• shareIcon

जीवनशैली सही हो तो जिंदगी में जुड़ सकते हैं 14 साल

वज़न प्रबंधन By अन्‍य , दैनिक जागरण / Jul 13, 2010
जीवनशैली सही हो तो जिंदगी में जुड़ सकते हैं 14 साल

-व्यायाम, पीने में संयम, धूम्रपान से परहेज और फल-सब्जियां खाकर पाई जा सकती है लंबी उम्र
जमकर कीजिए व्यायाम, पीते हैं तो पीजिए लेकिन सीमित मात्रा में, खाने में फल-सब्जियां भरपूर लीजिए। इनकी बदौलत आपकी जिंदगी में 14 साल अतिरिक्त रूप से जुड़ सकत

व्यायाम, पीने में संयम, धूम्रपान से परहेज और फल-सब्जियां खाकर पाई जा सकती है लंबी उम्र

 

जमकर कीजिए व्यायाम, पीते हैं तो पीजिए लेकिन सीमित मात्रा में, खाने में फल-सब्जियां भरपूर लीजिए। इनकी बदौलत आपकी जिंदगी में 14 साल अतिरिक्त रूप से जुड़ सकते हैं। लेकिन एक शर्त है-धूम्रपान एकदम नहीं। फिर इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप मोटे हैं या गरीब।

 

यह दावा यूं ही नहीं है। इसके पीछे है एक दशक से भी अधिक समय तक 20 हजार लोगों पर किया गया अध्ययन। यह अध्ययन कैंब्रिज विश्र्वविद्यालय के वज्ञानिकों द्वारा किया गया है।

 

इस अध्ययन में 45 से लेकर 79 वर्ष के बीच के सभी समुदाय-वर्ग के लोगों को शामिल किया गया। लेकिन इस बात का ख्याल रखा गया कि इनमें कोई दिल या कैंसर का मरीज न हो। ये ऐसे लोग थे जो तत्कालीन दौर में धूम्रपान नहीं कर रहे थे, हफ्ते भर में 14 यूनिट (सात गिलास वाइन के बराबर) से ज्यादा अल्कोहल का सेवन नहीं करने वाले थे। प्रति दिन कम से कम पांच तरह की फल-सब्जियां खाते थे। लेकिन आलसी नहीं थे। आखिरी श्रेणी में वे लोग शामिल थे, जो ऐसे पेशे से जुड़े थे जिसमें ज्यादातर बैठना होता है, लेकिन आधे घंटे तक सामान्य व्यायाम किया करते थे। या फिर चलते-फिरते रहने वाले पेशे, मसलन-नर्स या प्लंबर थे। इन्हें अलग-अलग श्रेणी के आधार पर शून्य से चार तक अंक दिए गए।

 

अध्ययन के आधार पर पाया गया कि शून्य अंक पाने वाले 60 वर्षीय व्यक्ति में खराब स्वास्थ्य के चलते मौत का खतरा चार अंक पाने वाले 74 वर्षीय व्यक्ति के बराबर था।

 

अध्ययन से जुडे विशेषज्ञ प्रो. केटी खाव का कहना था- हम व्यक्तिगत तौर इस सच से वाकिफ हैं कि दीर्घायु होने के पीछे धूम्रपान न करना और व्यायाम बड़ा कारण है। लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है जब चार तथ्यों को एक साथ जोड़कर देखा गया है। हम इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि व्यायाम, संयमित ड्रिंक, फल-सब्जियों का सेवन और धूम्रपान से परहेज इंसान की जिंदगी में 14 साल और जोड़ सकता है। खाव के मुताबिक अध्ययन में यह भी पाया गया कि मोटापा का गरीबी-अमीरी से कोई संबंध नहीं है। यानी अगर आप अपनी जिंदगी में उपरोक्त चार तथ्यों को शामिल करते हैं तो आप गरीब हों या अमीर, मोटे हों या पतले इस बात की चिंता किए बिना 14 साल ज्यादा जी सकते हैं।

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK