• shareIcon

अपने पूर्व रिलेशनशिप के साथ आप कैसे संबंध रखें

सभी By अन्‍य , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Nov 28, 2012
अपने पूर्व रिलेशनशिप के साथ आप कैसे संबंध रखें

उसके साथ रहूं या उससे किनारा कर लूं। अगर आप भी अपने एक्‍स को लेकर इस दुविधा में हैं, तो पढि़ये यह लेख। शायद आपकी कोई मदद हो जाये।

apne poorva relationship ke sath aap kaise sambandh rakhe

काटें या फूल हम सभी का अपना अतीत होता है। जिसमें कुछ जख्म होते हैं और कुछ मीठी यादें। और जब हमारे अतीत के बारे में बात करते है, आप कैसे अपने पूर्व-रिश्ते को भूल सकते हैं।

पूर्व क्योकि ब्रेक-अप होने से भावनात्मक आघात के कारण और एक असफल रिश्ते की वेदना के कारण क्या आप सिर्फ उन्हे अपने जीवन से अलग कर निकाल देते है? या यह संभव हो एक पूर्व के साथ " सिर्फ दोस्त" का रिश्ता रखा जा सकता है? किस प्रकार पूर्व प्रेमी के साथ एक रिश्ता बना सकते है? विशेषज्ञों का कहना है कि अपने पूर्व के साथ सिर्फ दोस्त होना यह अच्छा हो सकता है, लेकिन सिर्फ यदि आपको लगता है कि रोमांटिक रिश्ते वापस नहीं आ आएगा। ऐसे बहुत से लोग जो अपना रिश्ता खत्म करते समय आखिरी कौशिश करते हुए अक्सर यह कहते हुए सुने जाते है कि अब हम अच्छे दोस्त बने रहेंगे ताकि वह रिश्ता खत्म कर रहे व्यक्ति के संपर्क में रह सके। इसके पीछे वजह यह है कि वह अपने साथी के बिना जीने के बारे में सोचने की कल्पना भी नही करते।

आटिमिज मनोवैज्ञानिक डॉ. रचना सिंह ने स्पष्ट रूप से कहा गया है कि वहाँ उसे सीधा नही लिया जा सकता है। "यह सब आपके अपने मन के विचारों पर निर्भर करता है. डॉ. सिंह कहते हैं, अपने मानसिक विचार और अपने पूर्व साथी के साथ डील करने की क्षमता के अतिरिक्त आपके पति या पत्नी क्या मामला आपके लिए महत्वपूर्ण है "।

यह आपके भावनात्मक स्वास्थ्य के लिए बहुत बुरा हो सकता है क्योंकि यह आपको एक उम्मीद थमाकर अधर में लटका देता है कि आपका खोया हुआ प्यार आपको फिर से मिल जाएगा और दूसरे रिश्ते की भी आशा होती हैं। यदि आप उस प्रकार के व्यक्ति है जो हमेशा अपने पू्र्व से प्यार करते रहेगे है तो यह आपके लिए बेहतर होगा कि अब हम अच्छे दोस्त बनकर रहेंगे जैसे रिश्ते खत्म करने वाले रास्ते से दूरी बनाकर रखे या उसे अलविदा कहिये।

[इसे भी पढ़े- गोपनीय संबंध]

पूर्व रिलेशनशिप को बना कर रखना कोई बुरी बात नही है लेकिन रिलेशनशिप आपकी वर्तमान रिलेशनशिप में किसी भी तरह हस्तक्षेप नही है कि आप नहीं हो यह निश्चित रूप से आपके वर्तमान रिलेशनशिप के लिए अच्छा नही होगा। पूर्व के साथ   "सिर्फ मित्र " बनकर रहने की जरुरत आपकी वर्तमान रिलेशनशिप में आपके रिश्ते को बर्बाद कर सकता है। यह आप तीनो के लिए लिए ही सही नही होगा इस तरह आप तीनो ही दुखी रहेंगे। यह रिश्ते को अस्थिरता की ओर ले जाता है और यहां तक कि रिश्ते पूरी तरह बर्बाद कर सकते हैं। मई 2009 के एक न्यूकासल, विश्वविद्यालय के काउंसिलिंग सेवा द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के अनुसार, यह जरूरी है कि अपने पूर्व साथी के साथ नियमित संपर्क बनाए रखने से आप बचे या उससे किनारा कर ले। यह सिर्फ दीर्घकालीन पीङा दे सकता है और इस पीङा से उभरने में समय लगता है। यदि आप फिर से संपर्क बनाने का फैसला लेते है, पहले दर्दनाक भावनाओं से उभरने के लिए अपने आप को समय दे।

[इसे भी पढ़े- प्यार, सेक्स और पूर्व-रिलेशनशिप]

बेशक, इसके कहने का अर्थ यह नही है कि आपको अपने पूर्व साथी के साथ बिल्कुल भी संपर्क में नहीं रखना चाहिए। ब्रेक अप के बाद घाव से उभरे और आप हैल्दी रिलेशनशिप की तरफ जा सकते है, और इसके बाद आप अपने पूर्व से किसी भी तरह नफरत नहीं करेंगे, अपने पूर्व के साथ दोस्त बन कर रहने के लिए सक्षम होना यह एक अद्भुत बात हो सकती है। तावीशी राय, 24, कहती है "मुझे इस आदमी के साथ ब्रेक-अप किये एक साल से अधिक हो गया है, लेकिन हाल ही हमने पाया कि हम जीवन साथी नही बन सकते और अलग हो गए इसलिए हमने फैसला किया कि हम अच्छे दोस्त की तरह रहेंगे अतः, हमने दोस्त बनने का फैसला किया। मेरा वर्तमान प्रेमी इन सब बातो समझता है ठीक उसी तरह मेरे पूर्व प्रेमी की वर्तमान प्रेमिका को भी कोई एतराज नहीं है। यहां तक की हम डबल डेट भी करते है, और इसमें मजा भी बहुत आता है। क्योंकि वह एक बहुत अच्छा इन्सान भी है "वह शरारती ढंग से मुस्कुराती हुई कहती हैं,"ओह! मेरे कहना का मतलब है कि यही वजह है कि मैं उसके साथ पहले डेट पर क्यों गई"

" एक संबंध के साथ कई पहलुओं जुङे हो सकते है। कभी कभी बच्चे भी इसमें शामिल हो जाते है। तो सबसे अच्छा तरीका है कि अपने पूर्व के साथ संबंध रखते समय यही बेहतर होगा कि आप अपने बातचीत के दायरे को बढ़ा करे और खुल कर बात करे। सच्चाई ही वो चीज है जो किसी भी तरह से विश्वास को डगमगाने नही देगी। "मार्गदर्शक डॉ. सिंह बाधा.

[इसे भी पढ़े- शादी से पहले के संबंध]

हालांकि, यह महत्वपूर्ण है, कि अपने पूर्व-प्रेंमी के साथ दोस्ती करने से पहले आप भावनात्मक रूप से आपके घाव भर गए हो। अगर यह आपकी तलाश के नजदीक है तो आपका साथी इसमे कोई मदद नही कर सकेगा। जब तक आप रिश्तो को अपना न ले तब तक अपने मित्रों और अपने परिवार की मदद ले। किसी भी अनसुलझे मुद्दों सुलझाएं और फिर उसके बाद "दोस्त बनने" का विचार करे । फिर से संपर्क स्थापित करने से पहले, इस रिश्ते को स्थापित करने के लिए अपने स्वयं के कारणों को फिर से एक बार समझे। पहले आप यह जानने कि कौशिश करे कि यदि क्या वह आपको सिर्फ "जाँच रहा हैं" या बदला लेने की कौशिश कर रहा है, या वोर, उन्हे वापस जीतने की कौशिश कर रहे है , शायद आपके साथ कुछ समय साथ बिता कर टाइम-पास करना चाहता है।

और जब आप दोस्त बनने का फैसला ले तो इस रिश्ते पर कायम रहे। लेकिन अपने नए रिश्ते में पुराने रिश्ते को न तलाशे।अगर ऐसा है तो यह छोङ दे और वापस घर चले जाएं। अपने पहले रिश्ते को अपनाना कठिन है आपको निश्चय करना होगा कि कैसे रिश्ते में संतुलन बना कर रखे और आपके कदम सुरक्षित रहे।

अगर कोई काम नही बन रहा और अपने साथी से बात करना आपको पागल बना रहा है, तो अपने कदमो को वही रोक ले।

 

Read More Article On- sex and relationship in hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK