• shareIcon

    ऑफिस के तनाव से बचने के लिए अपनायें ये उपाय

    आफिस स्‍वास्‍थ्‍य By Pooja Sinha , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Feb 18, 2011
    ऑफिस के तनाव से बचने के लिए अपनायें ये उपाय

    अगर आप ऑफिस में तनाव से पीडित हैं, तो तुरंत इसे दूर करने के उपाय करें, क्योंकि तनाव शरीर के प्रतिरोधी तंत्र को प्रभावित कर कई बीमारियों का कारण बन सकता है।

    ऑफिस में तनाव होना बहुत आम बात है, मौजूदा समय में तकनीक के लिए समय और एकाग्रता की मांग ने इस समस्‍या में बहुत इजाफा कर दिया है। कभी-कभी थोड़ा तनाव अच्‍छा होता है। इससे आपका तेजी से काम करते हैं। काम खत्‍म होने के बाद आपको संतुष्टि का अहसास भी होता है। लेकिन, तनाव अगर अधिक हो और लगातार बना रहे, तो आपको इस बारे में गंभीरता से सोचने की जरूरत होती है। ज्यादा समय तक तनाव झेलने से स्‍वास्‍थ्‍य पर बुरा असर पड़ने लगता है। इसके कारण दिल और डायबिटीज जैसी बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। तनाव को जितनी जल्‍दी हो तनाव को पहले ही चरण में रोक लेना बेहतर होता है, इसका बढ़ना अच्‍छी बात नहीं।

    stress in office in hindi


    शोध के अनुसार

    अमेरिका की ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी के नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज में प्रकाशित हुए शोध के अनुसार, अगर आप ऑफिस में तनाव से पीडित हैं, तो तुरंत इसे दूर करने के उपाय करें, क्योंकि शोध के अनुसार, यह तनाव शरीर के प्रतिरोधी तंत्र को प्रभावित कर कई बीमारियों का कारण बनता है।

    इस शोध के अनुसार, ऑफिस का तनाव शरीर के प्रतिरोधी तंत्र के जीन्स की गतिविधियों पर नकारात्मक प्रभाव डालता है, जिससे कोशिकाएं उन संक्रमणों से लड़ने के लिए भी सक्रिय हो जाती हैं, जो शरीर में मौजूद नहीं है और यह कई गंभीर रोगों की वजह बन सकता है। 

    ऑफिस में तनाव के कई कारण हो सकते हैं। कॉम्पिटीशन, मीटिंग, डेडलाइंस, परफॉर्मेंस जैसे बहुत सी चीजें आपको तनाव में डाल सकती हैं। अगर ऑफिस में आप इन चीजों से जूझ रहे हैं तो फिर यह दफ्तर और सहकर्मियों का भी दायित्‍व हे कि वे तनाव को दूर करने में सक्रिय भूमिका निभायें। लेकिन उससे पहले जरूरी है कि आप तनाव के मूल कारणों को समझने का प्रयास करें।

    तनाव के कारण


    ऑफिस में तनाव का मुख्‍य कारण तकनीक का बढ़ता प्रयोग है। इसके अलावा तनाव सहकर्मियों से जुड़ा हुआ भी हो सकता है। किसी कार्य की चुनौती या दबाव के बीच के अंतर को न समझने के कारण भी तनाव होने लगता है। कुछ मैनेजर को तेज रफ्तार से काम करने की आदत होती है। वह तेज रफ्तार से काम करना कुशलता की निशानी मानते है। लेकिन ऐसा व्‍यवहार उनके अधीन काम करने वाले कर्मचारियों पर भारी पड़ने लगता है। इस कारण से कुछ कर्मचारी अपने बॉस के साथ कदम से कदम मिलाकर नहीं चल पाते और तनाव का शिकार हो जाते हैं।

     

    strees in office in hindi

    ऑफिस तनाव से बचने के उपाय


    काम की योजना बनायें
    वॉल स्ट्रीट जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार, जो लोग रोज ऑफिस छोड़ने से पहले अपने काम का आकलन और अगले दिन की योजना बना लेते हैं वे अपेक्षाकृत अधिक स्वस्थ और तनावमुक्त रहते हैं।

    सकारात्‍मक होना
    यूनिवर्सिटी ऑफ मिनेसोटा की शोधकर्ता मेलिसा कॉर्न के अनुसार, ''सकारात्मक रवैया तनाव दूर करता है यह किसी से छिपा नहीं है, लेकिन आजकल के व्यस्त दिनचर्या में सकारात्मक होना ही मुश्किल है। ऐसे में समय का थोड़ा सा प्रबंधन भी आपके तनाव को कम करने में बड़ी भूमिका निभाता है।''

    नियमित व्यायाम करें
    शारीरिक श्रम करने से हमारे शरीर से बिना कारण से होने वाला तनाव कम किया जा सकता है और शरीर ठीक प्रकार से काम करता है। इसलिए तनाव को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है कि नियमित रूप से एक्सरसाइज करना।

    खुद से प्‍यार करें
    गुस्‍सा तब आता है जब आपको कोई बात बुरी लगती है। इससे बचने के लिए खुद से प्यार करें, खुद के बारे सकारात्‍मक रहें। निगेटिव सोच हमेशा रक्तचाप का स्तर बढ़ाने लगता है, और आपको गुस्सा आता है। ऐसी स्थिति में खुद को गले लगाएं। एक शोध के अनुसार, स्‍वयं का स्पर्श करने से ऑक्सीटिन और कुछ खास केमिकल का स्राव होता है, जिससे आप अपने बारे में अच्छा महसूस करते हैं।

    yog in hindi

    गहरी सांस लें
    वैज्ञानिकों के अनुसार गुस्से को नियंत्रित करने के लिए गहरी सांस लेना बहुत अच्‍छा उपाय है। इस प्रक्रिया से नर्वस सिस्टम सक्रिय होता है और हृदय गति धीमी और तनाव औऱ गुस्सा कम होने लगता है। इसीलिए जब भी तनाव महसूस हो तो तीन बार जोर से सांस ले और बाहर छोड़ें। 

    इस सबके अलावा एक शांत, सुव्यवस्थित कार्यशैली ही कुशलता का पैमाना होती है। जो व्यक्ति इसे समझ लेते हैं, वे जटिल कार्य भी आसानी से पूरा करते हैं।

    Read More Articles on Office Health in Hindi

    Image Courtesy : Getty Images

    Disclaimer

    इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK