हवा को शुद्ध करने वाले ये 10 पौधे अपने बेडरूम में लगाएंगे, तो आपको मिलेंगे ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ

Updated at: Mar 03, 2021
हवा को शुद्ध करने वाले ये 10 पौधे अपने बेडरूम में लगाएंगे, तो आपको मिलेंगे ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ

बीमार‍ियों से दूर रहकर अगर आप शुद्ध हवा में सांस लेना चाहते हैं तो इन 10 पौधों को कमरे में जगह जरूर दें 

Yashaswi Mathur
विविधWritten by: Yashaswi MathurPublished at: Mar 03, 2021

इंडोर प्‍लांट लगाने के क्‍या फायदे हैं? इंडोर प्‍लांट न स‍िर्फ घर की सुंदरता बढ़ाते हैं बल्‍क‍ि ये हवा को शुद्ध करके हमें कई बीमार‍ियों से बचा सकते हैं। आजकल घर छोटे होते जा रहे हैं जहां रौशनी आसानी से नहीं पहुंचती पर कुछ इंडोर प्‍लांट ऐसे भी हैं ज‍िन्‍हें ज्‍यादा रौशनी की जरूरत नहीं होती। ऐसे प्‍लांट को आप अपने कमरे में लगा सकते हैं। इंडोर प्‍लांट से थकान भी कम होती है और स्‍ट्रेस घटता है। अगर आपका घर ऐसी जगह है जहां प्रदूषण ज्‍यादा रहता है तो आपको इंडोर प्‍लांट लगाने चाह‍िए ये हवा से जहरीले तत्‍वों को फ‍िल्‍टर कर देते हैं। अगर आपको धूल के कण से एलर्जी है तो ये पौधे धूल व म‍िट्टी के कण को भी एब्‍सॉर्ब करने में सक्षम होते हैं। इंडोर प्‍लांट्स को लोग इसल‍िए भी पसंद करते हैं क्‍योंक‍ि इनका ज्‍यादा ध्‍यान रखने की जरूरत नहीं होती है। कुछ पौधे तो कई द‍िनों तक ब‍िना पानी के ज‍िंदा रह सकते हैं। हम आपको ऐसे ही 10 पौधों के बारे में बताने जा रहे हैं ज‍िन्‍हें आप अपने कमरे या घर में लगा सकते हैं। इस बारे में ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की। 

health benefits of indoor plants

1. फर्नीचर से न‍िकलने वाले हान‍िकारक तत्‍व को कम करे बैम्‍बू पॉम (Bamboo palm plant)

अगर आपके घर में धूप नहीं रहती या आप फ्लैट में रहते हैं जहां धूप नहीं आती तो आप बैम्‍बू पॉम को घर में लगा सकते हैं। हवा में ट्राइकलोरेथ‍िलीन और बेंजीन जैसे हान‍िकारक तत्‍व पाए जाते हैं ज‍िन्‍हें फ‍िल्‍टर करने के ल‍िए ये पौधा काम आएगा। ये हान‍िकारक तत्‍व फर्नीचर से न‍िकलते हैं ज‍िन्‍हें साफ करना जरूरी है इसल‍िए आप इस पौधे को फर्नीचर के आसपास रख सकते हैं। 

2. हवा शुद्ध करता है स्‍नेक प्‍लांट (Snake plant)

benefits of snake plant

स्‍नेक प्‍लांट आपके घर में हवा को शुद्ध करने में मदद करता है। अगर आप कहीं बाहर जा रहे हैं और पौधों की च‍िंता है तो इस पौधे के साथ आपको ये च‍िंता नहीं सताएगी क्‍योंक‍ि स्‍नेक प्‍लांट को ज्‍यादा देखभाल की जरूरत नहीं होती। ये कई द‍िनों तक ब‍िना पानी के ज‍िंदा रह सकता है।

3. गर्मी के द‍िनों में हवा को शुद्ध करने के ल‍िए लगाएं ग्रीन स्‍पाइडर प्‍लांट (Green spider plant)

ग्रीन स्‍पाइडर प्‍लांट भी एक इंडोर प्‍लांट है ज‍िससे हवा शुद्ध होती है। इसे गर्मी के मौसम में आप कमरे में रख सकते हैं क्‍योंक‍ि इसे ज्‍यादा पानी की जरूरत नहीं होती। इसको ग्रीन स्‍पाइड इसल‍िए बोला जाता है क्‍योंक‍ि इसके पत्‍तों का आकार मकड़ी के जाल की तरह होता है।

4. कमरे में रहती है धूल तो लगाएं वीप‍िंग फ‍िग (Ficus or weeping fig)

benefits of ficus plant

इस प्‍लांट में सुंदर सफेद रंग के फूल न‍िकलते हैं। ये पौधा लंबे समय तक चलता है। इसके साथ ही अगर आपके कमरे में धूल के कण हैं तो इन्‍हें ये हवा से बाहर न‍िकालने में मदद करता है। धूल से बहुत लोगों को एलर्जी होती है ऐसे में ये पौधा काम का है। ये धूल के कण एब्‍सॉर्ब कर लेता है और हवा को साफ बनाता है। इस पेड़ की पत्‍त‍ियां झड़ती हैं इसल‍िए इसे ज्‍यादा न ह‍िलाएं।  

इसे भी पढ़ें- गलत जगह मनी प्लांट लगाने से फायदे की जगह होगा नुकसान, जानें क्‍या है पौधा लगाने का सही तरीका

5. प्रदूषण से घर को बचाए वार्नक ड्रैकेना (Warneck draceana plant)

अगर आप इस प्‍लांट को कमरे में रखेंगे तो ये प्रदूष‍ित हवा से आपकी रक्षा करेगा। आप क‍िसी ऐसे इलाके में रहते हैं जहां गाड़‍ियों का प्रदूषण बहुत ज्‍यादा है तो आपको ये प्‍लांट घर में लगवाना चाह‍िए। इस पौधे को धूप की जरूरत नहीं होती इसल‍िए इसे बेस्‍ट इंडोर प्‍लांट माना जाता है। 

6. हवा को साफ करे आर्किड प्‍लांट (Orchid plant)

orchid plant benefits

आर्किड प्‍लांट अपने सुंदर फूलों से कमरे को खास तो बनाता ही है साथ ही इसका पौधा कमरे में रखने से ये हवा को साफ करता है। हवा में जाइल‍िन और टोल्‍यून नाम के दो कंपाउंड पाए जाते हैं जो हमारी सेहत के ल‍िए अच्‍छे नहीं माने जाते। अगर आप आर्किड का पौधा कमरे में रखें तो ये हवा से इन दोनों कंपाउंड को फ‍िल्‍टर कर देगा और आप साफ हवा में सांस ले पाएंगे।

7. बॉथरूम के बैक्‍टेर‍िया खत्‍म करे अंग्रेजी आइवी (English ivy plant)

अंग्रेजी आइवी को घर में लगाने से हवा में मौजूद छोटे बैक्‍टेर‍िया खत्‍म होते हैं। ये बैक्‍टेर‍िया बॉथरूम में टॉवल, ब्रश या टॉयलेट सीट पर पाए जाते हैं ज‍िनसे कई तरह की बीमार‍ियां हो सकती हैं। इनसे बचने के लि‍ए आप इस पौधे को बॉथरूम के पास लगाएं। ब्र‍िटिश की जर्नल लैंसेट में छपे एक शोध के मुताब‍िक घर में उगाए गए पौधों से स्‍ट्रेस कम होता है। 

इसे भी पढ़ें- Plant Reducing Stress: तनाव को कम कर सकता है वर्किंग डेस्‍क पर पौधे रखना, अध्‍ययन में हुआ खुलासा

8. अस्‍थमा या सांस लेने में तकलीफ है तो लगाएं पीस लिली (Peace lily plant)

स्‍पेस ऑर्गेनाइजेशन नासा के शोध के मुताब‍िक पीस ल‍िल‍ी प्‍लांट ट्राइकलोरेथ‍िलीन और बेंजीन से हवा को मुक्‍त करता है। ज‍िन लोगों को अस्‍थमा है या ज‍िन्‍हें सांस की तकलीफ है उन्‍हें खासतौर पर ये पौधा घर में लगाना चाह‍िए। ये पौधा कम रौशनी में भी ज‍िंदा रह सकता है। आप कैम‍िकल युक्‍त एयर फ्रेशनर का इस्‍तेमाल करने के बजाय इस पौधे का इस्‍तेमाल करें। इसकी खुशबू आपका मूड बदल देगी। 

9. जहरीले कंपाउंड को हवा से न‍िकाले ऐरेका पॉम प्लांट (Areca palm plant)

ऐरेका प्‍लांट को घर में लगाएंगे तो ये हवा से जाइलिन और टोल्यून जैसे कंपाउंड को फ‍िल्‍टर कर देगा। इस पौधे का कद 5 फीट तक बढ़ता है। ये प्‍लांट कम पानी में भी ज‍िंदा रह सकता है। अगर आप कोई इंडोर प्‍लांट ढूंढ रहें तो इसे चुन सकते हैं। शोध के मुताब‍िक जि‍न कमरों में पौधा लगा होता है वहां बीमारी की आशंका 60 प्रत‍िशत तक कम हो जाती है। ये मेंटल और फिजीकल हेल्‍थ दोनों के ल‍िए फायदेमंद है।

10. हवा से कार्बन डाइऑक्साइड न‍िकाले तुलसी का पौधा (Tulsi plant)

तुलसी के फायदे तो आप सब जानते हैं। तुलसी का पौधा हवा से कार्बन डाइऑक्साइड को फ‍िल्‍टर करता है। तुलसी के पौधे के कई औषधीय फायदे भी हैं। हवा की गुणवत्‍ता ठीक करने के लि‍ए आप तुलसी का पौधा कमरे में लगाएं। आपको इसे न‍ियमित रूप से पानी देने की जरूरत है और इसे धूप वाली ख‍िड़की पर रखें।

प्‍लांट हमेशा आपकी सेहत के ल‍िए फायदेमंद होते हैं, अगर आप इन्‍हें घर में पनाह देंगे तो बदले में ये आपके अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य की गैरेंटी ले सकते हैं। 

Read more on Miscellaneous in Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK