• shareIcon

मानसून के बाद भी हमला कर सकती हैं ये 3 बीमारियां, सावधानी ही बचाव है

संक्रामक बीमारियां By शीतल बिष्‍ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jun 19, 2012
मानसून के बाद भी हमला कर सकती हैं ये 3 बीमारियां, सावधानी ही बचाव है

मानसून बेशक मस्‍ती और गर्मी से राहत का मौसम होता है, लेकिन मस्‍ती के इस मौसम में जरा सी लापरवाही आपको बीमारियों का आसानी से निशाना बना सकती है। मानसून ही नहीं, बल्कि इसके बाद इन 3 बीमारियों का खतरा रहता, जिसके लिए आपका सजग व सर्तक होना बहु

मानसून एक आनंद से भरा मौसम होता है, लेकिन यह रोगों के एक मेहमान की तरह आकर अपने साथ बीमारियां लाता है और छोड़ जाता है। आप एक अच्छी शाम बारिश की बूंदों के टिप टिप बरसने का आनंद ले सकते है और अगले चार या पांच दिन आप बिस्तर मे बुखार और अन्य ऐसी बीमारियों से ठीक होने के लिए लेटे रहेंगे। इतनी ही नहीं, मानसून के बाद भी आपको बीमारियों का खतरा बना रहता है, जिसमें खासतौर पर ये 3 बीमारियां मुख्‍य हैं। 

डेंगू का भय

हर साल मानसून के जाने के बाद डेंगू की इतनी शिकायत होती है, कि कई डेंगू के 434 मामलों में से केवल एक मामले में मौत के लिए सर्वप्रमुख रहती ही है। जिसमें की सावधानी और शुरूआती लक्षणों को पहचान कर इलाज पाना ही डेंगू से बचाव है। इसके अलावा आपको कुछ जरूरी बातों का ध्‍यान भी रखना जरूरी है। 

डेंगू से बचने के उपाय

  • पानी को इकट्ठा मत होने दो, सुनिश्चित करो कि नालो में पानी ठीक तरह से बह रहा है।
  • हर सप्ताह के अंत में कूलर से पानी को साफ करें।
  • कीटनाशक दवाओं का उपयोग करें क्योंकि दिन में एडीज मच्छर कार्य करते है।
  • यदि आपको हल्का सा बुखार है तो तुरंत जाकर अपनी चिकित्सा जांच करवाएं।

एच1एन1 का भय

एच1 एन1 या स्‍वाइन फ्लू  के आतंक का प्रसार जारी है। हालांकि रॉकलेंड अस्पताल की प्रयोगशाला सेवाओ की प्रधान रोगविज्ञानी लोना मोहापतरा के अनुसार, "पिछले साल की तरह यह एक महामारी नही है। हालांकि, यह अभी भी सलाह दी जाती है कि उनमे फ्लू के लक्षण दिखाई देने पर लोग चिकित्सा जांच के लिए अवश्य जाए। "

इसे भी पढें: सर्दी-खांसी और बुखार हैं स्‍वाइन फ्लू के आम लक्षण, जानें अन्‍य संकेत और बचाव

एच1एन1 वायरस से दूरी बनाएं रखे या दूर रहें

  • भीङ-भाङ वाले स्थानो या सार्वजनिक स्थानो पर न जाएं।
  • जब छींके तो अपनी नाक और मुंह को ढकें।
  • एल्कॉहॉल के उपयोग किए हाथो को साफ करें।
  • तौलिये, बर्तन, पेयपदार्थ को बांटे नही।
  • सर्दी और फ्लू के लक्षणो से ग्रस्त लोगो से दूरी बनाएं रखे।
  • यदि आवश्यकता हो तो श्वसन मास्क का उपयोग करें।

सामान्य सर्दी या जुकाम और फ्लू का भय

हिट लिस्ट में अगली बिमारी आम सर्दी और फ्लू है।  आर के अस्पताल में कार्यरत डॉक्‍टर प्रवीण रॉय कहते है, "इन दिनों लगभग 10-12  लोग मेरे पास बुखार और जुकाम या सर्दी की शिकायत लेकर आते है। यह आमतौर पर मौसम के एक परिवर्तन में अपने स्वास्थ्य की अनुचित देखभाल की वजह से होता है। यह परिवार में हो सकता है जिसमें एक व्यक्ति को सर्दी अधिक लगती है जबकि अन्य व्यक्ति को सर्दी नहीं लगती है। यह मुख्य रूप से मुद्दा है कि कैसे आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत रह सकती है। अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए अपने आहार में अधिक मात्रा में विटामिन सी शामिल करे।"

 इसे भी पढें: सर्दी की शुरुआत में होने वाली 5 बीमारियां: लक्षण, सावधानियां और उपचार

जरूरी सुझाव व सावधानियां 

अधिक मात्रा में द्रव्य पदार्थ पियें जैसे पानी, सूप और ताजा फलो का जूस।

नमक डालकर गुनगुने पानी से कुल्ला करें।

यदि आप सर्दी और फ्लू के लक्षण पाते है तो धूम्रपान और शराब के सेवन से परहेज़ करें

तो किसी भी घटना को रोकने के लिए एक सरल नियम का पालन करें ताकि आप एक उपचार को उपलब्ध करे। मानसून आप अपनी वर्षा की बूंदो के साथ सब को अच्छे स्वास्थ्य पाने का आशीर्वाद दे। ताकि अगले मानसून तक सभी सुरक्षित रहे।  

Read More Article On Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK