त्वचा की स्थितियां

त्वचा की स्थितियां

त्वचा की स्थितियों से संबंधित थोड़ी सी भी गलत जानकारी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है।  ऐसे में बदलते मौसम में त्वचा का ख्याल रखना अपने आप में एक मुश्किल काम है जिसके बारे में सही जानकारी होनी जरूरी है। क्योंकि बदलते मौसम का सबसे ज्यादा असर अगर किसी पर पड़ता है तो वह है हमारी त्वाचा। मौसम की मार त्वचा को झेलनी पड़ती है जिससे मौसम के साथ त्वचा को भी विभिन्न परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है। ऐसे में अगर त्वचा को स्वस्थ रखने व स्कीन केयर से संबंधित पूरी जानकारी नहीं है तो ये कैटेगरी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। इस कैटेगरी में आपको स्कीन केयर से संबंधित सारे टिप्स मिलेंगे।

  • इन कारणों से बदलते हैं तिल और मस्से अपना आकार!

    इन कारणों से बदलते हैं तिल और मस्से अपना आकार!

    शरीर मे तिल और मस्सों का होना सामान्य सी बात है लेकिन अगर वे अपना आकार बदल रहें है तो संभल जाइयें। ये कैंसर होने का संकेत हो सकता है। इस बारे मे विस्तार से जानने के लिए ये पढ़े।

  • क्या सोराइसिस से बचाती है हल्दी

    क्या सोराइसिस से बचाती है हल्दी

    हम सभी जानते हैं कि हल्दी एक औषधि भी है, घर की रसोईं में मिलने वाला ये हर्ब स्वाद से लेकर सौंदर्य बढ़ाने के काम आता है, पर क्या आप जानते है कि ये त्वचा के गंभीर रोग सोराइसिस से भी बचाता है, विस्तार से जानने के लिए ये स्लाइडशो पढ़ें।

  • चेहरा लाल हो जाने की समस्या से कैसे बचें

    चेहरा लाल हो जाने की समस्या से कैसे बचें

    अकसर खुशी, गम या तेज धूप से चहरा लाल हो जाता है, जोकि आम बात है। लेकिन यदि ऐसा हर दिन होता है तो ये एक गंभीर विषय हो सकता है। ये एक प्रकार का त्वचा रोग रोजेशिया हो सकता है।

  • नर्व सिस्टम की घातक बीमारी है टिटेनस

    नर्व सिस्टम की घातक बीमारी है टिटेनस

    टिटेनस नर्व सिस्टम (स्नायुतंत्र) की एक घातक बीमारी है जो क्लास्ट्रइडियम टिटेन नामक बैक्टीरिया से फैलती है। जब ये बैक्टीरिया बढ़ने शुरू होते हैं तो एक टाक्सिन पैदा होता है, जिससे हमारी मांसपेशियां ऐंठने लगती हैं। जिनमें सांस लेने वाली मांसपेशियां भी शामिल है।

  • मरीज की स्थिति के आधार पर होता है एक्जिमा का निदान

    मरीज की स्थिति के आधार पर होता है एक्जिमा का निदान

    त्‍वचा कई प्रकार के संक्रमणों का सामना करती है, इन संक्रमणों में एक है एक्जिमा। इस लेख में जानिए इस बीमारी के निदान के बारे में।

  • शुष्‍क और पपड़ीदार त्‍वचा है एक्जिमा का सामान्‍य लक्षण

    शुष्‍क और पपड़ीदार त्‍वचा है एक्जिमा का सामान्‍य लक्षण

    एक्जिमा में संक्रमित त्वचा लाल और शुष्क हो जाती है। तथा वहां पर धब्बे पड़ जाते हैं। अगर त्वचा संक्रमित हो जाती है, तो यह गीली अथवा नम नजर आ सकती है। त्‍वचा में खुजली वाले स्थानों को खुरचने से जलन बढ़ जाती है

  • एक्जिमा क्या है और इसके क्या कारण हैं

    एक्जिमा क्या है और इसके क्या कारण हैं

    एक्जिमा त्‍वचा में होने वाला सामान्‍य रोग है। इसके पीछे एलर्जी व अन्‍य कई कारण हो सकते हैं। यह किसी चीज के संपर्क में आने के कारण हो सकता है। अथवा किसी वातावरण में अचानक आए बदलाव के कारण भी हो सकता है।

  • एक्जिमा से बचाव के लिए जरूरी है कि आप रखें अपनी त्‍वचा का खास खयाल

    एक्जिमा से बचाव के लिए जरूरी है कि आप रखें अपनी त्‍वचा का खास खयाल

    एक्जिमा से बचाव के लिए जरूरी है कि आप अपनी त्‍वचा की संवेदनशीलता को समझें। साथ ही आपके लिए अपनी त्‍वचा की सही देखभाल करनी भी जरूरी है। आपको कुछ खास पदार्थों से दूर रहने की हिदायत दी जाती है और साथ ही दवाओं के जरिये भी इसके लक्षणों को नियंत्रित किया जा सकता है।

  • टिनिटस में डाक्‍टर को कब सम्पर्क करें

    टिनिटस में डाक्‍टर को कब सम्पर्क करें

  • टिनिटस से चिकित्सा

    टिनिटस से चिकित्सा

त्वचा की स्थितियां पर कुल लेख :14
संबंधित जानकारी

त्वचा की स्थितियां

त्वचा की स्थितियों से संबंधित थोड़ी सी भी गलत जानकारी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है।  ऐसे में बदलते मौसम में त्वचा का ख्याल रखना अपने आप में एक मुश्किल काम है जिसके बारे में सही जानकारी होनी जरूरी है। क्योंकि बदलते मौसम का सबसे ज्यादा असर अगर किसी पर पड़ता है तो वह है हमारी त्वाचा। मौसम की मार त्वचा को झेलनी पड़ती है जिससे मौसम के साथ त्वचा को भी विभिन्न परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है। ऐसे में अगर त्वचा को स्वस्थ रखने व स्कीन केयर से संबंधित पूरी जानकारी नहीं है तो ये कैटेगरी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। इस कैटेगरी में आपको स्कीन केयर से संबंधित सारे टिप्स मिलेंगे।