे भी पढ़ें : क्‍या आपको भी होती है पेशाब में जलन? तो इलायची और लौंग का तेल कर सकता है आपकी इस समस्‍या को आसानी से दूर

2. शरीर में विषाक्त पदार्थों का जमा होना

मूत्र शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का प्राकृतिक तंत्र है। जब आप पानी पीते हैं, तो ये विषाक्त पदार्थ इसमें अवशोषित हो जाते हैं और अंततः आपके शरीर से बाहर निकल जाते हैं। जितना अधिक पानी आप पीते हैं, उतना कम आपका मूत्र केंद्रित होता है। लेकिन, अगर आप 7 से 8 गिलास से कम पीते हैं, तो आपका पेशाब अधिक अम्लीय हो जाता है, जिसके कारण पेशाब में जलन की परेशानी होती है। वहीं शरीर में पर्याप्त मात्रा में पानी न होने के कारण भी विषाक्त पदार्थों जमा हो जाते हैं, जिससे आपका मूत्राशय सही से काम नहीं कर पाता है।

3. मूत्रमार्ग की नोक पर पथरी बनना

गुर्दे की पथरी खनिजों और लवणों के कठोर द्रव्यमान होते हैं जो गुर्दे के अंदर बनते हैं और मूत्र पथ से गुजरते हैं। गुर्दे की पथरी अक्सर डिहाइड्रेशन, खराब आहार या संक्रमण का परिणाम होती है। कभी-कभी ये पत्थर पेशाब के दौरान मूत्रमार्ग की नोक पर बनाते हैं। जो कि पेशाब को पास करने से रोकते हैं और बहुत दर्द देते हैं। खासकर अगर वे आकार में बड़े हैं। कुछ गुर्दे की पथरी इंच के एक हिस्से जितनी छोटी होती है, जबकि अन्य कई इंच लंबी होती हैं। ऐसे में जरूरी ये है कि आप पर्याप्त मात्रा में तरल आहार लें, खूब हरी सब्जियां खाएं और साफ सफाई का ध्यान रखें।

इसे भी पढ़ें : क्या आप कम पानी पीते हैं? पेशाब का रंग आपको बता सकता है कि आपके शरीर में है पानी की कमी

तो, पेशाब करते समय जलन होना केवल एक समस्या नहीं है बल्कि एक संकेत है जो एक बड़ी गड़बड़ की ओर इशारा करता है। इसीलिए, हम आपको सलाह देंगे कि आप इसे अनदेखा न करें और तुरंत इस स्थिति में आप अपने डॉक्टर की सहायता लें।

Read more articles on Other-Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK