पुराने और डिब्‍बाबंद फलों के रस की बजाय ताजे फलों का रस ही आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद है

Updated at: Sep 03, 2013
पुराने और डिब्‍बाबंद फलों के रस की बजाय ताजे फलों का रस ही आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद है

जानिए इस लेख में बासी और डिब्‍बाबंद फलों के जूस की तुलना में कितना फायदेमंद होता है।

Nachiketa Sharma
स्वस्थ आहारWritten by: Nachiketa SharmaPublished at: Jan 14, 2013

फलों का ताजा रस आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए ज्‍यादा फायदेमंद हैं और इसका नियमित सेवन करने से आप स्‍वस्‍थ भी रहेंगे। फलों का ताजा रस यदि बच्‍चों को पिलाया जाये तो उनकी भूख बढ़ती है।

fresh fruit juice is healthful ताजा फलों और हरी सब्जियों के रस में पर्याप्‍त मात्रा में विटामिन, खनिज, एंजाइम और प्राकृतिक शुगर होता है। इसका सेवन करने से शरीर की सभी क्रियायें सामान्‍य रहती हैं। यह शरीर के इम्यून सिस्टम को सक्रिय बनता है। ताजे फलों का रस पीने से ऊर्जा का स्‍तर बढ़ता है। आइए हम आपको ताजा फलों के रस से होने वाले लाभ के बारे में जानकारी देते हैं।

शोध के अनुसार

गर्मियों में फलों के डिब्बा बंद रस का सेवन करने से बचना चाहिए, क्‍योंकि ये शरीर में शुगर पहुंचाते हैं। लुसियाना स्टेट यूनिवर्सिटी एग्रीकल्चर द्वारा किये गये शोध में यह बात सामने आयी है, शोध के बाद वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि फलों के ताजा रस से बच्चों की भूख बढ़ती है। रस पीने वाले बच्चे और किशोरों के शरीर में अन्य पेय पदार्थ पीने वाले बच्चों की तुलना में अधिक पोषक तत्व पहुंचते हैं। दो से पांच साल के बच्चों को शुद्ध रस पिलाने से उनके शरीर में विटामिन सी, पौटेशियम और मैग्नीशियम की उचित मात्रा पहुचंती है।

वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि रस के सेवन, फल खाने और अनाज युक्त भोजन में सीधा संबंध होता है। फलों के सेवन से शरीर में पोषक पदार्थो के साथ ही प्रचुर मात्रा में फाइबर भी पहुंचते हैं। डाक्टर कैरोल ओ नील ने बताया, 'सौ प्रतिशत शुद्ध रस बच्चों की वृद्धि और विकास में अहम भूमिका निभाता है।'

 

ताजे फलों के रस के फायदे

  • ताजा फलों के रस में क्षारीय तत्वों की अधिकता रहती है, इससे खून व शारीरिक कोशिकाओं में अम्लीय और क्षारीय तत्वों का संतुलन सामान्य होता है।
  • कच्चे फलों और हरी सब्जियों से निकाला गया रस आसानी से पच जाता है, और उसके लगभग सभी पोषक तत्व खून में सीधे तौर पर आसानी से घुल जाते हैं।
  • फलों के ताजे रस में कैल्शियम, पोटेशियम, सिलिकॉन जैसे तत्‍व होते हैं, ये शरीरिक कोशिकाओं में जैव रसायन और खनिज का सही संतुलन बनाये रखते हैं।
  • ताजे फलों के रस में पाये जाने वाले तत्‍वों से बूढ़ा होने की प्रक्रिया रुक जाती है। फलों और सब्जियों के नियमित सेवन से आप जवां बने रह सकते हैं।
  • ताजे रस में प्राकृतिक औषधियां, पौष्टिक तत्व और रोग निवारक तत्व भी होते हैं। जैसे - फ्रेंचबीन में इंसुलिन जैसा पदार्थ होता है। साथ ही कुछ रासायनिक तत्व जिनकी आवश्‍यकता पेंक्रियाज को इंसुलिन बनाने के लिए होती है।
  • अंगूर का रस पीने से कब्‍ज, शरीर में पानी की कमी, दिल का रोग, गठिया, टीबी, लीवर की बीमारी और एलर्जी में बहुत फायदा होता है।
  • संतरे का रस पीने से शरीर में एनर्जी आती है, इसमें विटामिन और मिनरल मिले होते हैं जो शरीर को ऊर्जावान बनाते हैं।

 

 

Read More Articles on Healthy Eating In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK