• shareIcon

फेवनोल्स से भरपूर डार्क चॉकलेट खाने से आप पा सकते हैं दर्द से राहत

स्वस्थ आहार By Nachiketa Sharma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 18, 2013
फेवनोल्स से भरपूर डार्क चॉकलेट खाने से आप पा सकते हैं दर्द से राहत

चॉकलेट खाने से न केवल मुंह का स्‍वाद बदलता है बल्कि यह बहुत अच्‍छा दर्द निवारक भी है, ज्‍यादा जानिए इस लेख में।

दवा से दर्द दूर करने के तमाम रास्ते हैं। इनसे दर्द तो चला जाता है, लेकिन कई साइड इफेक्ट भी होते हैं। अब न केवल आपको दर्द से छुटकारा मिलेगा, बल्कि मुंह का जायका भी बदल जाएगा। एक नए शोध में दावा किया गया है कि चॉकलेट खाने या एक ग्लास पानी पीने से दर्द में आराम मिलता है।

Eat Chocolate For Pain Relief शिकागो यूनिवर्सिटी की शोधकर्ता डॉ. पैगी मेसन ने बताया, शौकिया तौर पर चाकलेट खाना या महज पानी पीना प्राकृतिक दर्द निवारक के तौर पर काम करता है। पूर्व में किए शोधों से भी साबित हो चुका है खाने से दर्द में आराम मिलता है।

 

क्‍या कहता है शोध

जर्नल ऑफ न्यूरोसाइंस में प्रकाशित शोध के मुताबिक प्यास या भूख न लगने पर खान-पान दर्द-निवारक का काम करता है। शोध में चूहों को चॉकलेट, चीनी मिला हुआ या सादा पानी पीने के लिए दिया गया। लेकिन खाने-पीने के दौरान चूहों की शारीरिक प्रक्रियाएं धीमी रहीं। डा. मेसन ने बताया, इसका कैलरी से कुछ लेना-देना नहीं है, पानी में कोई कैलरी नहीं होती। सैक्रीन में भी शर्करा नहीं होती, लेकिन दोनों में चॉकलेट जैसा ही प्रभाव होता है।

वैज्ञानिकों का मानना है खाने-पीने से दर्द में तभी आराम मिल सकता है जब इसे आनंद लेने के लिए खाया जाए। बीमार चूहे द्वारा चॉकलेट खाने से कोई फर्क नहीं देखा गया। मस्तिष्क में मौजूद रेफे मैग्नस नामक हिस्सा खाने या पीने के दौरान दर्द को कम करने का काम करता है। डॉ. मेमन के अनुसार यह प्रभाव मनुष्यों में भी पाया जाता है। पूर्व के शोधों में साबित हो चुका है बच्चों को टीका लगाने पर दर्द होने के दौरान मीठा पेय पदार्थ देने पर उन्हें कम दर्द होता है।

 

चॉकलेट के अन्‍य फायदे

 

दिल के लिए

डार्क चॉकलेट आपको ढेरों लाभ पहुंचा सकती है। फेवनोल्स से भरपूर डार्क चॉकलेट का सेवन हृदय सम्बंधी रोग जैसे रक्तचाप कम होना और रक्त प्रवाह में कमी जैसे जोखिमों को कम कर सकता है। इसके अलावा यह रक्त वसा स्तर को भी सुधारता है। फेवनोल्स के यौगिक पदार्थ अंगूर, जामुन और सेब में भी पाए जाते हैं। यह स्वास्थ्य कोशिकाओं को ही नष्ट नहीं करते बल्कि सेलुलर डीएनए में भी परिवर्तन करते हैं और दिल की बीमारियों से कैंसर तक 60 अलग-अलग स्वास्थ्य दिक्कतों का कारण बनते हैं।

 

वजन घटाने के लिए

एक शोध के अनुसार सीमित मात्रा में डार्क चॉकलेट का सेवन आपके स्वास्थ्य पर ठीक वही असर डाल सकता है, जो असर व्यायाम करने से। इसमें कोशिकाओं का 'पावरहाउस' कहे जाने वाले 'माइटोकॉन्ड्रिया' को केंद्र मानकर काम किया गया था।

माइटोकॉन्ड्रिया का काम ऊर्जा उत्पन्न करना होता है। चॉकलेट में एक ऐसा वानस्पतिक यौगिक 'इपिकेटेचीन' होता है, जो मसल्स को उसी तरह क्रियाशील करता है जैसे कि व्यायाम या खेल से जुड़ी कोई गतिविधि करती है। उल्लेखनीय है कि एयरोबिक्स, जॉगिंग, रस्सी कूदने या साइकलिंग करने से मांसपेशियों की कोशिकाओं में माइटोकॉन्ड्रिया की संख्या में बढ़ोतरी होती है। ठीक यही काम इपिकेटेचीन भी करता है।

 

 

Read More Articles On Healthy Eating In Hindi

 

 

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK