• shareIcon

योग मिटाता है काम की थकान और तनाव

योगा By अन्‍य , दैनिक जागरण / Apr 27, 2011
योग मिटाता है काम की थकान और तनाव

योग को दिनचर्या में शामिल करने से काम की थकान और तनाव छूमंतर हो जाता है। देश में हुए एक शोध में यह बात कही गई है। इसमें गुजरात की एक कंपनी के 84 अधिकारियों को शामिल किया गया।

 

योग को दिनचर्या में शामिल करने से काम की थकान और तनाव छूमंतर हो जाता है। देश में हुए एक शोध में यह बात कही गई है। इसमें गुजरात की एक कंपनी के 84 अधिकारियों को शामिल किया गया।


इन अधिकारियों को 42-42 के दो समूहों में बांटा गया। योग वाले समूह को प्रतिदिन 75 मिनट के हिसाब से 30 घंटे तक योग का प्रशिक्षण दिया गया। इसके अलावा इन्हें योग दर्शन पर 25 घंटे का व्याख्यान भी दिया गया।


वहीं दूसरे समूह से शारीरिक व्यायाम करवाया गया। उन्हें आधुनिक सिद्धांतों के आधार पर सफलता हासिल करने के बारे में भी व्याख्यान दिया गया।


प्रयोग के बाद और पहले दोनों समूहों के तनाव के स्तर, ब्लड प्रेशर, वजन और ब्लड शुगर को नापा गया। जिसमें पता चला कि योग करने वाले अधिकारियों में तनाव और काम का दबाव कम था।


प्रतिष्ठित भारतीय प्रबंधन संस्थान (आइआइएम) अहमदाबाद की पत्रिका 'विकल्प' में यह शोध प्रकाशित किया गया है। राज्य के एक आईएएस अधिकारी हंसमुख आधिया ने दो शोधकर्ताओं, एच.आर. नागेंद्र और बी. महादेवन के साथ मिलकर यह शोध किया।


आधिया ने बताया, 'अध्ययन में सामने आया कि योग वाले समूह के तनाव के स्तर में काफी गिरावट आई। जबकि आश्चर्यजनक रूप से शारीरिक व्यायाम करने वाले समूह में तनाव का स्तर बढ़ गया था। इसकी वजह अतिरिक्त व्यायाम बताई गई।'


अध्ययन में कहा गया है कि एक अनुमान के मुताबिक अमेरिकी उद्योगों को तनाव की वजह से प्रतिवर्ष करीब 300 अरब डॉलर (करीब 13 खरब रुपये) से भी अधिक की चपत लगती है। तनाव बढ़ने से उत्पादकता घटने के साथ व्यक्ति में छुट्टी लेने की प्रवृत्ति बढ़ती है।

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK