• shareIcon

बालों की समस्‍या और देखभाल से संबंधित कुछ भ्रम और तथ्‍य

बालों की देखभाल By Nachiketa Sharma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jan 01, 2013
बालों की समस्‍या और देखभाल से संबंधित कुछ भ्रम और तथ्‍य

बालों की देखभाल को लेकर यदि आपको कोई भ्रम है तो हमारा यह लेख आपके उन भ्रमों को दूर कर सकता है।

सुंदर और चमकदार बालों की चाहत सभी की होती है। लेकिन बालों के स्‍वास्‍थ्‍य और रखरखाव को लेकर लोगों के मन में हमेशा भ्रम की स्थिति होती है। शायद ही किसी को यह पता हो कि कौन सा आहार बालों के लिए फायदेमंद है और किस आहार से बालों को पोषण मिलने वाला है।

Hair Related Myths And Factsकुछ लोग इस गलफहमी में रहते हैं कि टोपी पहनने से गंजेपन की समस्‍या हो सकती है, कुछ यह सोचते हैं कि बालों में ज्‍यादा कंघी करने से बाल झड़ने लगते हैं। आइए हम आपकी बालों से संबंधित इन गलतफहमियों को दूर करने में आपकी मदद करते हैं।

 

बालों से संबंधित भ्रम और तथ्‍य

 

भ्रांति - हैट पहनने से बाल गिरने या गंजेपन की समस्‍या हो सकती है।

सच्चाई: इस भ्रांति के पीछे तर्क यह है कि बंद प्रकृति के होने के कारण, हैट, बालों के रोमकूपों के लिए ज़रूरी हवा मिलने में बाधा पहुंचाते हैं जिससे वे समय से पहले मर जाते हैं और सिर की त्वचा गंजी हो जाती है। वास्तवविकता में बालों के रोमकूपों के लिए आवश्यक ऑक्सीजन बाहरी वातावरण से प्राप्तत नहीं की जाती बल्कि यह मनुष्य के रक्त से पूरी की जाती है।

 

भ्रांति: बालों के गिरने की समस्या केवल बुजुर्गों के साथ ही होती है।

सच्चाई: बाल गिरने की समस्या किसी के साथ भी हो सकती है, चाहे युवा हो या बुजुर्ग। बालों के गिरने का सबसे सामान्य प्रकार मेल और फीमेल पैटर्न बाल्डैनेस है जो लगभग 80% पुरूषों और 40% महिलाओं को प्रभावित करता है। यह आनुवंशिक है जो धीरे-धीरे अपना असर बढ़ाता है और किशोरावस्था जैसी कम उम्र में ही शुरू हो सकता है। बाल गिरने के अन्य प्रकार जैसे एलोपेसिया एरिएटा, ट्रैक्शशन एलोपेसिया और ट्राईकोटिलोमेनिया प्राय: महिलाओं और बच्चों में देखे जाते हैं।

 


भ्रांति : बालों के गिरने की समस्या परिवार में माता की ओर से विरासत में मिलती है।

सच्चाई: यह भ्रांति एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया के लिए मातृवंश को दोषी ठहराती है जबकि वास्त विकता में यह आनुवंशिक स्थिति है जिसमें जीन परिवार के दोनों वंशों द्वारा वहन किए जा सकते हैं। बाल गिरने की आनुवंशिक प्रवृत्ति माता या पिता दोनों में से किसी के वंश से उत्तराधिकार में मिली हो सकती है और यहां तक कि यह बीच में पीढ़ी छोड़कर भी प्रकट हो सकती है। 

 


भ्रांति : रोज़ाना अपने बालों में एक सौ ब्रश स्ट्रोक करने से बाल स्ववस्था और मज़बूत रहते हैं।

सच्चाई: हालांकि ब्रश करने से बालों के रोमकूप और सिर की त्वचा प्रेरित होते हैं लेकिन रोज़ाना अत्यधिक ब्रश करने से बालों को काफी नुकसान हो सकता है। अत्यधिक ब्रश करने से बालों के रेशे कमज़ोर हो सकते हैं जिससे बाल गिर सकते हैं। अपने बालों को सुलझाने की ज़रूरत के अनुसार ही ब्रश करें और इन्हें स्टांईल करें। यहां संख्याओं का कोई जादू कारगर नहीं है।

 


भ्रांति : रोज़ाना बाल धोने से बालों को नुकसान पहुंचता है।

सच्चाई: यह केवल तब सत्ये है जब आप घटिया गुणवत्ता वाले हेयर प्रोडक्ट्स  का इस्तेमाल करें। प्रत्येक व्यक्ति को अपने बालों के प्रकार और बनावट की ज़रूरत के अनुसार ही शैम्पू चुनना चाहिए। ऑयली बालों को रोज़ाना धोना काफी अच्छा रहता है जबकि सूखे प्रकार के बालों को एक दिन छोड़कर धोना चाहिए। ऐसे हेयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें जिनमें क्लीऐनिंग का सौम्य‍ फार्मूला और माँइश्चराइजिंग के गुण हों।

 


भ्रांति : यदि जन्म के समय आप गंजे थे तो बड़े होने पर आपको बाल गिरने का सामना करना पड़ेगा।

सच्चाई: आपके जन्म के समय बालों का होना या न होना इस पर कोई असर नहीं डालता कि वयस्क होने पर आपके बालों की स्थिति क्या  होगी।

 


भ्रांति : बाल कटवाने से ये तेजी से उगते हैं और मज़बूत बनते हैं।

सच्चाई: आपके बाल कटवाने से केवल दोमुंहे सिरे और कुछ पतले बाल हट जाते हैं जो उगते हैं। बालों को कटवाने से न तो बालों के उगने की प्रक्रिया तेज होती है न ही वे मज़बूत बनते हैं ।

 


भ्रांति: कंडीशनर आवश्यक नहीं हैं क्योंकि शैम्पू ही अपने आप में पर्याप्त होता है।

सच्चाई: शैम्पू में केवल ऐसे तत्व‍ होते हैं जो आपके बालों को साफ करते हैं जबकि कंडीशनर इनमें नमी लाता (माईश्चाराईजेशन) है। बालों को स्वस्थ रखने के लिए माँइश्चराइजेशन अनिवार्य है। आप किसी कंडीशनर आधारित शैम्पू का चुनाव कर सकते हैं जो कारगर होगा।

 

 

Read More Articles On Hair And Care In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK