• shareIcon

डेंगू से पीडि़त होने पर भूलकर भी न खाएं ये 3 चीजें, पड़ सकता है सेहत पर भारी

अन्य़ बीमारियां By शीतल बिष्‍ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 09, 2019
डेंगू से पीडि़त होने पर भूलकर भी न खाएं ये 3 चीजें, पड़ सकता है सेहत पर भारी

डेंगू एक काफी गंभीर बीमारी है। जिसमें यदि व्‍यक्ति को समय पर इलाज न मिले, तो यह जानलेवा भी हो सकता है। बरसात के मौसम में डेंगू के मच्‍छर ज्‍यादा पनपते हैं क्‍योंकि जगह-जगह इस मौसम में पानी इकट्ठा हो जाता है। यही वजह है कि इस मौसम म

डेंगू एक काफी गंभीर बीमारी है। जिसमें यदि व्‍यक्ति को समय पर इलाज न मिले, तो यह जानलेवा भी हो सकता है। बरसात के मौसम में डेंगू के मच्‍छर ज्‍यादा पनपते हैं क्‍योंकि जगह-जगह इस मौसम में पानी इकट्ठा हो जाता है। यही वजह है कि इस मौसम में डेंगू की बीमारी की चपेट में कई लोग आ जाते हैं, ऐसे में पहले से सावधानी बरतना और सेहत का ख्‍याल रखना बहुत जरूरी है। डेंगू का मच्‍छर साफ पानी में पनपता है, स‍बसे अधिक डेंगू के मच्‍छर कूलर और पानी की टंकी में जमा पानी में पनपने का खतरा रहता है। मच्छर जनित बीमारी डेंगू के मामले साल दर साल बढ़ते जा रहे हैं। इसलिए इससे बचने का सबसे सरल तरीका है कि आप अपने आसपास के वातावरण को साफ रखें और पानी जमा न रहने दें और समय-समय पर कूलर व टंकी को साफ कर लें। 

रोकथाम इलाज से बेहतर है लेकिन कभी-कभी आप सावधानी बरतने के बाद भी डेंगू की चपेट में आ सकते हैं। डेंगू के कुछ सामान्‍य लक्षण हैं जैसे- सिर दर्द, मतली, शरीर में दर्द और तेज बुखार और शरीर में लाल चखत्‍ते। यदि डेंगू अधिक गंभीर है, तो आपको मसूड़ों से खून निकलने के साथ-साथ, पेट में गंभीर दर्द और खून की उल्टी भी हो सकती है। ऐसे में लापरवाही मौत का कारण बन सकती है, इसलिए डेंगू के सामान्‍य लक्षण दिखने पर नजर अंदाज न करें और तुरंत डॉक्‍टर से जांच कराएं। 

इलाज के साथ खान-पान जरूरी 

डेंगू में जितना जरूरी समय पर इलाज मिलना है, उतना ही इस गंभीर बीमारी में खाने के प्रति सजगता बरतना भी बेहद जरूरी होता है। डॉक्‍टर भी डेंगू में खानपान का विशेष ध्‍यान रखने को कहते हैं और ऐसे आहार के सेवन की सलाह देते हैं, जिससे कि डेंगू से रिकवरी पाने में मदद मिले। जैसे कि बकरी का दूध, नीम, पपीते के पत्‍ते का रस, कीवी और संतरा। यह सब आपके ब्‍लड प्‍लेटलेट्स बढ़ाने में मदद करते हैं और जल्‍दी से ठीक होने में सहायक हैं। आइए हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताते हैं, जिन्हें आपको डेंगू से पीड़ित होने पर क्‍या नहीं खाना चाहिए।

इसे भी पढें: किस मौसम में खतरनाक होता है डेंगू बुखार और कैसे बचें इस जानलेवा रोग से, जानें

डेंगू बुखार में के दौरान क्‍या न खाएं ?

तला-भुना हुआ (Oily Foods)

डेंगू बुखार होने पर तैलीय और तले हुए भोजन से बचना ही समझदारी है। इसके लिए आप उबला हुआ या बिना तला-भुना हुआ खाना ही खाएं। तले-भुने खाने में वसा की मात्रा अधिक होती है, जो कि हाई बल्‍ड प्रेशर और कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को बढ़ाने के लिए भी जिम्‍मेदार हो सकता है। यह आपको डेंगू से रिकवरी पाने में बाधा डाल सकता है, क्‍योंकि य‍ह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर करता है।

इसे भी पढें: डेंगू बुखार क्यों होता है खतरनाक और जानलेवा? जानें डेंगू से जुड़ी ये 5 बेहद जरूरी बातें

मसालेदार खाना (Spicy Food)

यदि आप डेंगू बुखार से पीडि़त है, तो आप मसालेदार खाने के सेवन से भी बचें। मसालेदार खाना आपके पेट के स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करता है और इससे पेट में एसिड इकट्ठा हो सकता है। यह पेट में गड़बड़ी के साथ आपको डेंगू की चपेट से निकलने में भी बाधा उत्‍पन्‍न करता है, क्योंकि इस समय आप बहुत कमजोर हो जाते हैं और आपका शरीर दोहरी बीमारियों से लड़ रहा हेाता  है। 

कैफीनयुक्त पेय पदार्थ (Caffeinated beverages)

डेंगू में आपको लिक्‍विड खाने पर रहने की सलाह दी जाती है, क्‍योंकि आपके शरीर को बहुत सारे तरल पदार्थों की आवश्यकता होती है, लेकिन उसमें कैफीनयुक्त पेय पदार्थ नहीं होने चाहिए। कैफीनयुक्त पेय पदार्थ हृदय गति, थकान, और मांसपेशियों के टूटने में तेजी से वृद्धि का कारण बनते हैं। ऐसे में आप डेंगू में अनार का जूस, पपीते के पत्‍ते का रस आदि पिएं और सामान्य पानी के बजाय गर्म पानी का सेवन करें।

Read More Article On O‍ther Disease In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK