• shareIcon

सखी का सौंदर्य

फैशन और सौंदर्य By सम्‍पादकीय विभाग , सखी / Nov 09, 2010
सखी का सौंदर्य

मेरे बाल बहुत घुंघराले हैं। मैंने कुछ समय पहले पर्मानेंट स्ट्रेटनिंग करवाई। परंतु 5-6 महीने जब तक स्पा लेती रही ठीक रहे। अब 6 महीने बाद आधे बाल घुंघराले हो गए हैं। जबकि पार्लर वाली कहती है कि टचिंग करनी पडेगी।

मेरे बाल बहुत घुंघराले हैं। मैंने कुछ समय पहले पर्मानेंट स्ट्रेटनिंग करवाई। परंतु 5-6 महीने जब तक स्पा लेती रही ठीक रहे। अब 6 महीने बाद आधे बाल घुंघराले हो गए हैं। जबकि पार्लर वाली कहती है कि टचिंग करनी पडेगी। मैं बार-बार केमिकल से बचना चाहती हूं। कृपया सुझाएं कि क्या करूं?


सनोवर, पानीपत


बालों में किसी भी प्रकार का केमिकल ट्रीटमेंट कराने से वे कमजोर हो जाते हैं और उनकी कुदरती चमक भी कम हो जाती है। आजकल तो घुंघराले बाल फैशन में हैं। पर्मानेंट स्ट्रेटनिंग कराने के बाद बालों की कंडिशनिंग का बहुत खयाल रखना जरूरी होता है। अब आप दोबारा केमिकल ट्रीटमेंट न कराएं। बल्कि जैसे ही बाल थोडे लंबे हों ट्रिमिंग कराएं। सॉफ्ट एंड सिल्की शाइन वाला शैंपू इस्तेमाल करें और कंडिशनर का इस्तेमाल हर बार शैंपू के बाद जरूर करें। हफ्ते में एक बार हॉट ऑयल मसाज के बाद गर्म पानी में तौलिये को भिगोकर निचोडकर सिर में लपेटें। हेयर स्पा लेने से बालों को टिश्यू रिपेयर होते हैं। इसलिए आप चाहे तो वह भी लेती रहें। हफ्ते में एक बार आधे घंटे के लिए ग्लिसरीन और हनी पैक लगाएं।


मेरी उम्र 22 वर्ष है। मैं फैशन डिजाइनिंग की छात्रा हूं। मेरी समस्या यह है कि मेरे बाल बहुत झडते हैं और सफेद भी हो रहे हैं। जिस वजह से वह रुखे और बेजान दिखते हैं। क्या रोज बाल धोना इसकी एक वजह हो सकती है। कोई उपाय बताएं जिससे मेरी परेशानी दूर हो सके। किस तरह का शैंपू बालों के लिए प्रयोग में लाऊं?


सोनू गर्ग, दिल्ली


आप अपनी डाइट पर विशेष ध्यान दें। एक बार डॉक्टर से मिलकर यह जानें कि आपके शरीर में प्रोटीन या किसी विटमिन की कमी तो नहीं है। खाने में प्रोटीन युक्त भोजन, हरी सब्जियां, सैलेड आदि का अधिक प्रयोग करें। अनियमित खुराक सफेद बालों का सबसे प्रमुख कारण है। इसके अलावा अरोमा मैजिक फ्लैकी ऑयल से हफ्ते में दो बार बालों की मालिश करें। बालों को हर दूसरे दिन शैंपू कर सकते हैं। रूखे और बेजान बालों के लिए हेयर सीरम का प्रयोग करें। साथ रूखे व बेजान बालों के लिए बना शैंपू इस्तेमाल करें। बालों को धोने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल भूल कर भी न करें।


मेरी उम्र 25 वर्ष है। मेरे चेहरे और हाथों की त्वचा का रंग साफ है। लेकिन जब अपने पैरों को देखती हूं तो बहुत खराब लगता है, क्योंकि मेरे पैरों का रंग हाथों और चेहरे की अपेक्षा दबा हुआ है। कोई ऐसा उपाय बताएं जिससे मेरे पैरों की त्वचा में भी निखार आ जाए और वे सुंदर दिखने लगें।


डॉली सिन्हा, गाजियाबाद


आप प्रतिदिन लैवेंडर ऑयल से पैरों की मालिश करें। पेय पदार्थ अधिक लें। नहाने के बाद पैरों पर फुटक्रीम लगाकर हलका मसाज करें। नहाने के लिए ग्लिसरीन युक्त शॉवर सोप का इस्तेमाल करें। पानी में तीन-चार बूंद ऑलिव ऑयल मिलाकर नहाएं। हफ्ते में एक बार इस स्क्रब का इस्तेमाल करें - 1-1 टी स्पून बारीक सूजी, मसूर की दाल का पाउडर, चावल का दरदरा आटा, बाजरे का आटा और गुलाबजल एक साथ मिला कर पेस्ट तैयार करें और उसे अपने पैरों पर 10-15 मिनट तक लगाएं। हलका गीला करके मलकर छुडाएं।


मेरी उम्र 24 वर्ष है। मैं कॉलेज जाती हूं। मुझे धूप में बाहर ज्यादा देर तक रहना पडता है। धूप से मेरे हाथों व चेहरे पर जलन होने लगती है और खुले अंगों का रंग भी काला पडने लगा है। कृपया मुझे अपनी समस्या दूर करने का उपाय बताएं।


शानू अंकिता, जोधपुर, राजस्थान


आप हफ्ते में तीन बार चेहरे पर आधे घंटे के लिए ग्लिसरीन लगाएं। फिर धो लें। रोजाना दूध से चेहरा व त्वचा साफ करें। दिन में अरोमा मैजिक का आमंड मॉयस्चराइजर इस्तेमाल करें। उसके बाद एसपीएफ 20 वाली सनस्क्रीन लगाएं। खुली त्वचा को ढंककर बाहर निकलें। बाहर निकलने से 20 मिनट पहले सनस्क्रीन लगाएं। छाता, सनग्लासेज और टोपी लगाएं। हाथों में सूती कपडे वाले फुल स्लीव्स ग्लव्स पहनें। त्वचा का कालापन दूर करने के लिए मसूर की दाल में दूध मिलाकर बारीक पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं। ऐसा हफ्ते में तीन बार करें। फिर हैंड लोशन और मॉयस्चराइजर लगाएं।


मेरी उम्र 55 वर्ष है। मेरे पैरों की एडियां फट जाती है। जिनके कारण दर्द भी रहता है। क्या हमारी एडियां बढती उम्र के कारण फटती हैं? मेरी समस्या का उचित समाधान बताएं।


शशि प्रभा गुप्ता, इलाहाबाद


यह सच है कि उम्र बढने के साथ-साथ त्वचा की इलास्टिसिटी यानी कुदरती लचीलेपन और कुदरती तेल में कमी आने लगती है। जिस कारण त्वचा में रूखापन आ जाता है। डेड स्किन की समस्या हो जाती है और टिश्यू रिपेयर की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। आप हर दूसरे दिन हलके गर्म पानी में थोडा सा नमक और फिटकरी डालकर उसमें पैरों को डुबोएं। फिर प्यूमिक स्टोन से हलका-हलका स्क्रब करते हुए मृत त्वचा को निकालें। उसके बाद फुट क्रीम से कुछ देर मसाज करें और थोडी देर बाद कॉटन स्टॉकिंग या मोजे पहनें। सर्दियों में जहां तक हो मोजे पहन कर रहें। इसके अलावा कोकोनट ऑयल में थोडा सा हनी मिलाकर गर्म करें और फटी एडियों पर 15-20 मिनट तक लगाएं। धोकर पोंछें और क्रैक क्रीम लगाकर छोड दें। रोजाना फुटक्रीम लगाएं। पानी में ज्यादा देर पैरों को भीगता न छोडें। अच्छे सपोर्ट वाले फुटवेयर पहनें। पैरों की सफाई का विशेष ध्यान रखें। परेशानी ज्यादा होने पर हफ्ते में एक बार पेडीक्योर या फिश फुट स्पा लें।

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK