• shareIcon

थकान से बचने के लिए इसके कारणों को जानें

एक्सरसाइज और फिटनेस By आहना भटनागर , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 21, 2012
थकान से बचने के लिए इसके कारणों को जानें

थकान आजकल हर किसी की जिंदगी का हिस्‍सा बन चुकी है। लेकिन, थकान से राहत पाना इतना भी मुश्किल नहीं। जानिए कुछ ऐसे उपाय जिन्‍हें अपनाकर आपकी थकान हो जाएगी छूमंतर।

आजकल की भागती दौड़ती ज़िन्दगी में वो चीज़ जो आपका साथ कभी नहीं छोड़ती, वो है थकान। ऐसी कई बातें हैं जो आप आमतौर पर अपनी रोज़मर्रा की जीवन शैली में नजरअदांज़ कर देतें हैं, वही आपकी इस परेशानी का मुख्य कारण हो सकतीं हैं।


हिन्दुस्तान टाइम्स में कार्यगत अनुपमा जोशी को अकसर थकान की शिकायत रहती है, वे दिन भर काम कर के जब कार्यालय से लौटतीं हैं तो घर का काम करने में उनको बहुत परेशानी होती है। ऐसे कईं और लोग भी हैं, जिनमें उम्र के साथ थकान के कारणों में भी बदलाव आता है। नींद ना आना, चक्कर आना, उपकाई आना, सर-दर्द रहना, जोड़ों में दर्द होना और ऐसी कई समस्याएँ हैं, जो थकान से जुड़ी हुई हैं।

आइये जानें थकान और तंद्रा के कुछ कारण जो आपको निरंतर बेचैन और व्याकुल रखते हैं। कुछ सामान्‍य से टिप्‍स अपनाकर आप इन कारणों से लड़ कर एक स्वस्थ और आनंदमय जीवन व्‍यतीत कर सकते हैं।

 

benefits of sleeping

 

कारण 1: नींद ना आना

कम नींद आना भले ही अपको सामान्य लगे, पर इसका एक नकारात्मक पहलू है, जो आपकी एकाग्रता और स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। व्यस्कों के लिये सामान्य रूप से 7 से 8 घंटे की नींद आवश्यक है।


सुझाव: नींद को प्राथमिकता दें और समय पर सोने और जागने का नियम बना लें। लैपटौप, मोबाईल फोन और आफिस की फाईलों को अपने बेडरूम से दूर रखें। अगर फिर भी आप बेचैनी मह्सूस करते हैं, तो डाक्टरी सलाह लें क्‍योंकि ऐसे में आपको इंसोमेनिया हो सकता है।

कारण 2: कम खान-पान

पर्याप्त मात्रा में आहार की पूर्ति ना होने पर भी थकान होती है। अधिक मात्रा में जंक फूड के सेवन से भी ऐसी समस्या हो सकती है। संतुलित आहार खाने से ब्लड शुगर सामान्‍य रहता है और इससे सुस्ती भी खतम हो जाती है। विमहांस  अस्पताल के साईकालेजिस्ट डाक्टर पुल्कित शर्मा के अनुसार, “90% महिलाओं में ईटिंग डिसार्डर देखा गया है और उनके खान-पान के तरीकों में गम्भीर गड़बड़ी होती है| खान-पान में इस प्रकार की लापरवाही अकसर थकान और बेचैनी को जन्म देती है इसलिये ख़ास तौर पर महिलाओं को खान-पान के तरीको पर ध्यान देना चाहिए।


सुझाव: सुबह का नाश्ता ज़रूर करे, प्रोटीन और कार्ब्स को अपने आहार का हिस्सा बनायें। उदाहण के तौर पर आप सुबह नाश्ते में टोस्ट के साथ अन्डे ले सकते हैं। ध्यान रखें के दिन भर आप कुछ न कुछ स्नैक्स खाते रहें।

 

tips of headache


कारण 3: एनीमिया

एनीमिया महिलाओं में थकान का एक प्रमुख कारण है। मासिक धर्म के दौरान होने वाली रक्त हानि से अकसर महिलाओं में आइरन की कमी हो जाती है जो उनके लिये हानिकारक होती है।

सुझाव: आयरन की कमी होने पर आयरन सप्लीमेंटस लेना और आयरन युक्त खाद्य-पदार्थ लेना ही लाभदायक है: जैसे लीन मीट, लिवर, शेल्-फिश, फलियां और दालें |

 

कारण 4: अवसाद (डिप्रेशन)

 

आमतौर पर डिप्रेशन को एक भावानात्मक या मानसिक विकार के रूप में देखा जाता है। पर डिप्रेशन शारीरिक समस्याओं का भी एक प्रमुख कारण बन सकता है। डाक्टर पुल्कित शर्मा के अनुसार, “अवसाद कई बड़ी समस्याओं का मुख्य कारण है जैसे लगातार अच्छा महसूस ना होना, भूख में परिवर्तन, नीन्द में परिवर्तन होना।
सुझाव: डिप्रेशन के इलाज के लिये अपने मनोचिकित्सक से सम्पर्क करें।

 

कारण 5: अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन

कैफीन की कुछ मात्रा सतर्कता और एकाग्रता के लिए अच्‍छी है, पर इसका अधिक मात्रा में सेवन कईं बीमारियों की जड़ बन सकता है। शोध के संकेतों से यह भी पता चलता है कि कैफीन की अधिक मात्रा कुछ लोगों में थकान का प्रमुख कारण बनी है।
सुझाव: धीरे-धीरे काफी, चाकलेट, चाय, साफ्ट-ड्रिंक्‍स का सेवन कम करें। एकदम से इसकी रोक पर भी आपको थकान महसूस हो सकती है।



अगर आपको थोड़ी बहुत थकान होती है, तो उसे किसी बिमारी से न जोड़ें। इसको आप व्यायाम से दूर कर सकते हैं। थकान दूर करने का ए‍क आसान तरीका है व्यायाम। यदि आप व्यायाम को अपनी जीवन शैली का हिस्सा बनाते है, तो आप एक स्वस्थ, तनावमुक्त और थकान रहित जीवन का आनंद उठा सकते हैं। डाक्टर पुल्कित शर्मा का कहना हैं कि “यदी आप अपनी थकान के कारणों की पहचान ठीक प्रकार से कर सकेंगे तो आप अपनी कईं स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से जल्द ही छुटकारा पा सकते हैं।

 

Read More Articles on Sports And Fitness In Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK